करोड़पति कर्मचारियों के बचाव में उतरे TCS चेयरमैन एन चंद्रशेखरन, शेयरहोल्डर्स को दिया जवाब

करोड़पति कर्मचारियों के बचाव में उतरे TCS चेयरमैन एन चंद्रशेखरन, शेयरहोल्डर्स को दिया जवाब

Ashutosh Kumar Verma | Updated: 14 Jun 2019, 05:55:49 PM (IST) कॉर्पोरेट

  • एन चंद्रशेखरन ने टॉप मैनेजमेंट के सैलरी स्ट्रक्चर का बचाव किया।
  • कहा- यह कहना गलत की हम उन्हें अधिक सैलरी दे रहे।
  • टीसीएस सालाना बैठक में शेयरहोल्डर्स ने उठाया था सवाल।

नई दिल्ली। देश की दिग्गज आईटी कंपनी टाटा कंस्लटेंसी सर्विसेज ( TCS ) के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन ( n chandrashekharan ) ने टॉप मैनेजमेंट कर्मचारियों को मिलने वाले सैलरी स्ट्रक्चर को लेकर बचाव किया। गुरुवार को सालान बैठक में शेयरहोल्डर्स ने इस बात पर चिंता जताई थी कि कंपनी के कई टॉप कर्मचारियों को उच्च सैलरी के साथ-साथ कई तरह की सुविधाएं दी जाती हैं।

चंद्रशेखरन ने टॉप मैनेजमेंट का बचाव करते हुए कहा, "यह कहना सही नहीं होगा कि कंपनी अपने टॉप कर्मचारियों को अधिक सैलरी दे रही है। उन्हें उनकी क्षमता से अधिक भुगतान नहीं किया जा रहा। वास्तव में, हम यह कह सकते हैं कि हम चाहें तो उन्हों और अधिक सैलरी दे सकते हैं।"

यह भी पढ़ें - अडानी गैस में 30 फीसद हिस्सेदारी खरीदेगी फ्रांस की ये कंपनी, 7 फीसदी उछले कंपनी के शेयर्स

टीसीएस में हैं 100 से भी अधिक करोड़पति कर्मचारी

बता दें कि बीते दिन ही खबर आई थी कि टीसीएस कंपनी में कुल 100 ऐसे कर्मचारी हैं, जिन्हें हर साल 1 करोड़ रुपए से अधिक की सैलरी मिलती है। चंद्रशेखरन ने कहा कि बोर्ड और नामित कमेटी समय-समय पर इसपर विमर्श करती है कि अपने कर्मचारियों को कैसे रिवार्ड देना है। खासतौर पर उनके लिए जो कंपनी में लंबे समय से और बेहतर प्रदर्शन करते हैं। टीसीएस अपने कुल राजस्व का करीब 52 फीसदी हिस्सा अपने कर्मचारियों पर खर्च करता है। टीसीएस चेयरमैन ने इस बात पर भी सफाई दी की आखिर क्यों कुछ कर्मचारियों को उनके रिटायरमेंट की उम्र पूरी होने के बाद भी कंपनी के साथ जुड़े रहने का अवसर मिला।

सालान बैठक में कंपनी ने यह भी जानकारी दी कि उसे वित्त वर्ष 2019 में अपने कुल रेवेन्यू से भी अधिक कॉन्ट्रैक्ट हासिल करने में कामयाबी मिली है। कंपनी को पिछले वित्त वर्ष में कुल 21.9 अरब डॉलर का कॉन्ट्रैक्ट मिला है। कंपनी ने अपने कर्मचारियों को रिटेन करने के लिए विशेष तौर पर निवेश किया है।

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार, फाइनेंस, इंडस्‍ट्री, अर्थव्‍यवस्‍था, कॉर्पोरेट, म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें Patrika Hindi News App.

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned