सोशल मीडिया पर अपनी तस्वीर को परफेक्ट दिखाने के लिए 90 फीसदी लड़कियां करती है यह काम

  • स्टडी में पता चला है कि युवतियां अपनी तस्वीरों को ऑनलाइन शेयर करते समय काफी सजग और चिंतित रहती हैं।
  • स्टडी के अनुसार, कोविड-19 महामारी के दौरान यह प्रवृत्ति और भी बढ़ गई है।

By: Mahendra Yadav

Published: 10 Mar 2021, 08:01 AM IST

आजकल लोग स्मार्टफोन खरीदते समय उसका कैमरा जरूर देखते हैं कि कितने मेगापिक्सल का है और उससे तस्वीरें कितनी साफ और अच्छी आती हैं। लोग स्मार्टफोन से तस्वीरें खींचते हैं और सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हैं। युवाओं में आजकल सेल्फी का बहुत चलन है, खासतौर से युवतियों को। वे तस्वीरें खींचकर सोशल मीडिया पर पोस्ट करती हैं। मोबाइल के कैमरे में आजकल ऐसे टूल्स आते हैं, जिनसे यूजर्स अपनी तस्वीरों को एडिट कर सकते हैं। अब एक स्टडी में इस बात का पता चला है कि 90 फीसदी लड़कियां अपनी फोटो ऑनलाइन पोस्ट करने से पहले उसे एडिट करती हैं। वे अपनी तस्वीरों को बेहतर दिखाने के लिए फिल्टर का उपयोग करती हैं।

कोरोना काल में बढ़ी प्रवृति
स्टडी में पता चला है कि युवतियां अपनी तस्वीरों को ऑनलाइन शेयर करते समय काफी सजग और चिंतित रहती हैं। वे तस्वीर शेयर करने से पहले उसमें बहुत सी चीजों को एडिट कर परफेक्ट बनाने की कोशिश करती हैं। स्टडी के अनुसार, कोविड-19 महामारी के दौरान यह प्रवृत्ति और भी बढ़ गई है। युवतियां अपनी तस्वीर को परफेक्ट दिखाने के लिए उसमें बहुत सी चीजें एडिट करती हैं।

फोटो में इन चीजों को करती हैं एडिट
स्टडी में बताया गया है कि लड़कियां अपने स्किन टोन को हटाने के लिए फिल्टर या एडिट का इस्तेमाल करती हैं। वे तस्वीर को एडिट करें अपने जबड़े या नाक को अच्छी तरह से शेप देती हैं। यही नहीं, अगर उन्हें फोटो में अपना वजन अधिक लगता है तो वे फोटो को इस प्रकार से एडिट करती हैं कि उनका वजन कम दिखे। इसके साथ ही वे अपनी स्किन और चमकाने के साथ ही अपने दांतों को लेकर भी सजग रहतीं है और इसके लिए विभिन्न फिल्टर का इस्तेमाल करती हैं।

girls_photo_edit.png

इंस्टाग्राम पर रोजाना पोस्ट होती हैं 10 करोड फोटो
यूनिवर्सिटी ऑफ लंदन के रोसलिंड गिल फ्रॉम सिटी ने एक बयान में बताया कि अकेले इंस्टाग्राम पर हर दिन लगभग 10 करोड़ फोटो पोस्ट की जाती हैं। साथ ही बयान में यह भी बताया कि जब लड़कियां अपनी फोटो को एडिट कर पोस्ट करती हैं और उन्हें लाइक मिलते हैं तो वे बड़ी खुश होती हैं। इस स्टडी में ब्रिटेन की लगभग 200 युवा महिलाएं और अन्य लोग शामिल थे।

कॉस्मेटिक प्रक्रियाओं के लिए देखती हैं विज्ञापन
अध्ययन में शामिल युवा महिलाओं ने नियमित रूप से कॉस्मेटिक प्रक्रियाओं के लिए विज्ञापन या पुश नोटिफिकेशन देखने की बात कही और साथ ही माना कि वह विशेष रूप से दांतों को सफेद करने और होंठों के साथ ही स्तन और नाक इत्यादि की शेप को अपने हिसाब से कम और अधिक करने का कार्य करती हैं।

Mahendra Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned