युवा प्रतिभा: भारतीय मूल की किशोरी ने बनाया सोशल डिस्टेंसिंग के लिए आगाह करने वाला सेंसर

अमेरिका में भारतीय मूल की लड़की ने बनाया सोशल डिस्टेंसिंग डिवाइस, हो रही जमकर तारीफ, यह सेंसर किसी व्यक्ति से ६ फीट की दूरी का फासला पार करते हुए एक्टिव हो जाते हैं, कोरोना से बचाव में आएगा काम

By: Mohmad Imran

Published: 21 Nov 2020, 06:13 PM IST

भारतीय मूल की 15 वर्षीय अमरीकी छात्रा नेहरा शुक्ला ने कोरोना महामारी के दौरान 6 फीट की दूरी को लगातार बनाए रखने के लिए एक खास 'सोशल डिस्टेंसिंग ऐप' (social distancing app) बनाया है। नेहा ने कोरोना लॉकडाउन (corona lock down) के दौरान 'गल्र्स विद इम्पैक्ट' इनोवेटिव प्रोग्राम के तहत यह ऐप-डिवाइस बनाया है। अमरीका में कोरोना से हुई लाखों लोगों की मौत और दुनिया में सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमितों ने नेहा को कोरोना वायरस के प्रति लापरवाही बरतने वाले लोगों की जान बचाने के लिए इस डिवाइस को बनाने की प्रेरणा मिली।

युवा प्रतिभा: भारतीय मूल की किशोरी ने बनाया सोशल डिस्टेंसिंग के लिए आगाह करने वाला सेंसर

ऐसे करता है काम
नेहा का यह ऐप आधारित डिवाइस अल्ट्रासोनिक सेंसर और माइक्रोप्रोसेसर का उपयोग कर आस-पास चल रहे या मौजूद व्यक्ति की यूजर से दूरी को लगातार निगरानी में रखता है। जैसे ही कोई व्यक्ति 6 फीट की दूरी के दायरे को तोड़कर यूजर के करीब आता है, तो डिवाइस में वाइब्रेशन यानी कंपन और बीप की आवाज होने लगती है। इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी में रुचि रखने वाली नेहा ने एक टोपी के आकार में यह सोशल डिस्टेंसिंग डिवाइस बनाया है। जब भी कोई व्यक्ति टोपी के छह फीट के दायरे से ज्यादा करीब आता है तो टोपी वाइब्रेट करने लगती है आवाज निकालती है। यह एक माइक्रोप्रोसेसर आधारित उपकरण है जो एक टोपी में एम्बेडेड है।

Mohmad Imran
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned