फिर एक्टिव हुए चाइनीज हैकर्स, ऐसे कर रहे अटैक, Microsoft ने यूजर्स को किया आगाह

  • microsoft ने अपने ग्राहकों को एक नए सोफिस्केटेड नेशन-स्टेट साइबर हमले के खिलाफ आगाह किया है, जिसका मूल चीन में है।
  • पिछले 12 महीनों में यह आठवीं बार है जब माइक्रोसॉफ्ट ने महत्वपूर्ण संस्थानों को निशाना बनाने वाले नेशन-स्टेट ग्रुप्स का खुलासा किया है।

By: Mahendra Yadav

Published: 03 Mar 2021, 03:24 PM IST

टेक दिग्गज microsoft ने अपने ग्राहकों को एक नए सोफिस्केटेड नेशन-स्टेट साइबर हमले के खिलाफ आगाह किया है, जिसका मूल चीन में है। ये चीनी हैकर्स मुख्य रूप से दिगग्ज टेक कंपनी के ‘एक्सचेंज सर्वर’ सॉफ्टवेयर को निशाना बना रहा है। इसे ‘हाफनियम’ कहा जा रहा है। यह चीन से संचालित होता है और एक्सफिलट्रेटिंग की सूचना के लिए अमरीका में एनजीओ, संक्रामक रोग शोधकर्ताओं, कानून फर्मों, उच्च शिक्षा संस्थानों, रक्षा ठेकेदारों, पॉलिसी थिंक टैंकों पर हमला कर रहा है।

कंपनी ने जारी किए सिक्योरिटी अपडेट
माइक्रोसॉफ्ट के कॉर्पोरेट वाइस प्रेसीडेंट (कस्टमर सिक्योरिटी, ट्रस्ट) टॉम बर्ट ने कहा कि जबकि हाफनियम चीन से है, यह मुख्य रूप से अमरीका में लीज्ड वर्चुअल प्राइवेट सर्वर (वीपीएस) से अपने ऑपरेशन का संचालन करता है। एक्सचेंज सर्वर चलाने वाले ग्राहकों की सुरक्षा के लिए कंपनी ने सुरक्षा अपडेट जारी किए हैं, और सभी एक्सचेंज सर्वर ग्राहकों को इन अपडेट को तुरंत लागू करने के लिए प्रोत्साहित करती है।

microsoft.png

12 महीनों में आठवीं बार किया खुलासा
पिछले 12 महीनों में यह आठवीं बार है जब माइक्रोसॉफ्ट ने सार्वजनिक रूप से सिविल सोसाइटी के लिए महत्वपूर्ण संस्थानों को निशाना बनाने वाले नेशन-स्टेट ग्रुप्स का खुलासा किया है। बर्ट ने कहा कि हमने जो अन्य गतिविधि का खुलासा किया है, उसमें कोविड-19 से लड़ने वाले स्वास्थ्य संगठनों, राजनीतिक अभियानों और 2020 के चुनावों में शामिल अन्य, और प्रमुख नीति निर्धारक सम्मेलनों में शामिल होने वाले हाईप्रोफाइल लोगों को निशाना बनाए जाने के बारे में है।

एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन की सुविधा मिलेगी
ग्राहकों की सुरक्षा और अनुपालन जरूरतों को पूरा करने के लिए माइक्रोसॉफ्ट टीमें जल्द ही वन-टू-वन माइक्रोसॉफ्ट टीमों के लिए एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन (कूटलेखन) में मदद करेगी। कंपनी ने हाल ही यह घोषणा की।
कंपनी के इस कदम के साथ ही संवेदनशील ऑनलाइन वार्तालापों के संचालन के लिए एक अतिरिक्त विकल्प उपलब्ध हो सकेगा। इसे लेकर आईटी एडमिन के पास पूर्ण स्वतंत्रता होगी और वही इस बात को निर्धारित कर सकेंगे कि संगठन में कौन एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड कॉल का उपयोग कर सकते हैं। फिलहाल माइक्रोसॉफ्ट टीम्स मीटिंग के लिए एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन का समर्थन नहीं करती है।

Show More
Mahendra Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned