नासा के ऑसिरिस एक्सप्लोरर से क्षुद्रग्रह का सैंपल हो रहा लीक, वैज्ञानिकों की चिंता बढ़ी

हाल ही एक क्षुद्रग्रह पर उतरकर सैंपल लेने वाले नासा के ऑसिरिस एस्ट्राएड एक्सप्लोरर से क्षुद्रग्रह की सतह से लिए गए सैंपल के लीकेज ने वैज्ञानिकों को चिंता में डाल दिया है

By: Mohmad Imran

Updated: 25 Oct 2020, 01:46 PM IST

नासा के ओएसआईआरआईएस-आरईएक्स क्षुद्रग्रह एक्सप्लोरर (NASA's OSIRIS-REx spacecraft) द्वारा हाल ही भेजे गए चित्रों ने पुष्टि की है कि अंतरिक्ष यान का यह सैंपल कलेक्टर धीरे-धीरे क्षुद्रग्रह बेन्नू (Aeestroid Bennu) की सतह से इकठ्ठा की गई सामग्री को लीक कर रहा है। गौरतलब है कि एक्सप्लोरर ने 20 अक्टूबर को यह सैंपल क्षुद्रग्रह से कलेक्ट किए थे। नासा के वैज्ञानिकों का कहना है कि जब ऑसिरिस एस्ट्राएड एक्सप्लोरर के टच-एंड-गो सैंपल एक्विजिशन मैकेनिज्म (टीएजीएसएएम या TAGSAM) हेड ने बेन्नू को स्पर्श किया तो इसका एक काम यह भी था कि यह क्षुद्रग्रह की सतह पर मौजूद मिट्टी और छोटी चट्टानों को हिलाने के लिए लगातार नाइट्रोजन गैस का विस्फोट (a blast of nitrogen gas) करता रहे ताकि धूलकणो और चट्टान के टुकड़ों को एकत्र कर सके। इस ऑटोनोमस ऑपरेशन के पूरा होने के बाद यह अंतरिक्ष यान क्षुद्रग्रह से एक सुरक्षित दूरी पर चला गया था। अब नासा के वैज्ञानिक इस बात की जांच कर रहे हैं कि क्या यह अभ्यास सफल रहा? यह सुनिश्चित करने के लिए वे यान में लगे कैमरों से ऑपरेशन के दौरान लिए गए चित्र देख रहे हैं।

नासा के ऑसिरिस एक्सप्लोरर से क्षुद्रग्रह का सैंपल हो रहा लीक, वैज्ञानिकों की चिंता बढ़ी

लीक हो रहा है क्षुद्रग्रह का नमूना
लेकिन वैज्ञानिकों को यान से प्राप्त चित्रों की जांच के दौरान अच्छी और बुरी दोनों की खबरें मिलीं। अच्छी खबर यह थी है कि टैगसैम हेड ने क्षुद्रग्रह की सतह के सटीक कोण पर विस्फोट किया और अपने काम को बखूबी अंजाम दिया। यान ने क्षुद्रग्रह की सतह से उड़ी धूल और चट्टानों के टुकड़ों की सामग्री को कई सेंटीमीटर की गहराई तक एकत्रित करने में सफलता पाई। लेकिन इस बीच बुरी खबर यह है कि इस मिशन की सफलता के लिए क्षुद्रग्रह से कम से कम ६० ग्राम जितनी पर्याप्त सामग्री एकत्र करनी थी। लेकिन पता चला है कि यान के कुछ हिस्सों के जाम होने से इसके माइलर फ्लैप खुल गए। जिस वजह से एकत्र किए गए नमूने और मिट्टी धीरे-धीरे बाहर लीक हो रही है।

नासा के ऑसिरिस एक्सप्लोरर से क्षुद्रग्रह का सैंपल हो रहा लीक, वैज्ञानिकों की चिंता बढ़ी

मिशन में बदलाव की तैयारी
इस सैंपल को बहुत ज्यादा मात्रा में खोने से बचाने के लिए अब मिशन टीम के वैज्ञानिकों ने अपने निर्धारित मिशन की अवधि में परिवर्तन करने का निर्णय लिया है। शुक्रवार को सैंपल मास मेजरमेंट गतिविधि और बर्न करेक्शन को अंजाम देने की बजाय टीम अब यान को जल्द से जल्द पृथ्वी पर वापस लाने के लिए सैंपल रिटर्न कैप्सूल (एसआरसी) पर सैंपल को सुरक्षित रखने के लिए स्थानांतरित करने पर ध्यान केंद्रित कर रही है। हालांकि इस दौरान अच्छी खबर यह भी है कि ऑसिरिस एस्ट्राएड एक्सप्लोरर पूरी तरह से सुरक्षित है और लगातार अपनाप काम कर रहा है।

Mohmad Imran
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned