इस हाइब्रिड क्वाडकॉप्टर ने 10 घंटे लगातार उड़कर बनाया विश्व रिकॉर्ड

आमतौर पर बैट्री से चलने वाले अत्याधुनिक ड्रोन भी 30 मिनट से ज्यादा हवा में नहीं उड़ सकते, लेकिन इस क्वॉडकॉप्टर ने इस भ्रम को भी तोड़ दिया है

By: Mohmad Imran

Published: 30 Oct 2020, 01:06 PM IST

ड्रोन आज सिर्फ मनोरंजन का साधन भर नहीं रह गए हैं बल्कि समय बीतने के साथ इसने अपनी उपयोगिता भी साबित की है। यही वजह है कि अब इंजीनियर्स ज्यादा कारगर और लंबे समय तक हवा में उड़ सकने वाले ड्रोन बना रहे हैं। ऐसे ड्रोन जो अपनी क्षमता से अधिक भार उठाने में सक्षम हों और आपातकालीन परिस्थितियों में जरूरी डिलीवरी पहुंचा सकें। लेकिन इन ड्रोंस की बैट्री का ज्यादा लंबे समय तक न टिक पाना एक बड़ी परेशानी है। कुछ अपवादों के साथ, बैट्री-इलेक्ट्रिक मल्टीक्रॉप्टर ड्रोन भी आमतौर पर करीब 30 मिनट से ज्यादा समय तक हवा में नहीं उड़ पाते। लेकिन हाल ही बैट्री-इलेक्ट्रिक मल्टीक्रॉप्टर ड्रोन के एक हाइब्रिड संस्करण ने अब तक के सभी रिकार्ड्स को तोड़ते हुए 10 घंटे लगातार हवा में उड़ान भरकर सबको हैरान कर दिया है।

स्पेनिश स्टार्टअप का कमाल
यह हाइब्रिड मल्टीक्रॉप्टर ड्रोन एक स्पेनिश स्टार्टअप 'क्वांटरनियम' (Spanish start-up Quaternium) का बनाया नया 'हाइब्रिक्स 2.1' (the HYBRiX 2.1 quadcopter) ड्रोन है। इस क्वाडकॉप्टर में एक गैसोलीन बैटरी आधारित इलेक्ट्रिक हाइब्रिड ड्राइव सिस्टम है जो कथित रूप से इस क्वाडकॉप्टर को फ्यूल भरने पर करीब 4 घंटे तक उड़ान भरने में सक्षम बनाता है। यह क्रोम्ड-आउट विस्टा ड्रोन 360 डिग्री पर 8K क्वालिटी में वीडियो और 40 मेगापिक्सल तक फोटो खींचने में सक्षम है। इतना ही नहीं यह अपने कैमरे से आसपास की जगह के मैप को 360 डिग्री एंगल में 8K वीडियो भी कैप्चर कर सकता है।

इस हाइब्रिड क्वाडकॉप्टर ने 10 घंटे लगातार उड़कर बनाया विश्व रिकॉर्ड

हर बार बनाया नया रिकॉर्ड
साल 2017 में सबसे पहले इस 'हाइब्रिक्स 2.1' ड्रोन के 2.1 वर्शन ने चार घंटे 40 मिनट की उड़ान भरकर विश्व रिकॉर्ड (World Record) बनाया। इसके बाद इस साल फरवरी में इसके 2.1 मॉडल के एक प्रायोगिक संस्करण (experimental version) ने इस रिकॉर्ड को भी ध्वस्त कर दिया और 8 घंटे 10 मिनट तक हवा में उड़कर नया विश्व रिकॉर्ड बनाया और एक बार फिर से लोगों को चौंका दिया। लेकिन इसी ड्रोन के 'हाइब्रिक्स 2.1' वर्शन ने हाल ही 10 घंटे 14 मिनट की उड़ान भरकर अब तक की सभी उड़ानों को पीछे छोड़ दिया है और फिर से रिकॉर्ड तोड़ दिया है।

ड्रोन इसलिए है इतना दमदार
यह ड्रोन अपनी कई हाइब्रिड तकनीकों की वजह से इतना दमदार है। जैसे सबसे उल्लेखनीय है इसका 16 लीटर का ईंधन टैंक जो ठीक इसकी बॉडी के नीचे बनाया गया है। साथ ही इस ड्रोन के 2 स्ट्रोक इंजन में ईंधन-इंजेक्शन प्रणाली को भी अपग्रेड किया गया है। स्पेनिश कंपनी लोवेहेइजऱ द्वारा निर्मित यह इस ड्रोन का इलेक्ट्रिक हाइब्रिड ड्राइव सिस्टम कथित रूप से इतना छोटा है कि ड्रोन में इसे लगाने के बाद भी इसके वजन या आकार में लगभग कोई बदलाव नहीं हुआ है न ही इसके प्रदर्शन पर असर पड़ा है। इसके ऑफ-द-सेल्फ (off-the-shelf) डिजाइन के कारण 'हाइब्रिक्स 2.1' का वजन लगभग 13 किलोग्राम है। यह 10 किलोग्राम तक कार्गो या सामान ढो सकता है और इसकी 50 किमी (31 मील प्रति घंटे) की जबरदस्त रफ्तार इसे और भी खास बनाती है। इसकी टॉप स्पीड अभी 80 किमी प्रति घंटा (50 मील प्रति घंटा) है।

Show More
Mohmad Imran
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned