यूपी में पटरी पर लौटती दिखी जिंदगी, जनता को कई बंदिशों से मिली आजादी

-ट्रेन के बाद अब बस और टैक्सी ने पकड़ी रफ्तार

-सरकारी दफ्तरों में 100 फीसद कर्मचारी तीन पालियों में रहेंगे उपस्थित

-बाजार सुबह से रात नौ बजे तक खुले

By: Karishma Lalwani

Updated: 01 Jun 2020, 05:09 PM IST

लखनऊ. कोरोना संकट (Covid-19) के बीच लंबे समय से लॉकडाउन की बंदिशों में रहे लोगों ने सोमवार से चैन की सांस ली है। लॉकडाउन के करीब 70 दिनों बाद थमी हुई जिंदगी ने रफ्तार पकड़ी। सोमवार को राज्य सरकार की गाइडलाइंस के तहत बंद पड़े सभी कारोबार शुरू किए गए। सुनसान सड़कों पर फिर से चहल कदमी नजर आई। सड़कों पर गाड़ियां चलती नजर आईं। रेहड़ी, फल, खिलौने, आइसक्रीम वाले पहले के मुकाबले ज्यादा दुकानें सजाए दिखें। सैलून और ब्यूटी पार्लर में डेढ़ महीने बाद काम शुरू हुआ। रोडवेज बस स्टैंड से अधिकांश मार्गों की बसें चली। इसी तरह 200 ट्रेनों का भी संचालन शुरू हुआ। यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग के बाद ही उन्हें सफर करने की अमुमति मिली।

बस और टैक्सी ने पकड़ी रफ्तार

अनलॉक-1 पर जारी दिशा निर्देश के बाद सोमवार से रोडवेज बस सेवा और टैक्सी शुरू हो गई है। राजधानी लखनऊ में कैसरबाग बस अड्डे से सुबह साढ़े आठ बजे पहली बस दिल्ली बार्डर कौशांबी तक के लिए रवाना की गई। पहली साधारण बस संख्या यूपी 33 at 5451 में 45 सवारी लेकर रवाना हुई। बस में सवार होने से पहले यात्रियों को सैनिटाइज किया गया। इसी तरह चारबाग और आलमबाग बस टर्मिनल से भी बसों का संचालन शुरू कराया गया। यहां भी सरकार की गाइडलाइंस का पालन करते हुए सभी यात्रियों की चेकिंग की गई। बिना मास्क बस में किसी यात्री को एंट्री देने से मना कर दिया। सबसे ज्यादा बसें बहराइच और बरेली के लिए चलीं। वहीं रोडवेज बस में आनलाइन टिकटों की बिक्री एक दो दिन में शुरू हो जाएगी।

सरकारी दफ्तरों में 100 फीसदी कर्मचारियों के साथ काम शुरू

राज्य सरकार से मिले दिशा निर्देशों के बाद सरकारी दफ्तरों में काम शुरू हो गया। कार्यालय में भीड़ से बचने के लिए कर्मचारियों को तीन पालियों में बुलाया गया। सुबह 9 से शाम 5 बजे, सुबह 10 से शाम 6 बजे और सुबह 11 बजे शाम 7 बजे कर्मचारियों के आने-जाने का समय तय किया गया है। कर्मचारियों के लिए फेस मास्क, फेस कवर और सोशल डिस्टेंसिंग नियमों का पालन जरूरी है।

बाजारों में दिखी रौनक

लंबे समय बाद दुकानदारों ने दुकान के शटर उपर किए और पूजा करने के बाद ग्राहकी शुरू की। वैसे किराना स्टोर पहले से खुले थे पर कपड़े और बाकी दुकानों पर लॉकडाउन से ताला लगा था। लखनऊ में लेफ्ट-राइट फॉर्मूले के तहत सबसे व्यस्त बाजार यानी अमीनाबाद की दुकानों को सोमवार से खोल दिया गया है। इसी तरह शहर के बाकी क्षेत्रों में भी भी तमाम दुकानें खोल दी गईं। हालांकि, पहले दिन उतनी भीड़ नजर नहीं आई लेकिन डेढ़ महीने बाद काम पर लौटे दुकानदारों के चेहरे पर खुशी दिखी। दुकानों को खोलने का आदेश सुबह 9 बजे से रात 9 बजे तक है।

सराफा, चिकन, मोबाइल और इलेक्ट्रानिक दुकानों में दिखे ग्राहक

शहर का सराफा कारोबार और चौक बाजार में ग्राहकों की आमद दिखी। यही हाल श्रीराम टावर की मोबाइल दुकानों का रहा। यहां भी ग्राहक नजर आए। इलेक्ट्रॉनिक बाजार में भी रौनक रही। अलीगंज, इंदिरानगर, भूतनाथ, गोमतीनगर, पत्रकारपुरम आदि क्षेत्रों में ग्राहक अपनी जरूरतों का सामान खरीदते देखे गए। रिक्शे और आटो पर लोग मास्क लगाकर बैठ रहे हैं।

70 दिन बाद रनवे से भरी उड़ान

ताजनगरी में करीब 70 दिन बाद एयरलाइंस की घरेलू विमान सेवा शुरू हो गई। सोमवार को जयपुर से आगरा के लिए फ्लाइट सेवा शुरू हो गई। आगरा एयरपोर्ट पर सुबह 10 बजे जयपुर के लिए विमान रवाना हुआ। जयपुर से आगरा चार व आगरा से जयपुर 8 यात्री रवाना हुए।

ये भी पढ़ें: कोरोना वायरस साइड इफेक्ट: दिमाग के साथ-साथ सूंघने की क्षमता होती है प्रभावित

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned