script मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सैयद मोदी नेशनल इंटरनेशनल बैडमिंटन चैंपियनशिप 2023 का किया शुभारंभ | Chief Minister Yogi Adityanath inaugurated the event. | Patrika News

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सैयद मोदी नेशनल इंटरनेशनल बैडमिंटन चैंपियनशिप 2023 का किया शुभारंभ

locationलखनऊPublished: Nov 28, 2023 07:08:54 pm

Submitted by:

Ritesh Singh

खेल गतिविधियों में आई तेजी के चलते पहले की तुलना में कई गुना अधिक पदक प्राप्त कर रहे हमारे खिलाड़ी: सीएम योगी।

2014 के बाद खेल गतिविधियों ने पकड़ी रफ्तार
2014 के बाद खेल गतिविधियों ने पकड़ी रफ्तार
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश में खेलों की गतिविधियों ने एक नई तेजी पकड़ी है। स्वाभाविक रूप से देश के अंदर खेलों की गतिविधियां आगे बढ़ेंगी तो प्रदेश उससे खुद को कैसे अलग कर सकता है। एशियन गेम्स में ये चमत्कार हम सबने देखा है। देश की 16 प्रतिशत आबादी उत्तर प्रदेश में निवास करती है, लेकिन जब मेडल्स की बात आती है तो एशियन गेम्स में 25 प्रतिशत मेडल्स उत्तर प्रदेश के खिलाड़ियों ने जीते हैं।
यह भी पढ़ें

इंडियन रेलवे की ट्रेन में युवती ने किया का अश्लील डांस, वायरल हुआ वीडियो


वर्ल्ड चैंपियनशिप की यह बैडमिंटन प्रतियोगिता न केवल खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करेगी, बल्कि उत्तर प्रदेश के खिलाड़ियों के लिए भी एक मंच प्रदान कर रही है। यह बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को सैयद मोदी इंडिया इंटरनेशनल बैडमिंटन टूर्नामेंट 2023 का शुभारंभ करते हुए कहीं। शीतकालीन सत्र के बीच में प्रतियोगिता के उद्घाटन के लिए पहुंचे सीएम योगी ने सभी खिलाड़ियों का परिचय प्राप्त करने के साथ ही बैडमिंटन खेलकर प्रतियोगिता का उद्घाटन किया। इस दौरान उनके समक्ष विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया गया। उत्तर प्रदेश बैडमिंटन संघ के अध्यक्ष विराज सागर दास ने मुख्यमंत्री को स्मृति चिन्ह भेंट किया।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सैयद मोदी नेशनल इंटरनेशनल बैडमिंटन चैंपियनशिप 2023 का किया शुभारंभ2014 के बाद खेल गतिविधियों ने पकड़ी रफ्तार
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भारत समेत उत्तर प्रदेश में खेल गतिविधियों में आई तेजी का जिक्र करते हुए कहा कि हम सब जानते हैं कि 2014 के बाद प्रधानमंत्री मोदी जी की पहल पर नए भारत में खेलकूद की गतिविधियों ने एक नई गति पकड़ी है। खेलो इंडिया खेलो के अभियान को गति देने के बाद फिट इंडिया मूवमेंट हो, ग्रामीण स्तर पर सांसद खेलकूद प्रतियोगिताओं को आगे बढ़ाने का कार्यक्रम हो, पूरे देश के अंदर इसके परिणाम हम सबके सामने आए हैं। आज इसी का परिणाम है कि ओलंपिक में हमारे खिलाड़ी पहले की तुलना में कई गुना अधिक पदक प्राप्त करते हैं। अभी हाल ही में एशियन गेम्स में हमने भारत के खिलाड़ियों के प्रदर्शन को देखा है। पहली बार एशियन गेम्स में हमारे खिलाड़ियों ने 100 का आंकड़ा पार किया है और पैरा एशियन गेम्स में भी हमारे खिलाड़ियों ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए 100 से अधिक पदक देश के लिए जीते हैं। उत्तर प्रदेश के खिलाड़ियों ने भी इसमें उल्लेखनीय प्रदर्शन किया है।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सैयद मोदी नेशनल इंटरनेशनल बैडमिंटन चैंपियनशिप 2023 का किया शुभारंभ
यह भी पढ़ें

शीतकालीन सत्र.'स्पीच रिकग्निशन सॉफ्टवेयर' से लैस होगी उत्तर प्रदेश की विधान सभा


खिलाड़ियों के भविष्य को संवारने के लिए सरकार देगी हर तरह का सहयोग


सीएम योगी ने उत्तर प्रदेश में खिलाड़ियों को हर तरह के सहयोग के प्रति आश्वस्त किया। उन्होंने कहा कि खेलकूद की गतिविधियों के प्रति केंद्र और राज्य का जो सकारात्मक रुख है वो हमारे खिलाड़ियों के लिए एक नया प्लेटफार्म भी है और अपने भविष्य को उज्जवल बनाने के लिए सरकार के द्वारा उन्हें हर संभव सहयोग देने के लिए भी उन्हें आश्वस्त करता हूं।
उन्होंने कहा कि हम सब जानते हैं कि उत्तर प्रदेश में बैडमिंटन का एक अच्छा केंद्र हो, जहां खिलाड़ियों के प्रशिक्षण के साथ-साथ राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं को भी संपन्न किया जा सके। पूर्व केंद्रीय मंत्री अखिलेश दास जी ने इसकी शुरुआत की और 10 एकड़ क्षेत्र में फैला हुआ यह क्षेत्र उत्तर प्रदेश के अंदर बैडमिंटन खिलाड़ियों के लिए न केवल प्रशिक्षण का बल्कि किसी भी प्रकार के नेशनल और इंटरनेशनल चैंपियनशिप का एक नया केंद्र बिंदु बना है। इस अवसर पर डॉ. अखिलेश दास को भी विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सैयद मोदी नेशनल इंटरनेशनल बैडमिंटन चैंपियनशिप 2023 का किया शुभारंभशीर्ष खिलाड़ियों के बीच मुकाबले से जुड़ रहे खेल प्रेमी
सीएम योगी ने प्रतियोगिता के लिए आए हुए खिलाड़ियों और खेल प्रेमियों का स्वागत करते हुए प्रतियोगिता पर भी प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के प्रसिद्ध बैडमिंटन खिलाड़ी सैयद मोदी, जिन्होंने 8 बार बैडमिंटन के राष्ट्रीय चैंपियन होने के साथ ही राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण विजेता होने का गौरव हासिल किया, उनकी स्मृति में 1991 से उत्तर प्रदेश में इस बैडमिंटन चैंपियनशिप की शुरुआत हुई थी। 2004 में इस प्रतियोगिता को अंतरराष्ट्रीय मान्यता प्राप्त हुई। बाद में बैडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन द्वारा इसका स्तर बढ़ाकर इसकी प्राइजमनी को 1.5 लाख यूएस डॉलर कर दिया गया।
बैडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन द्वारा इस प्रतियोगिता को वर्ल्ड टूर सुपर 300 का भी दर्जा दिया गया है। वर्तमान में बैडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन द्वारा इसकी प्राइजमनी 2.10 लाख यूएस डॉलर यानी लगभग 1.75 करोड़ रुपए निर्धारित की गई है। इस प्रतियोगिता में दुनिया के लगभग सभी शीर्ष बैडमिंटन खिलाड़ी प्रतिभाग कर रहे हैं। हजारों की संख्या में खेल प्रेमी इस आयोजन के साथ जुड़ रहे हैं। इस भव्य आयोजन के अवसर पर सभी खेल प्रेमियों का हृदय से स्वागत करता हूं।

ट्रेंडिंग वीडियो