इस प्रदेश के सीएम ने उन्नाव रेप पीड़िता व परिजनों से की यह अपील, तो सीेएम योगी ने तुरंत दिया जवाब

इस प्रदेश के सीएम ने उन्नाव रेप पीड़िता व परिजनों से की यह अपील, तो सीेएम योगी ने तुरंत दिया जवाब
CM yogi

Abhishek Gupta | Updated: 02 Aug 2019, 11:28:19 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

उन्नाव गैंगरेप मामले ने प्रदेश ही नहीं बल्कि दूसरे राज्यों का ध्यान भी अपनी ओर आकर्षित किया है।

लखनऊ. उन्नाव गैंगरेप (Unnao gangrape) मामले ने प्रदेश ही नहीं बल्कि दूसरे राज्यों का ध्यान भी अपनी ओर आकर्षित किया है। सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) द्वारा मामले को दिल्ली ट्रांसफर किए जाने ने यह साफ कर दिया है कि विधायक कुलदीप सिंह (Kuldeep Singh Sengar) के दबदबे के चलते मामले में निष्पक्ष जांच हो ही नहीं पाएगी। वहीं कई लोग यूपी को लड़कियों के लिए असुरक्षित भी समझने लगे है। इनमें से एक है मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री (Madhya Pradesh CM) कमलनाथ (Kamalnath) जिन्होंने पीड़़िता व उनके परिजनों उनके राज्य में आकर रहने की अपील की है। इस पर सीएम योगी (CM Yogi) ने तुरंत जवाब भी दिया है।

ये भी पढ़ें- सीबीआई का कुलदीम सिंह सेंगर और उसके भाईयों को लेकर उठाया बड़ा कदम

एमपी सीएम ने की यह अपील-

एमपी सीएम ने शुक्रवार को अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर लिखा कि उन्नाव दुष्कर्म मामले पर सुप्रीम कोर्ट का फ़ैसला स्वागत योग्य। यूपी को असुरक्षित मान छोड़ने का निर्णय ले चुकी पीड़िता की माँ व परिजनों से में अपील करता हूँ कि वे सभी मध्यप्रदेश आकर बसने का निर्णय लें। हमारी सरकार आपके पूरे परिवार को सम्पूर्ण सुरक्षा प्रदान करेगी। बच्ची का हम बेहतर इलाज कराएंगे। उसकी बेहतर शिक्षा से लेकर सम्पूर्ण दायित्व हम निभाएंगे। किसी भी प्रकार की दिक्कत का सामना नहीं होने देंगे। दिल्ली केस ट्रांसफ़र होने पर आपके दिल्ली आने- जाने की भी पूर्ण व्यवस्था करेंगे। बच्ची का प्रदेश की बेटी की तरह हम ख़याल रखेंगे।

ये भी पढ़ें- सपा को तगड़ा झटका, नीरज शेखर के बाद अब इस राज्यसभा सांसद ने दिया इस्तीफा

CM Yogi

सीएम योगी ने दिया जवाब-

कमलनाथ के बहाने ही सही लेकिन पहली बार सीएम योगी ने मामले पर बयान दिया। उन्होंने मध्यप्रदेश सीएम को मामले पर राजनीति करता देख कहा कि कम से कम कांग्रेस इस तरह का उपदेश न दे, राजनीति करिए लेकिन गरिमा, सुचिता बनाए रखें। उन्होंने आगे कहा कि बेटियां बांटी नहीं जाती। बेटियों को लेकर ओंछी राजनीति न करिए, क्योंकि बेटियां, बेटियां होती होती हैं।

ये भी पढ़ें- तलाक होने के बाद पिता को लिखे पत्र में कहा "मुझे माफ कर देना, आपका बुरा बेटा, नमस्ते", फिर..

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned