यूपी में पहले लगेगा चार करोड़ लोगों को कोरोना वायरस का टीका, इस कंपनी का होगा, कर ली गईं ये तैयारियां

उत्तर प्रदेश में पहले चरण में चार करोड़ लोगों को कोरोना वायरस का टीका लगाने की तैयारी है। राज्य में अभी तक करीब 80 हजार लीटर वैक्सीन रखने की व्यवस्था बन गई है।

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में पहले चरण में चार करोड़ लोगों को कोरोना वायरस का टीका लगाने की तैयारी है। राज्य में अभी तक करीब 80 हजार लीटर वैक्सीन रखने की व्यवस्था बन गई है। साथ ही अब 1.23 लाख लीटर वैक्सीन रखने की और व्यवस्था की जा रही है। इस तरह प्रदेश में कुल 2.03 लाख लीटर वैक्सीन रखने की व्यवस्था दिसंबर तक बना दी जाएगी। रुटीन के बाकी टीकाकरण जो अभियान के अंतर्गत होते हैं, उसके अलावा कोरोना से बचाव के लिए ये टीके एक समय अंतराल में चार करोड़ लोगों को लगाए जा सकेंगे। वैक्सीन के लिए जो आइ लाइंड रेफ्रीजिरेटर (आइएलआर) मंगवाए गए हैं, उसमें दो डिग्री सेल्सियस से लेकर आठ डिग्री सेल्सियस के तापमान को बनाए रखने में मदद मिलेगी।

विदेशी कंपनी के नहीं लगेंगे टीके

आपको बता दें कि भारत में विदेश की फाइजर और मार्डना कंपनी के टीके लगने की उम्मीद काफी कम है। वहीं जिस तरह से कोल्ड चेन को मेनटेन करने की तैयारी चल रही है, उसे देखकर इस बात की संभावना ज्यादा है कि आक्सफोर्ड यूनिविर्सिटी द्वारा तैयार की जा रही वैक्सीन ही लगाई जाएगी। आपको बता दें कि इस वैक्सीन को ब्रिटेन की फॉर्मा कंपनी एस्ट्रेजेनिका भारत के सीरम इंस्टीट्यूट के साथ मिलकर तैयार कर रही है। इसके अलावा भारत बॉयोटेक की कोवैक्सीन भी लग सकती है।

पहले स्वास्थ्यकर्मियों और बुजुर्गों को लगेगा टीका

यूपी में कोरोना का टीका पहले स्वास्थ्य कर्मियों और बुजुर्गों को लगाये जाने की तैयारी है। सभी सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों से डॉक्टरों व पैरा मेडिकल स्टॉफ का ब्योरा इकट्ठा किया जा रहा है। अब तक करीब सात लाख डॉक्टर और स्टॉफ का ब्योरा जुटा लिया गया है। स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ. डीएस नेगी के मुताबिक पहले स्वास्थ्य कर्मियों को टीके लगेंगे और फिर इन्हीं में से टीका लगाने के लिए स्टाफ चिन्हित किा जाएगा। डॉक्टर, नर्स, फार्मासिस्ट और लैब टेक्नीशियन की अलग-अलग टीम बनाई जाएगी। 15 दिसंबर तक ये सारी तैयारियां पूरी कर ली जाएंगी।

यूपी में ये तैयारी

यूपी ने भारत सरकार से आठ वॉक इन कूलर और चार वॉक इन फ्रीजर मांगे हैं। इसके अलावा 1,610 आइएलआर, 1,430 डीप फ्रीजर, 26,800 वैक्सीन कैरियर और 1,950 कोल्ड बॉक्स मांगे गए हैं। अब तक 730 आइएलआर, 1,040 डीप फ्रीजर, 17,454 वैक्सीन कैरियर अब तक मिल चुके हैं। 22 जिलों में वैक्सीन रखने के लिए 500 वर्ग फीट के कमरे बनाए जा रहे हैं और बाकी जिलों में मरम्मत का काम किया जा रहा है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम), यूपी के जीएम (टीकाकरण) डॉ. मनोज शुक्ला ने बताया कि वैक्सीन को रखने के सारे इंतजाम तेजी से किये जा रहे हैं। हम लोग 2.03 लाख लीटर वैक्सीन रखने का इंतजाम कर रहे हैं। हर जिले में कोल्ड चेन प्वाइंट तैयार कर लिए गए हैं।

Corona virus कोरोना वायरस
नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned