पश्चिमी विक्षोभ के चलते फिर बदलेगा मौसम, बारिश से बढ़ेगी ठंड, जानें अपने जिले का हाल

उत्तर प्रदेश के अधिकतर जिलों में सुबह की शुरुआत धूप और गर्म हवा से हो रही है। हालांकि, कुछ जिलों में अब भी दिन की शुरुआत कोहरे से हो रही है। वहीं, मौसम विभाग ने एक बार फिर मौसम के बिगड़ने के आसार जताए हैं

By: Karishma Lalwani

Updated: 17 Feb 2021, 12:40 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के अधिकतर जिलों में सुबह की शुरुआत धूप और गर्म हवा से हो रही है। हालांकि, कुछ जिलों में अब भी दिन की शुरुआत कोहरे से हो रही है। वहीं, मौसम विभाग ने एक बार फिर मौसम के बिगड़ने के आसार जताए हैं। मौसम विभाग के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ एक बार फिर भारत के मौसम पर असर डालेगा। मौसम विभाग ने देश के कई राज्यों में बारिश का अनुमान जताते हुए एक बार फिर मौसम में परिवर्तन का पूर्वानुमान लगाया है। इस दौरान उत्तर प्रदेश में भी कई जगह बारिश की संभावना जताई गई है।

यूपी के इन जिलों में बारिश की संभावना

भारत के उत्‍तरी हिस्‍से में बार-बार बन रहे पश्चिमी विक्षोभ के कारण यूपी सहित देश के अन्‍य हिस्‍सों के मौसम में इसका प्रभाव देखने को मिलेगा। यूपी सहित देश के कई राज्यों में बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। स्थानीय मौसम विभाग निदेशक जेपी गुप्ता के मुताबिक, यूपी में मौसम बदलने के पूरे आसार हैं। उन्होंने प्रदेश के जालौन, इटावा, औरैया, कानपुर देहात व शहर के साथ उन्नाव, रायबरेली, फतेहपुर, झांसी, ललितपुर, बांदा, महोबा में गरज चमक के साथ बारिश की संभावना जताई है। इन सभी जगहों पर हल्कि बूंदाबांदी से मौसम में बदलाव महसूस किया जा सकता है। इसके साथ ही ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी के साथ बारिश को लेकर प्रशासन भी सतर्क है।

क्या है पश्चिमी विक्षोभ

पश्चिमी विक्षोभ भूमध्य सागर में अतिरिक्त उष्णकटिबंधीय चक्रवातों (Tropical cyclones) के रूप में उत्पन्न होता है। भारतीय उपमहाद्वीप के उत्तरी इलाकों में सर्दियों के मौसम में आने वाले तूफान को कहते पश्चिमी विक्षोभ कहा जाता है, जो वायुमंडल की ऊंची तहों में भूमध्य सागर, अटलांटिक महासागर और कुछ हद तक कैस्पियन सागर से नमी लाकर उसे अचानक बारिश और बर्फ के रूप में उत्तर भारत, पाकिस्तान व नेपाल पर गिरा देता है। यह छुवा हवा द्वारा संचालित होता है।

ये भी पढ़ें: कक्षा 1 से 8 तक पढ़ने वाली दिव्यांग छात्राओं को मिलेगी छात्रवृत्ति, 182 लाख रुपये जारी

ये भी पढ़ें: अब लिया जाएगा पानी का भी हिसाब, इन 10 जिलों के नगर निगम देंगे रिपोर्ट

Show More
Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned