scriptKanpur administration inspect gun licence | कानपुर: असलहाधारी हो जाएं सावधान, अब इतने लाइसेंसों पर होगी प्रशासन की नजर | Patrika News

कानपुर: असलहाधारी हो जाएं सावधान, अब इतने लाइसेंसों पर होगी प्रशासन की नजर

Kanpur administration: कानपुर के असलहाधारियों के लिए बड़ी खबर है। यदि आप असलहाधारी हैं तो सावधान बो जाइए। क्योंकि कानपुर में असलहाधारियों के लाइसेंस की जांच होने के आदेश जारी हो गए। जानकारी के लिए पढ़िए पूरा खबर......

लखनऊ

Updated: April 01, 2022 02:29:52 pm

उत्तर प्रदेश के कानपुर कलेक्ट्रेट में असलहा फर्जीवाड़ा समेत अन्य गोलमाल करने वाले जल्द बेनकाब होंगे। एसआईटी के निर्देश पर डीएम ने आजादी के बाद से अब तक बने सभी 41 हजार असलहों की जांच कराने का फैसला किया है। इसके लिए बकायदा चार मजिस्ट्रेट तैनात किए गए हैं। 10 कंप्यूटर लगाए जा रहे हैं। सोमवार से जांच शुरू हो जाएगी। एसआईटी ने निर्धारित फॉर्मेट भेजकर पूरी जानकारी प्रशासन से मांगी है। इसमें असलहा लाइसेंसधारी का नाम-पता, पिता का नाम, असलहे का प्रकार, थाना, स्वीकृत करने वाले अफसर, उनका पदनाम व तैनाती और सेवानिवृत्त की बात है।
Gun licence.jpg
Kanpur administration inspect gun licence
कानपुर में असलहा लाइसेंस फर्जीवाड़ा खुलने के बाद हड़कंप मचा है। फर्जीवाड़ा और कमियां मिलने पर पूर्व डीएम आलोक तिवारी ने एसआईटी जांच की संस्तुति की थी। एसपी एसआईटी देवरंजन वर्मा के नेतृत्व में कमेटी जांच कर रही है। एसआईटी भी शहर आकर पड़ताल कर चुकी है। प्रशासन से फिर असलहा लाइसेंस की जांच करके रिपोर्ट मांगी है। निर्धारित फॉर्मेट पर जानकारी देनी होगी।
ये भी पढ़ें : FIR : कहीं से भी कर सकते हैं एफआईआर, थाने जाने की नहीं होगी जरूरत

एक साल पहले क्यों हुई थी जांच

एक साल पहले भी कलेक्ट्रेट में शस्त्र लाइसेंस की जांच हो चुकी है। उस वक्त फर्जीवाड़ा मिलने के बाद ही आलोक तिवारी ने एसआईटी जांच की संस्तुति की थी। टीम ने यहां आकर एक-एक असलहा लाइसेंस फाइलों की जांच की थी। इसमे सैकड़ों फाइलें गायब मिली थी।
इन मजिस्ट्रेट को मिलेगी जिम्मेदारी

- राजेश कुमार एसीएम प्रथम

- जियालाल सरोज एसीएम तृतीय

- गुलाब चंद्र एसीएम चतुर्थ

- वान्या सिंह एसीएम पष्ठम

अब तक ये हो चुके फर्जीवाड़े
- 21 फर्जी ट्रांजिट लाइसेंस के जरिए कलेक्ट्रेट से असलहा व कारतूस बेचे जा चुके

- 03 कलेक्ट्रेट के लिपिक असलहा फर्जीवाड़े में बर्खास्त हो चुके

- 93 फर्जी शस्त्र लाइसेंस बनाए जा चुके
- 171 विकास दुबे समेत असलहा लाइसेंस की फाइलें गायब हो चुकीं

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

कर्नाटक के सबसे अमीर नेता कांग्रेस के यूसुफ शरीफ और आनंदहास ग्रुप के होटलों पर IT का छापाPM Modi in Gujarat: राजकोट को दी 400 करोड़ से बने हॉस्पिटल की सौगात, बोले- 8 साल से गांधी व पटेल के सपनों का भारत बना रहापंजाब की राह राजस्थान: मंत्री-विधायक खोल रहे नौकरशाही के खिलाफ मोर्चा, आलाकमान तक शिकायतेंई-कॉमर्स साइटों के फेक रिव्यू पर लगेगी लगाम, जांच करने के लिए सरकार तैयार करेगी प्लेटफॉर्मभाजपा प्रदेश अध्यक्ष का हेमंत सरकार पर बड़ा हमला, कहा - 'जब तक सत्ता से बाहर नहीं करेंगे, तब तक चैन से नहीं सोएंगे'Largest Vaccination Drive: भारत में 88% वयस्क आबादी को लग चुकी हैं COVID टीके की दोनों डोजIPL 2022: सिर्फ चौके और छक्के से बटलर ने ठोके करीब 600 रन, विराट कोहली को भी छोड़ा पीछेVIP कल्चर पर पंजाब की मान सरकार का एक और वार, 424 वीआईपी को दी रही सुरक्षा व्यवस्था की खत्म
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.