आईआरसीटीसी दे रहा शानदार मौका, फाइव स्टार होटल जैसी लग्जरी ट्रेन में करें सफर, मिलेगी जिम, स्पा जैसी कई सुविधाएं, वापसी में यह यात्रा फ्री

- भारत की सबसे लग्जरी ट्रेन गोल्डन चैरिएट

- ट्रेन में फाइव स्टार होचल की तर्ज पर सुविधाएं

- ट्रेन में जिम, स्पा की मिलेगी फैसिलिटी

By: Karishma Lalwani

Published: 09 Jan 2021, 12:46 PM IST

लखनऊ. लग्जरी ट्रेन का नाम सुनते ही हमारे ध्यान में सबसे पहले दुरंतो, राजधानी, शताब्दी एक्सप्रेस का नाम आता है। लेकिन भारत में एक ट्रेन ऐसी भी है जिसकी सुविधाएं फाइव स्टार होटल जैसी है। अपने शाही ठाट बाट के लिए मशहूर गोल्डन चैरिएट ट्रेन (Golden Chariot Train) इतनी खूबसूरत है कि देखते ही इस पर नजरें ठहर जाती हैं। अपने लुक और सुविधाओं के लिए मशहूर यह ट्रेन वापसी में यात्रियों को फ्री विमान यात्रा का लुत्फ देगी। दरअसल, भारतीय रेलवे खानपान व पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) और कर्नाटक सरकार की लग्जरी ट्रेन से एक तरफ पर्यटकों को यात्रा करायेगा। सफर खत्म होने के बाद आईआरसीटीसी वापसी का विमान का टिकट देगा।

कोविड-19 के कारण पिछले साल मार्च में गोल्डन चैरिएट का संचालन रोक दिया गया था। यह महाराजा एक्सप्रेस और पैलेस ऑन व्हील की तरह एक लग्जरी ट्रेन है। अगले माह ट्रेन का संचालन दोबारा शुरू होगा। इसके लिए यात्रियों को प्राइड ऑफ कर्नाटक और ज्वेल ऑफ साउथ पैकेज के तहत यात्रा कराई जाएगी।

आईआरसीटीसी दे रहा शानदार मौका, फाइव स्टार होटल जैसी लग्जरी ट्रेन में करें सफर, मिलेगी जिम, स्पा जैसी कई सुविधाएं, वापसी में यह यात्रा फ्री

यह है पैकेज

छह रात और सात दिन वाली प्राइड ऑफ कर्नाटक फरवरी और मार्च में दो बार शुरू होगी। यह ट्रेन पर्यटकों को बेंगलुरू, बांदीपुर, मैसूर, हालेबिदु, चिकामग्लुरू, हम्पी, पत्तदाकाल व गोवा की सैर कराएगी। जबकि मार्च में ज्वेल ऑफ साउथ लक्जरी ट्रेन बेंगलुरू, मैसूर, हम्पी, महाबलीपुरम, थांजवूर, कोचिन, कुमारकोम की यात्रा कराएगी।

ट्रेन की बुकिंग

गोल्डन चैरिएट ट्रेन के लिए बुकिंग देश के नौ शहरों से की जा सकती है। इसकी बुकिंग लखनऊ, कोचिन, चेन्नई, बेंगलुरू, मुम्बई, अहमदाबाद, भोपाल, चंडीगढ़ और जयपुर से की जा सकती है। वहीं अधिक जानकारी के लिए गोल्डन चैरिएट की वेबसाइट पर भी संपर्क किया जा सकता है।

आईआरसीटीसी दे रहा शानदार मौका, फाइव स्टार होटल जैसी लग्जरी ट्रेन में करें सफर, मिलेगी जिम, स्पा जैसी कई सुविधाएं, वापसी में यह यात्रा फ्री

गोल्डन चैरिएट ट्रेन की खासियत

गोल्डन चैरिएट ट्रेन की शुरुआत साल 2008 में हुई थी। इसकी शुरुआत कर्नाटक स्टेट टूरिज्म डेवलप्मेंट कॉरपोरेशन (KSTDC) ने की थी। ट्रेन में 21 डिब्बे और 19 कोच हैं। इसमें दो रेस्टोरेंट कोच भी मौजूद हैं। ट्रेन में 11 सलून हैं जिसमें 44 एयर कंडीशंड केबिन हैं। इसमें 26 ट्वीन बेड केबिन, 17 डबल बेड केबिन और एक फिजिकली चैलेंज्ड कैबिन है। जिम, दो रेस्त्रां, एक बार लाउंज, कॉन्फ्रेंस रूम और दो परंपरिक मसाज रूम की सुविधा भी इस ट्रेन में है। पहले इस ट्रेन का नाम स्टोन चैरिएट ऑफ हम्पी था। बाद में इसे गोल्डेन चैरिएट कर दिया गया। ट्रेन में मदीरा नाम का एक आलीशान और शाही बार लाउंज भी है, जिसमें यात्री कॉकटेल का आनंद ले सकते हैं।

आईआरसीटीसी दे रहा शानदार मौका, फाइव स्टार होटल जैसी लग्जरी ट्रेन में करें सफर, मिलेगी जिम, स्पा जैसी कई सुविधाएं, वापसी में यह यात्रा फ्री

ट्रेन में वैनिटी डेस्क, एलसीडी डेस्क की भी सुविधा

पटरी पर चलते फिरते महल जैसी इस ट्रेन को 2013 में 'एशिया का अग्रणी लक्जरी ट्रेन' का पुरस्कार मिल चुका है। ट्रेन के प्रत्येक केबिन में अलमारी, वैनिटी डेस्क, एलसीडी टीवी, इलेक्ट्रिक सॉकेट की सुविधा है। ट्रेन में फाइव स्टार होटल जैसे दो डाइनिंग कार यानी कि रेस्त्रां भी है। यहां यात्रियों को शाकाहारी व मांसाहारी भोजन दोनों ही उपलब्ध रहता है। गोल्डन चैरिएट ट्रेन के सारे केबिन एयर कंडीशन औैर वाई-फाई की सुविधा से युक्त हैं। ट्रेन के अंदर सैलून के अंदरूनी हिस्सों की नक्काशी में 12 वीं शताब्दी के होसल्या मंदिर की वास्तुकला की झलक है। ट्रेन का किराया लाखों में है। समय के अनुसार इसमें बदलाव होता रहता है।

ये भी पढ़ें: मुख्यमंत्री आवास योजना में घर लेना हुआ आसान, मिलेगी ढाई लाख की सब्सिडी, जानें क्या है आवेदन प्रक्रिया

ये भी पढ़ें: सोने-चांदी की कीमत में फिर भारी गिरावट, दो दिन में 1239 रुपये टूटा गोल्ड, जानें आज के भाव और कहां मिल रहा सबसे सस्ता सोना

COVID-19
Show More
Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned