यूपी में छह माह में तीन माननीयों की 350 करोड़ से अधिक की संपत्तियां जब्त

- मुख्तार की 192 करोड़, अतीक की 100 करोड़ और गायत्री की 55 करोड़ की राशि
- विजय मिश्र और सुंदर भाटी सहित आधा दर्जन की संपत्तियों की हो रही जांच

By: Mahendra Pratap

Published: 10 Apr 2021, 01:32 PM IST

महेंद्र प्रताप सिंह

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

लखनऊ. उप्र में पिछले छह माह में एक पूर्व सांसद, विधायक और एक वर्तमान एमएलए की 350 करोड़ से अधिक की बेनामी व अवैध संपत्तियां जब्त कर ली गयी हैं। इसमें कुछ संपत्तियां गुंडा एक्ट के तहत जब्त हुई है तो कुछ के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी ने कार्रवाई की है। ताजा कड़ी में सपा सरकार में मंत्री रहे गायत्री प्रजापति (gayatri prajapati) की करीब 55 करोड़ की संपत्ति ईडी ने जब्त कर ली है। इसी तरह बसपा विधायक मुख्तार अंसारी (mukhtar ansari) की 192.06 करोड़ और पूर्व सांसद अतीक अहमद (atique ahmed) की 100 करोड़ से ज्यादा की संपत्तियां जब्त की जा चुकी हैं। विधायक विजय मिश्र समेत करीब आधा दर्जन ऐसे पूर्व व वर्तमान सांसद और विधायक हैं जिन पर इडी और जिला प्रशासन की नजर है। इनकी संपत्तियों की जांच चल रही है। जल्द ही इनकी अवैध संपत्तियां भी जब्त (350 crores Assets Seized) कर ली जाएंगी।

यूपी आते ही बाहुबली के गुनाहों का हिसाब शुरू, योगी सरकार रद्द कराएगी विधानसभा सदस्यता

योगी सरकार (CM Yogi Action mode) ने प्रदेश के कई बाहुबली नेताओं, अपराधियों और भू माफियाओं के खिलाफ आपरेशन क्लीन अभियान चला रखा है। मुख्तार अंसारी, अतीक अहमद, सुंदर भाटी और विजय मिश्र समेत पूर्वांचल और पश्चिमी यूपी के कई माफिया सरकार के इस अभियान के निशाने पर हैं।

अतीक ने अवैध तरीके से अर्जित की थी संपत्तियां

सरकारी अभिलेखों के मुताबिक, प्रयागराज के माफिया और पूर्व सांसद अतीक अहमद ने यह तमाम संपत्तियां अवैध तरीके से अर्जित की थीं। अतीक अहमद की इस तरह की अब तक 100 करोड़ से ज्यादा की संपत्तियों को लेकर कार्रवाई हुई है। इनमें नीमसराय में पूर्व सांसद का प्लॉट सहित 15 से ज्यादा संपत्तियां शामिल हैं जिनकी प्रशासन ने कुर्की कर ली है।

मुख्तार की 192.06 करोड़ की संपत्ति जब्त

माफिया मुख्तार अंसारी के अभेद्य आर्थिक किले को ढहा दिया है। बांदा जेल में बंद माफिया अतीक और उसके सहयोगियों के कब्जे से सरकारी जमीन खाली कराने, ध्वस्तीकरण, जब्त संपत्ति की कीमत करीब 192 करोड़ छह लाख 22 हजार रुपए है। यह सभी संपत्तियां अब सरकार के कब्जे में हैं। उसकी 41 करोड़ की सालाना अवैध आय को सरकार ने बंद करा दिया है।

गायत्री प्रजापति की अवैध कमाई ईडी ने जब्त की

सपा सरकार के पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति पर ईडी ने आय से अधिक संपत्ति के मामले में 36.94 करोड़ रुपये की संपत्तियां जब्त कर ली हैं। गायत्री पर मनी लांड्रिंग के मामले में ईडी की विशेष अदालत में आरोपपत्र भी दाखिल किया गया है। इसके अलावा खनन घोटाले के मामले में भी पूर्व मंत्री गायत्री की संपत्तियों को अटैच किया जा रहा है। ईडी के जोनल डायरेक्टर राजेश्वर सिंह का कहना है कि गायत्री के 57 बैंक खाते में जमा 3.50 करोड़ और 60 चल-अचल संपत्तियां जिनकी कीमत 33.54 करोड़ रुपए है, उसे भी जब्त करने की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। इस तरह गायत्री प्रजापति और उसके कुनबे के द्वारा कमाई गयी कुल 74.04 करोड़ की संपत्तियां सरकार की हो जाएंगी। ईडी अधिकारियों का कहना है कि जब्त की गई इन संपत्तियों का वर्तमान बाजार मूल्य 55 करोड़ रुपये है। कुछ बेनामी संपत्तियां भी अटैच की गई हैं।

अहमदाबाद जेल में बंद है अतीक, कसा ईडी का शिकंजा

अहमदाबाद जेल में बंद पूर्व सांसद अतीक अहमद पर अब प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) का शिकंजा कसा है। अतीक अहमद के खिलाफ मनी लॉड्रिंग का मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस रिकॉर्ड में लंबित मामलों को आधार बनाते हुए ईडी ने कार्रवाई की है। अतीक के खिलाफ करीब 195 मामले लंबित हैं। अब अतीक की देश व विदेश की अवैध चल-अचल संपत्ति का पता लगाकर ईडी कुर्क करने की कार्रवाई करेगा। इसके खिलाफ क्रिमिनल ट्रायल भी चलाया जाएगा।

पूर्वांचल के और माफिया भी रडार पर

ईडी के निशाने पर अभी और माफिया हैं। पूर्वांचल में माफियाओं पर शिकंजा कसने के लिए ईडी आगे और बाहुबलियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेगा। ईडी का प्रयास ऐसे गिरोह की आर्थिंक स्थिति को पूरी तरह से तोड़ना है।

Mahendra Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned