UP Politics : एकजुट हुए बसपा के निलंबित विधायक, विधानसभा चुनाव से पहले बनाएंगे नई पार्टी

UP Politics : विधानसभा अध्यक्ष ह्रदयनारायण दीक्षित से मिलने उनके आवास पर जा रहे असलम राइनी ने कहा कि बसपा से निष्कासित 11 विधायक हमारे साथ हैं, अब हम मिलकर अपनी नई पार्टी बनाएंगे

By: Hariom Dwivedi

Updated: 15 Jun 2021, 06:39 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. UP Politics- यूपी विधानसभा में बसपा नेता रहे लालजी वर्मा के नेतृत्व में बहुजन समाज पार्टी से निष्कासित 11 विधायक मिलकर नई पार्टी बनाएंगे। विधान परिषद चुनाव में बसपा से बगावत कर निलंबन झेल रहे श्रावास्ती के भिनगा से विधायक असलम राइनी ने मंगलवार को छह विधायकों के साथ समाजवादी पार्टी के दफ्तर में अखिलेश यादव से मुलाकात की। विधानसभा अध्यक्ष ह्रदयनारायण दीक्षित से मिलने उनके आवास पर जा रहे राइनी ने कहा कि बसपा में नेताओं का कोई सम्मान नहीं है। 11 विधायक अब एक साथ हैं। अब हम मिलकर अपनी नई पार्टी बनाएंगे। राइनी ने कहा कि हमारे नेता लालजी वर्मा होंगे। उनके साथ ही राम अचल राजभर भी हमारे साथ हैं। लालजी वर्मा पार्टी के मुखिया होंगे।

असलम राइनी ने कहा कि बसपा प्रमुख मायावती से उनकी कोई शिकायत नहीं है, लेकिन पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा का व्यवहार ठीक नहीं है। वह जितना कहते हैं मायावती सिर्फ उतना ही करती हैं। उन्होंने दावा किया कि हमारे पास 11 विधायक हैं। एक की कमी है, जिसके कारण तत्काल नया दल नहीं बन पा रहा है। इस बीच अगर एक और विधायक साथ आया तो पार्टी बनाएंगे। नए दल का नाम लालजी वर्मा को डिसाइड करना है। हालांकि, उन्नाव के पुरवा से बसपा विधायक रहे अनिल सिंह ने ऐसे किसी भी दल में शामिल होने की खबरों से इनकार किया है वहीं, आजमगढ़ के सगड़ी से बसपा विधायक वंदना सिंह के प्रतिनिधि संतोष सिंह 'टीपू' ने भी ऐसी खबरों से इनकार किया है।

यह भी पढ़ें : बसपा में बड़ी टूट! अखिलेश यादव से मिले बसपा के नौ विधायक, सपा में हो सकते हैं शामिल

लालजी वर्मा होंगे नये दल के नेता
हाल ही में मायावती ने बसपा के कद्दावर नेता लालजी वर्मा और राम अचल को पार्टी से निष्कासित किया है। असलम राइनी ने दावा किया कि यह दोनों उनके साथ हैं। उन्होंने कहाकि बसपा में नेताओं का सम्मान नहीं है। यहां तक कि दिग्गज नेता नेता राम अचल राजभर का और न ही लाल जी वर्मा का सम्मान हुआ है। कहा कि लालजी वर्मा हमारे नेता हैं।

अखिलेश से मुलाकात पर बोले
अखिलेश यादव से मुलाकात करने पर विधायक असलम राईनी ने कहा कि हम तो किसी भी नेता से मिल सकते हैं। पहले भी निलंबित नौ विधायक अखिलेश यादव से मिले थे और आज भी मिले हैं। चर्चा है कि बसपा के बागी विधायक अगर अलग दल नहीं बना सके तो वह सपा के टिकट पर आगामी विधानसभा चुनाव (uttar pradesh assembly elections 2022) लड़ेंगे। सूत्रों की मानें अखिलेश यादव ने सभी जिताऊ उम्मीदवारों को बीजेपी के खिलाफ टिकट देने का आश्वासन दिया है।

यह भी पढ़ें : मायावती के लिए हमेशा ही फायदे का सौदा रहा है यूपी में गठबंधन, जानें- इस बार क्या होगी बसपा की रणनीति

बसपा से निष्कासित हैं विधायक
1. असलम रायनी- भिनगा (श्रावास्ती)
2. मुज्तबा सिद्दीकी- प्रतापपुर (प्रयागराज)
3. हकीम लाल बिंद- हांडिया (प्रयागराज)
4. हर गोविंद भार्गव- सिधौली (सीतापुर)
5. सुषमा पटेल- मुंगरा बादशाहपुर (जौनपुर)
6. वंदना सिंह- सगड़ी (आजमगढ़)
7. असलम अली चौधरी- धौलाना (हापुड़)
8. रामवीर उपाध्याय- सादाबाद (आगरा)
9. अनिल सिंह- पुरवा (उन्नाव)
10. राम अचल राजभर- अकबरपुर (अंबेडकरनगर)
11. लालजी वर्मा- कटेहरी (अंबेडकरनगर)

यह भी पढ़ें : मायावती का मास्टर स्ट्रोक, विधानसभा चुनाव से पहले बसपा ने इस दल से किया गठबंधन

Uttar Pradesh Assembly elections 2022
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned