यूपी विधान परिषद चुनावः शिक्षक के बाद स्नातक में भी चली अखिलेश की साइकिल, यहां दर्ज की जीत, इन सीटों पर भी बढ़त

एक और किला फतह
- एमएलसी चुनाव में भाजपा ने लहराया जीत का परचम
- सपा एक व दो निर्दलीय जीते शिक्षक क्षेत्र में
- ओम प्रकाश शर्मा गुट की हार से आएगा बड़ा परिवर्तन

By: Abhishek Gupta

Published: 04 Dec 2020, 07:06 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क.
लखनऊ. आखिरकार कोरोना काल में एक और चुनाव का परिणाम सफलतापूर्वक आ गया। पढ़े लिखे लोगों का चुनाव यानि उत्तर प्रदेश विधान परिषद की 11 खाली सीटों में से छह शिक्षक सीटों पर नतीजे शुक्रवार सुबह आ गए। इनमें भाजपा ने तीन सीटों, एक पर समाजवादी पार्टी, तो दो पर निर्दलियों का परचम लहराया। स्नातक क्षत्र की एक सीट पर परिणाम घोषित हुआ जिसमें समाजवादी पार्टी प्रत्याशी ने जीत दर्ज की।

मेरठ-सहारनपुर शिक्षक विधान परिषद सीट पर भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार श्रीचंद शर्मा ने ऐतिहासिक जीत हासिल की है। श्रीचंद शर्मा ने निकटतम प्रतिद्वंदी लगातार 48 साल से इस सीट पर काबिज रहे शिक्षक दल के नेता ओम प्रकाश शर्मा को करारी शिकस्त दी। ओम प्रकाश शर्मा लगातार आठ बार विधान परिषद सदस्य रहे हैं। इसके अतिरिक्त शिक्षक क्षेत्र में लखनऊ के भाजपा प्रत्याशी उमेश द्विवेदी ने विजय प्राप्त की है। भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी डॉ. हरी सिंह ढिल्लों को बरेली-मुरादाबाद शिक्षक सीट पर बड़े अंतर से जीत हासिल मिली। भाजपा की यह जीत शिक्षक राजनीति में बड़ा परिवर्तन लेकर आई है। इसके अतिरिक्त स्नातक की पांच सीटों पर मतगणना जारी है। उम्मीदवार करवटे बदल रहे हैं। खबर लिखे जाने तक झांसी-प्रयागराज स्नातक सीट से सपा प्रत्याशी डॉ. मानसिंह यादव जीत दर्ज कर ली है।

- वाराणसी स्नातक सीट - सपा के आशुतोष सिन्हा आगे चल रहे।

- आगरा खंड स्नातक सीट - भाजपा प्रत्याशी मानवेंद्र सिंह ने बनाई बढ़त

- लखनऊ एमएलसी स्नातक - भाजपा प्रत्याशी कांति सिंह आगे

ये भी पढ़ें- यूपी प्राइमरी स्कूल के लिए बड़ा बदलाव, हफ्ते में एक दिन बच्चों को करना होगा यह काम, आदेश जारी

सपा के लाल बिहारी ने जीत की दर्ज-
वाराणसी में शिक्षक एमएलसी चुनाव में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी लाल बिहारी यादव ने जीत हासिल की। उन्होंने प्रतिद्वंद्वी शिक्षक नेता ओम प्रकाश शर्मा गुट के डा. प्रमोद कुमार मिश्र को 936 वोट से शिकस्त दी। लाल बिहारी को 7248 वोट तो वहीं मिश्र को 6830 वोट हासिल हुए।

शर्मा गुट के प्रत्याशी ने जीत की लगाई हैट्रिक-
गोरखपुर-फैजाबाद मंडल विधान परिषद की शिक्षक सीट पर शर्मा गुट के प्रत्याशी ध्रुव कुमार त्रिपाठी ने जीत दर्ज की। इसी के साथ ही ध्रुव कुमार त्रिपाठी ने जीत की हैट्रिक लगाई है। लगातार तीन बार जीतने वाले वह पहले प्रत्याशी बने हैं। उन्होंने अपने निकतटम प्रतिद्वंदी वित्त विहीन शिक्षक महासंघ के प्रत्याशी अजय सिंह को 1935 वोटों से हराया है। त्रिपाठी इससे पहले 2008 और 2014 में चुनाव जीतकर विधान परिषद पहुंचे थे।

ये भी पढ़ें- यूपी अवैध धर्मांतरण कानून को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती, कहा- यह मौलिक अधिकारों के खिलाफ, हो सकता है दुरुपयोग

आगरा में निर्दलीय ने भाजपा को पछाड़ा-
आगरा विधान परिषद की शिक्षक सीट पर निर्दलीय प्रत्याशी डा. आकाश अग्रवाल का कब्जा रहा। उन्होंने भाजपा के दिनेश चंद्र वशिष्ठ को 2376 वोटों से कराया गया है। तीन सीटों पर कब्जा जमाने वाली भाजपा का आगरा में करिश्मा नहीं चला।

सपा ने एमएलसी स्नातक सीट पर भी किया कब्जा-
बुन्देलखंड के झांसी-प्रयागराज खंड के स्नातक एमएलसी पद पर वर्षों से कब्जा जमाए डॉ. यज्ञदत्त शर्मा को शिकस्त देकर समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी डॉ. मानसिंह यादव 1357 से विजयी हुए हैं। मतगणना के बीच यहां खूब हंगामा देखने को मिला।

ये भी पढ़ें- पत्नी ने दिया चौथी पुत्री को जन्म, तो पिता ने उठा लिया यह खौफनाक कदम

हुआ हंगामा-
काउंटिंग की बीच विभिन्न केंद्रों पर हंगामा भी हुआ। झांसी में भाजपा और सपा कार्यकर्ता आमने सामने आ गए हैं। प्रथम वरीयता के बाद सेकेंड वरीयता में भी सपा प्रत्याशी मान सिंह के आगे रहने के बीच भाजपा के दो विधायक मतगणना स्थल पहुंचे और हंगामा शुरू कर दिया। पुलिस ने रोकने की कोशिश की तो भिड़ गए। यहां मतगणना केन्द्र में भाजपाइयों को घुसने से रोकने पर पुलिस के साथ तीखी झड़प हुआ। पुलिस बल ने भाजपाइयों पर लाठी चार्ज भी किया। कुछ ने पुलिस वालों का ही डंडा छीनकर हमला कर दिया।

Show More
Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned