लाशों की मीनार पर प्रशंसा, ऐसी निर्लज्जता मानवता के लिये कलंक : यूपी कांग्रेस अध्यक्ष

यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने योगी सरकार को घेरा- गांव में न जांच, न दवाई, न उपचार, बिना वैक्सीन के विश्व रिकार्ड सरकार का क्रूर मजाक

By: Hariom Dwivedi

Published: 11 May 2021, 05:51 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने व जीवन रक्षक दवाओं, ऑक्सीजन की उपलब्धता पर सरकार के दावों पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के सभी दावे हेराफेरी वाले हैं। आंकड़ों में हेराफेरी करने वाले मुख्यमंत्री की प्रशंसा करने वाले रक्षामंत्री को क्या अपनी संसदीय सीट लखनऊ सहित प्रदेश भर के शमशानों में चिताओं से उठती लपटें नहीं दिखाई दीं? बिना ऑक्सीजन व बिना दवाओं से होती मौतें उन्हें क्यों नहीं दिखाई देती हैं? रक्षामंत्री जिस तरह मुख्यमंत्री की तारीफ कर रहे हैं उससे साबित होता है मानवीय संवेदना का उनसे कोई सम्बन्ध नहीं है।

अजय कुमार लल्लू ने कहा कि ग्रामीण व कस्बाई इलाकों में फर्जी जांच व गुमराह कर उसने अंतर्राष्ट्रीय संस्था डब्लूएचओ से पीआर के बल पर प्रशंसा प्राप्त की है। जबकि जमीनी सच्चाई यह है कि उत्तर प्रदेश में न वैक्सीन है, न ऑक्सीजन है, न दवाई, फिर भी उसके झूठे दावे में कोई कमी नहीं आ रही है। सरकार की लापरवाही के कारण लाशों के ढेर लगे हैं और लाशों की मीनार खड़ी कर वह प्रशंसा प्राप्त कर रही है। उन्होंने सरकार पर सवाल दागते हुए कहा कि मानवता को कलंकित करने वाली ऐसी निर्लज्जता भाजपाई लाते कहां से हैं?

यह भी पढ़ें : यूपी कांग्रेस अध्यक्ष ने बीजेपी सरकार को चेताया, कहा- अभी भी वक्त है मान लो राहुल गांधी की सलाह


अपनों के शव समेटने को विवश हैं मां गंगा
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कोरोना पर सरकार के दावे पर हमला करते हुए कहा कि गांव, कस्बों में कोरोना के सिम्टम्स लगातार मौतें हो रही हैं। मां गंगा की जलधारा अपनो के शव समेटने को विवश है वहीं लाशों की मीनार खड़ी कर सरकार अपना रेडकारपेट स्वागत कराने में व्यस्त है।

मानवता के साथ पग-पग पर पाप कर रही सरकार : अजय कुमार लल्लू
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि राज्य सरकार कोरोना संक्रमण को हेराफेरी भरे आंकड़ों से नियंत्रित करने का घृणित खेल खेलकर मानवता के साथ पग-पग पर पाप कर रही है। उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ सरकार को समझ लेना चाहिये कि झूठी प्रशंसा व फर्जी आंकड़ों से मौत व संक्रमितों की संख्या कम बताकर गुमराह कर सकते हैं, लेकिन उसे नियंत्रित नहीं कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि फर्जी दावों, हेराफेरी भरे आंकड़ों से बाहर आकर योगी आदित्यनाथ जमीनी सच्चाई का सामना करते हुए अपने संवैधानिक व नैतिक दायित्व का निर्वहन करें।

यह भी पढ़ें : कोरोना की तबाही से कब मिलेगी राहत? कोई बता रहा पीक, कोई कह रहा आने वाला दिन ज्यादा खतरनाक

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned