इन 11 राज्यों से आने वाले यात्रियों की यूपी में एंट्री पर सख्ती, दिखाना होगा वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट या कोविड जांच रिपोर्ट

सरकार ने देश के 11 सबसे प्रभावित राज्यों से आने वाले यात्रियों के लिए कोरोना निगेटिव रिपोर्ट (Covid Negative Report) अथवा टीकाकरण सर्टिफिकेट (Vaccination certificate) दिखाना अनिवार्य कर दिया है।

By: Abhishek Gupta

Updated: 22 Jul 2021, 05:59 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कोरोना (corona update in up) नियंत्रण में आता दिख रहा है, लेकिन यह स्थिति आगे और सुधरे, इसके लिए सरकार हर कदम पर सख्ती के आदेश जारी कर रही है। ताजा फैसले में सरकार ने देश के 11 सबसे प्रभावित राज्यों से आने वाले यात्रियों के लिए कोरोना निगेटिव रिपोर्ट (Covid Negative Report) अथवा टीकाकरण सर्टिफिकेट (Vaccination certificate) दिखाना अनिवार्य कर दिया है। इन दोनों में से कोई भी दस्तावेज न होने पर यूपी में इन राज्यों के लोगों को एंट्री नहीं दी जाएगी। एंट्री के वक्त से बीते चार दिनों की ही कोरोना निगेटिव रिपोर्ट मान्य होगी। जिन राज्यों को चिन्हित किया गया है उनमें महाराष्ट, उड़ीसा, केरल, त्रिपुरा, आंध्र प्रदेश, मणिपुर, गोवा, मेघालय, मिजोरम, अरुणाचल प्रदेश व नागालैंड शामिल है। यहां पॉजिटिविटी रेट तीन से ऊपर है। यूपी में कोरोना के सिर्फ 1036 एक्टिव केसहैं और अब संक्रमण काफी कम है।

ये भी पढ़ें- यूपी कोरोना: न बरतें लापरवाही, पहचानें डेल्ट, डेल्टा प्लस, साइटोमेगलो और कप्पा वेरिएंट के लक्षण

24 जुलाई से व्यवस्था होगी लागू-
यूपी स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने जानकारी देते हुए बताया कि 24 जुलाई से यह व्यवस्था लागू होगी। सभी हवाई अड्डे, रेलवे व बस स्टेशनों पर सख्ती की जाएगी। बाहर से आने वाले लोगों की रिपोर्ट चेक की जाएंगी। उन्होंने कहा कि यूपी में करीब 80 हजार से अधिक निगरानी कमेटियों अलर्ट मोड पर है। उन्हें बाहर से आ रहे लोगों पर नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं। उनसे कहा गया है कि अगर किसी ऐसे व्यक्ति के बारे में जानकारी मिले तो स्वास्थ्य विभाग को जरूर अवगत कराया जाए। उन्होंने कहा कि संक्रमण कम हुआ है, लेकिन समाप्त नहीं हुआ। संक्रमण की शृंखला को तोड़ने में हर नागरिक अपना योगदान दें।हमें निरंतर कोविड अनुरूप व्यवहारों का सख्ती से पालन करना होगा।

ये भी पढ़ें- कोरोना डेल्टा प्लस वेरिएंट व साइटोमेगलो कोविड को लेकर रहें सतर्क, न बरतें लापरवाही, यह हैं लक्षण

कोरोना टीकाकरण में लाएं और तेजी: सीएम
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी लगातार हालात पर नजर बनाए हुए हैं। उन्होंने टीम 9 संग बैठक में कहा कि प्रदेश में कोविड संक्रमण से बचाव एवं उपचार की व्यवस्था को हर स्तर पर मुकम्मल किया जाए। उन्होंने कहा कि ट्रेस, टेस्ट एण्ड ट्रीट’ नीति कोरोना संक्रमण की रोकथाम में अत्यंत कारगर सिद्ध हुई है। इस नीति को पूरी सक्रियता से लागू रखने की जरूरत है। साथ ही कोरोना टीकाकरण कार्य में और तेजी लाई जाए।

टीकाकरण के लिए लोगों को किया जाए जागरूक-
सीएम योगी ने कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए वैक्सीनेशन सबसे बड़ा सुरक्षा कवच है। इसलिए इसके प्रति लोगों को जागरूक किया जाए। बैठक में बताया गया कि अब तक प्रदेश में 4 करोड़ 15,60,132 वैक्सीन की डोज लगाई जा चुकी हैं। उन्होंने कहा कि सीएम हेल्प लाइन-1076 के माध्यम से वरिष्ठ नागरिकों से संवाद की व्यवस्था स्थापित की जाए। प्रतिदिन न्यूनतम 100 वृद्धजन को फोन कर उनसे स्वास्थ्य संबंधित जानकारी ली जाए, उनकी जरूरतें पूछी जाएं व उनकी समस्याओं का त्वरित समाधान किया जाए।

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned