scriptUP Government school open without books and teachers | यूपी: बीएसए के निरीक्षण में गायब मिले शिक्षक, हेड मास्टर समेत 33 का वेतन रुका | Patrika News

यूपी: बीएसए के निरीक्षण में गायब मिले शिक्षक, हेड मास्टर समेत 33 का वेतन रुका

UP Schools: उत्तर प्रदेश में 16 जून से स्कूल खोल दिए गए हैं। कहने को है कि स्कूल बखूबी चल रहे हैं। जब अफसर निरीक्षण करने पहुंचे तो पोल खुल गई।

लखनऊ

Updated: June 23, 2022 01:10:42 pm

प्रदेश सरकार ने पिछले 16 जून से परिषदीय विद्यालय खोल दिए है। सभी जगह शिक्षण कार्य की शुरुआत हो गई है। स्कूलों में बच्चे भी अब काफी संख्या में पहुंचने लगे है। लेकिन अब समस्या ये आ रही हैं कि कहीं छात्रों के पास किताबें नही हैं तो कहीं स्कूल ही नही है। और अब जब अचानक अफसरों ने निरीक्षण किया तो पता शिक्षक भी गायब है। बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने पिछले चार दिन के भीतर करीब एक सैकड़ा से अधिक परिषदीय विद्यालयों में निरीक्षण किए है। जिसमें 33 लोगों को अनुपस्थित पाया गया है। हालांकि बीएसए ने इन सभी का अनुपस्थित दिनांक का वेतन रोकते हुए एक सप्ताह के भीतर स्पष्टीकरण तलब किया है।
UP Government school open without books and teachers
UP Government school open without books and teachers
इस वर्ष प्रदेश सरकार ने गर्मी की छुट्टियों के बाद 16 जून से परिषदीय प्राथमिक व जूनियर विद्यालयों में शिक्षण कार्य शुरु कर दिया है। स्कूलों में बच्चे भी पढ़ने के लिए पहुंचने लगे है। वहीं दूसरी ओर बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारी पहले ही दिन से स्कूलों का निरीक्षण कर रहे है। जिसमें काफी शिक्षकों को अनुपस्थित पाया गया है। सभी से बीएसए ने अपनी निरीक्षण रिपोर्ट बीसए को भेजी है। इनमें 18 शिक्षामित्र, 10 सहायक अध्यापक, एक प्रधानाध्यापक व चार अनुदेशक शामिल है। बीएसए राजीव रंजन मिश्र ने खंड शिक्षाधिकारियों की रिपोर्ट के आधार पर इन सभी शिक्षकों, शिक्षामित्रों व अनुदेशकों का अनुपस्थित तिथि का वेतन रोक दिया है। सभी को निर्देशित किया कि वह लोग एक सप्ताह के भीतर अपनी अनुपस्थिति के संबंध में लिखित तौर पर जवाब दाखिल करें।
यह भी पढ़ें

छात्रों के पास नहीं है किताबें, स्कूल खोलकर क्या पढ़ा रही योगी सरकार

पेड़ के नीचे पढ़ रहे बच्चे

रामपुर में बच्चों के पास स्कूल तक नहीं है। विद्यालय के प्रधानाचार्य अभिषेक मिश्रा ने बताया दोपहर के समय उमस के साथ गर्म हवा चलने से बच्चों का बुरा हाल हो जाता हैं। विद्यालय की ईमारत पुरानी होने के कारण विभाग द्वारा जमीदोज करा दिया गया था। तब से लेकर अब तक बच्चों को बरगद के पेड़ के नीचे मजबूरी में पढ़ना पड़ रहा हैं। वर्तमान में वद्यिालय में पंजीकृत छात्रों की संख्या 132 हैं।
इटावा में बच्चों के नहीं मिली किताबें

परिषदीय स्कूलों में सर्व शिक्षा अभियान के तहत शासन से किताबों का निःशुल्क वितरण किया जाता है। इस सत्र में अभी तक किताबें नहीं पहुंची है। पिछले बर्षो में कई चरणो मे किताबें आ जाती थी। इससे नौनिहाल अपनी पढाई शुरू कर देते थे। इस बार किताबों को लेकर छात्र आस लगाये बैठे है। कानपुर, फतेहपुर, इटावा आदि तमाम जिलों में किताबें नही पहुंची. रोजाना विद्यालय आते है गुरू जी से किताबे मिलने की जानकारी करते है लेकिन उनको अभी तक पुस्तके नही मिली है। प्राथमिक विद्यालय हर्राजपुर के प्रधानाध्यापक राहुल शुक्ला के अनुसार किताबे न होने के चलते ब्लैकबोर्ड का ही सहारा लेकर पढा रहे है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान में 26 से फिर होगी झमाझम बारिश, यहां बरसेगी मेहरबुध ने रोहिणी नक्षत्र में किया प्रवेश, 4 राशि वालों के लिए धन और उन्नति मिलने के बने योगबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयपनीर, चिकन और मटन से भी महंगी बिक रही प्रोटीन से भरपूर ये सब्जी, बढ़ाती है इम्यूनिटीबेहद शार्प माइंड के होते हैं इन राशियों के बच्चे, सीखने की होती है अद्भुत क्षमतानोएडा में पूर्व IPS के घर इनकम टैक्स की छापेमारी, बेसमेंट में मिले 600 लॉकर से इतनी रकम बरामदझगड़ते हुए नहर पर पहुंचा परिवार, पहले पिता और उसके बाद बेटा नहर में कूदा3 हजार करोड़ रुपए से जबलपुर बनेगा महानगर, ये हो रही तैयारी

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: CM उद्धव ठाकरे ने शिवसेना के बागी विधायकों को दिया 24 घंटे का अल्टीमेटम, कही ये बड़ी बातMaharashtra Political Crisis: नासिक में एकनाथ शिंदे का भारी विरोध, शिवसैनिकों ने पोस्टर पर कालिख पोती, शिंदे ने टाला मुंबई आने का प्लानMaharashtra Political Crisis: गुवाहटी के होटल में विधायकों पर पानी की तरह बहाया जा रहा पैसा, जानिए रहने और खाने पर कितना हो रहा खर्चPresidential Election: NDA प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू ने सोनिया गांधी, ममता बनर्जी व शरद पवार से की बात, सपा का यशवंत सिन्हा को सर्मथन का ऐलानगुजरात दंगाः जाकिया जाफरी को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका, SIT की क्लीन चिट के खिलाफ याचिका खारिजMumbai News Live Updates: अजीत पवार बोले- MVA के पास अभी भी बहुमत, उद्धव ठाकरे से मिलने शाम 6.30 बजे मातोश्री जाएंगे एनसीपी नेताMaharashtra Political Crisis: शरद पवार से मुलाकात के बाद संजय राउत के तेवर सख्त, बोले-फ्लोर टेस्ट में जीतेंगे, बागियों से बातचीत का निकल गया वक्तMaharashtra Political Crisis: केंद्रीय मंत्री रावसाहेब दानवे ने उद्धव सरकार पर कसा तंज, बोले-ये लोग आपस में झगड़ कर खुद गिरा लेंगे सरकार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.