यूपी पुलिस ने छात्रों के लिए छेड़ी नई मुहिम, अगर किसी ने किया शोरगुल तो होगी कड़ी कार्रवाई

यूपी पुलिस ने पूरे प्रदेश में यूपी बोर्ड (UP Board) परीक्षाओं को देखते हुए 15 फरवरी से 31 मार्च तक विशेष अभियान चलाने की तैयारी की है। इ

लखनऊ. यूपी बोर्ड परीक्षाओं (UP Board Examinations) को देखते हुए उत्तर प्रदेश पुलिस (UP Police) ने नई पहल की शुरूआत की है। यूपी पुलिस ने पूरे प्रदेश में यूपी बोर्ड (UP Board) परीक्षाओं को देखते हुए 15 फरवरी से 31 मार्च तक विशेष अभियान चलाने की तैयारी की है। इसके तहत बोर्ड परीक्षाओं में शामिल हो रहे छात्र एवं छात्राएं अगर शोरगुल से डिस्टर्ब हो रहे हैं तो वे यूपी पुलिस की 112 सेवा पर कॉल कर शिकायत कर सकते हैं। बच्चों की पढ़ाई के लिए पुलिस फौरन मौके पर पहुंचेगी और शोरगुल बंद कराएगी।

ये भी पढ़ें - UP Board Exam 2020 : समस्याओं से निपटने के लिए फोन नंबर जारी, 108 एम्बुलेन्स भी रहेगी मुस्तैद

इसके साथ ही समझाने के बाद भी नियमों का उल्लंघन करने पर कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी। बता दें कि प्रदेश में शादी विवाह के कार्यक्रम भी चल रहे है। ऐसी स्थिति में पुलिस के लिए इसे लागू करना बहुत बड़ी चुनौती होगी। हालांकि पुलिस ने दावा किया है कि बच्चों की पढ़ाई के लिए चाहे बैंड-बाजा हो या अन्य शोरगुल, पुलिस इसे बंद करा कर ही रहेगी और निर्धारित मानक से अधिक आवाज होने पर यूपी पुलिस द्वारा कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

 

छात्र ऐसे ले सकते हैं मदद

अगर किसी छात्र को तेज आवाज के कारण पढ़ाई में परेशानी हो रही है तो वह 112 पर कॉल कर सकता है या सोशल मीडिया के अन्य माध्यमों से पुलिस से सहायता ले सकता है। ध्वनि प्रदूषण के खिलाफ ये अभियान पूरे प्रदेश में एक साथ चलाया जाएगा। 112 पर कॉल आते ही शिकायत दर्ज कर पुलिस रिस्पांस व्हीकल (PRV) को तत्काल मौके पर भेजा जाएगा। पीआरवी मौके पर जाकर ध्वनि प्रदूषण को बंद करने के लिए निर्देश देगी। उसे चेतावनी देकर छोड़ा जा सकता है, लेकिन ऐसे लोग और संस्थाएं जो निर्देश के बाद भी ध्वनि प्रदूषण फैलाते हुए बच्चों की पढ़ाई में व्यवधान पैदा करेंगे तो उनके खिलाफ संबंधित थाना स्तर पर कार्रवाई की जाएगी।

ये भी पढ़ें - धुन्नी सिंह ने 14 कर्मचारी किए निलंबित, कर्मचारी कल्याण निगम में 11.48 करोड़ का गबन

इस मामले में डीजीपी का कहना है कि अभियान से ध्वनि प्रदूषण को लेकर जागरूकता बढ़ेगी। प्रदेश के डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने कहा कि इस अभियान का उद्देश्य प्रदूषणरहित बेहतर जीवन शैली को बढ़ावा देना है। हम आशा करते हैं कि अभियान की अवधि की समाप्ति तक जागरूकता बढ़ जाएगी। ध्वनि प्रदूषण करने वालों के खिलाफ लगातार कार्रवाई होती रहेगी।

Show More
Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned