यूपी उपचुनावः सपा प्रत्याशी सबसे अमीर, इन पर हैं सर्वाधिक मुकदमे दर्ज, एडीआर रिपोर्ट में हुआ खुलासा

- यूपी उपचुनाव में 34 उम्मीदवार करोड़पति, भाजपा ने नहीं दिया दागियों को टिकट
- निर्दलीय प्रत्याशी शालनी मोहन देती हैं सबसे अधिक आयकर
- निर्दलीय उम्मीदवार धनंजय सिंह के खिलाफ सर्वाधिक आपराधिक

By: Abhishek Gupta

Published: 30 Oct 2020, 04:17 PM IST

लखनऊ. यूपी की सात विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव (UP upchunav) के लिए 88 उम्मीदवार मैदान में हैं। इनमें से 34 उम्मीदवार करोड़पति है। 18 उम्मीदवारों के विरुद्ध आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं, इनमें 15 के खिलाफ गंभीर मामले दर्ज हैं। भाजपा (BJP) ने एक भी दागी नेता को टिकट नहीं दिया है। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफार्म (एडीआर) की रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है। इसके अनुसार चुनाव मैदान में उतरे 47 उम्मीदवारों की शैक्षिक योग्यता स्नातक या उससे अधिक है, वहीं 26 उम्मीदवारों की शैक्षिक योग्यता पांचवी से बारहवीं कक्षा पास होने के बीच की है। इस उपचुनाव में नौ महिला उम्मीदवार भी हैं।

ये भी पढ़ें- Deepotsav 2020: इतिहास के पन्नों पर लिखा जाएगा इस बार अयोध्या का दीपोत्सव

सपा का प्रत्याशी सबसे अमीर-
एडीआर की रिपोर्ट के अनुसार 34 उम्मीदवार करोड़पति हैं, जिनमें 15 उम्मीदवारों की संपत्ति 15 करोड़ रुपये से अधिक है। सबसे अमीर प्रत्याशी देवरिया सीट से सपा के ब्रह्माशंकर त्रिपाठी हैं, जिनके पास 31 करोड़ रुपये हैं। कुल उम्मीदवारों की औसतन संपत्ति 2.91 करोड़ रुपये है। इनमें सबसे आगे सपा है, जिनके प्रत्याशियों की औसत सम्पत्ति 13.69 करोड़ रुपए है। इसके बाद है बसपा, जिनके प्रत्याशियों की 2.89 करोड़ रुपये की औसत संपत्ति है। वहीं भाजपा के प्रत्याशियों की औसत संपत्ति 2.45 करोड़ रुपये की है औरकांग्रेस के प्रत्याशियों की औसत संपत्ति 2.31 करोड़ रुपये है। सबसे कम संपत्ति वाले उम्मीदवारों में निर्दलीय प्रत्याशी राहुल भाटी, राजन यादव व सतीश कुमार हैं।

ये भी पढ़ें- पूर्व केंद्रीय मंत्री समेत 16 बड़े नेता अखिलेश यादव की साइकिल पर हुए सवार, देखें लिस्ट, भाजपा को भी झटका

निर्दलीय प्रत्याशी देती हैं सबसे अधिक आयकर-

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफार्म की रिपोर्ट कहती है कि जौनपुर की मल्हानी सीट से निर्दलीय उतरीं डॉ.शालनी मोहन सहाय सबसे अधिक आयकर देने वाली प्रत्याशी हैं। देवरिया से चुनाव लड़ रहे सपा प्रत्याशी ब्रह्माशंकर त्रिपाठी इस सूची में दूसरे स्थान पर तो मल्हानी सीट से चुनाव मैदान में उतरे बसपा प्रत्याशी जय प्रकाश दुबे तीसरे स्थान पर हैं।

निर्दलीय पर सर्वाधिक आपराधिक मामले-

एडीआर की रिपोर्ट के अनुसार कुल 18 उम्मीदवारों के विरुद्ध आपराधिक मामले दर्ज हैं। इनमें समाजवादी पार्टी के 6 में से 5, बहुजन समाज पार्टी के 7 में से 5, कांग्रेस के 6 में से एक प्रत्याशी दागी है। भाजपा के एक भी प्रत्याशी पर कोई मामला दर्ज नहीं हैं। पार्टी की तरफ से मैदान में उतरा एक भी प्रत्याशी अपराधी प्रवृत्ति का नहीं है। वहीं तीन निर्दलीय उम्मीदवारों ने पर्चा भरते वक्त अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किए हैं। मल्हनी के निर्दलीय उम्मीदवार धनंजय सिंह के खिलाफ सर्वाधिक आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। इनमें सेएक के विरुद्ध दुष्कर्म का मामला भी दर्ज है। एक उम्मीदवार पर हत्या व चार के विरुद्ध हत्या के प्रयास के गंभीर मामलेदर्ज हैं।

एक नजर में-

- देवरिया सीट से सपा प्रत्याशी ब्रह्माशंकर त्रिपाठी 31 करोड़ रुपये की संपत्ति के साथ सबसे अमीर।

- मल्हनी के निर्दलीय उम्मीदवार धनंजय सिंह पर सबसे ज्यादा आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं।

- जौनपुर की मल्हानी सीट से चुनाव मैदान में उतरीं डॉ.शालनी मोहन सहाय सबसे अधिक आयकर देने वाली उम्मीदवार हैं।

- निर्दलीय प्रत्याशी राहुल भाटी हैं सबसे कम संपत्ति वाले उम्मीदवार

- भाजपा का एक भी प्रत्याशी अपराधी प्रवृत्ति का नहीं

BJP
Show More
Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned