यूपी में पिंक बसें चलाने को मंजूरी, एसी बस का किराया होगा कम

महिलाओं के लिए पिंक बसों के संचालन और माय सेफ बस योजना के तहत 50 बसें चलाने की मंजूरी दी गई है।

By: Laxmi Narayan

Published: 04 Jan 2018, 07:28 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के निदेशक मंडल की बैठक में गुरुवार को कई महत्वपूर्ण लिए गए हैं। बैठक में महिलाओं के लिए पिंक बसों के संचालन और माय सेफ बस योजना के तहत 50 बसें चलाने की मंजूरी दी गई है। इसके साथ ही महिला सशक्तिकरण के लिए माय सेफ बस योजना के तहत भी बसें चलाये जाने का निर्णय निदेशक मंडल की बैठक में लिया गया है।

यह भी पढें - पहाड़ की बर्फीली हवा ने यूपी की हाड़ कपाई, 50 से ज्यादा लोगों की हुई मौत

बसों में लगेंगे सीसीटीवी कैमरे

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के निदेशक मण्डल की 217वीं बैठक में कई एजेंडा रखे गए। बैठक में महिला सशक्तीकरण के लिए निर्भया फण्ड अनुदान से निगम की लगभग सभी बसों में 03 सीसीटीवी कैमरे, डिजिटल विडियो रिकार्डर व पैनिक बटन लगाने पर निर्णय लिया गया। यह पूरा सिस्टम परिवहन निगम के कन्ट्रोल रूम एवं आधुनिक आईटी प्रणाली से लैस इण्टरसैप्टर वाहनों और डायल-100 से भी जुडा होगा।

यह भी पढें - लंबित परियोजनाएं पूरी करने के लिए राजनाथ सिंह ने योगी सरकार को लिखी चिट्ठी

पिंक बस और माय सेफ बस योजना की होगी शुरुआत

इसके साथ ही भारत सरकार द्वारा प्राप्त अनुदान से महिला सशक्तिकरण के प्रयासों के अन्तर्गत 50 पिंक बसों के प्रारम्भिक व गंतव्य स्थानों पर वातानुकूलित लाऊंज स्थापित करना व कैश जमा करने की समुचित व्यवस्था की संस्तुति दी गई। महिला सशक्तिकरण के लिए माय सेफ बस योजना के अन्तर्गत 50 वातानुकूलित बसों का संचालन किया जाएगा जो विशेष रूप से महिलाओं के लिए ही संचालित होगी। हाईएण्ड और साधारण वातानुकूलित बसों को सर्वसुलभ बनाने के उददेश्य से इनके किराये का पुनः निर्धारण कर किराया कम करने का निर्णय लिया गया।

यह भी पढें - फेफड़े तक नहीं पहुंच रही थी ऑक्सीजन, डॉक्टरों ने ऑपरेशन कर बचाई बच्चे की जान

यह भी पढें - बोले संदीप पाण्डेय - अधिकारियों से बेहतर है भीख मांगने वाले

Laxmi Narayan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned