Quick Read: खेत में मवेशी घुसने को लेकर विवाद, पेड़ से बांधकर युवक को पीट पीटकर मार डाला

कोतवाली के पूरे गणेश लाल मजरे भरेथा गांव में धान की नर्सरी में मवेशी घुसने के विवाद में उलाहना देने पर एक पक्ष के लोगों ने युवक को पेड़ में बांधकर जमकर पीटा।

By: Karishma Lalwani

Published: 04 Jun 2021, 02:00 PM IST

युवक को पेड़ पर बांधकर पीटा, मौत

अमेठी. कोतवाली के पूरे गणेश लाल मजरे भरेथा गांव में धान की नर्सरी में मवेशी घुसने के विवाद में उलाहना देने पर एक पक्ष के लोगों ने युवक को पेड़ में बांधकर जमकर पीटा। गुरुवार शाम पूरे गणेश लाल गांव निवासी 30 वर्षीय राम भरत उर्फ बसंत श्रीवास्तव की धान की नर्सरी में पड़ोसी उमेश पांडेय की गाय घुस गई। जिस पर राम भरत के घर के लोगों ने उलाहना दिया। इसी बात को लेकर दूसरा पक्ष नाराज हो गया। आरोपित उमेश, नीलेश व निशा और दो अज्ञात युवकों ने राम भरत को पेड़ में बांधकर पीटा। पत्नी सुरभि श्रीवास्तव लोगों से पति को छुड़ाने की मिन्नत मांगती रही, लेकिन आरोपितों ने उनकी एक न सुनी। आरोप है कि शाम को आरोपित को अपने घर के कमरे में ले जाकर पिटाई की। इसके बाद शराब में जहर पिला दिया। परिजन इलाज के लिए देर शाम सीएचसी ले गये। हालत गंभीर देख चिकित्सकों ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया। जिला अस्पताल में हालत गंभीर देख चिकित्सकों ने लखनऊ रेफर कर दिया। शुक्रवार सुबह रास्ते में युवक की मौत हो गई। परिजनों ने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

कानपुर के औद्योगिक क्षेत्र की फैक्ट्री में लगी आग

कानपुर. कोरोना वायरस के कहर में भी यहां के औद्योगिक क्षेत्र में हादसे जारी है। रायपुर स्थित प्लास्टिक फैक्ट्री में गुरुवार देर रात शॉर्ट सर्किट से आग लग गई। फैक्ट्री में सिलिंडर विस्फोट होने के कारण आग और भी विकराल हो गई। जिले से छह व नगर से दो दमकल गाडिय़ां आग बुझाने में लगी हैं। सुबह 11 बजे के करीब आग पर काबू पाया जा सका।रायपुर में स्थित गणेश इकोस्फेयर प्रा. लि. फैक्ट्री में गुरुवार रात 3:30 बजे शार्ट सर्किट से आग लग गई। फैक्ट्री के अंदर आक्सीजन सिलिंडर फटने से आग ने विकराल रूप धारण कर लिया। आग पर नियंत्रण के लिए माती फायर स्टेशन से तीन, रसूलाबाद, मैथा, सिकंदरा से एक एक गाड़ी को मौके पर भेजा गया है, लेकिन इसके बाद भी आग पर काबू न होते देख कानपुर से भी दो गाड़ियों को बुलाना पड़ा। दमकल कर्मियों की कड़ी मशक्कत से करीब आठ घंटे बाद आग पर काबू पाया जा सका, लेकिन तब तक फैक्ट्री के दो प्लांट पूरी तरह से नष्ट हो गए।

झगड़ा छुड़ाने गई महिला को पीट पीटकर मार डाला

गोरखपुर. कैंपियरगंज थाना क्षेत्र के चैतरिया गांव में दो पक्षों में मारपीट के दौरान बीच बचाव करने को लेकर नाराज मनबढ़ों ने गांव की एक महिला की मनबढ़ों ने पीट-पीटकर हत्या कर दी। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतका के पुत्र की तहरीर पर पुलिस ने आरोपितों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया है। मृतका का नाम कलावती देवी (65) है। वह चैतरिया की ही निवासिनी थी। कलावती देवी के पुत्र देवेंद्र नाथ मिश्र ने कैंपियरगंज थाने में तहरीर देकर आरोप लगाया कि गांव की संगीता देवी अपने समर्थकों के साथ सुबह 10 बजे ग्रामवासी दीनबंधु ओझा के घर पर चढ़कर मारपीट कर रहे थे। इस दौरान देवेंद्र के स्वजन ने दोनों पक्षों को समझा-बुझाकर मामले को शांत किया। इससे खार खाए संगीता व उनके समर्थकों ने उनके घर में घुसकर स्वजन को मारने पीटने लगे। इस दौरान उनकी मां कलावती देवी बीच बचाव करने लगीं तो मनबढ़ों ने उन्हें भी मारा पीटा और उन्हें धक्का दे दिया। इससे वह गिर गईं और उनकी मौत हो गई। उनकी तहरीर पर पुलिस ने संगीता देवी, हरिशन्द्र, अमन, दीनबंधु ओझा, करिश्मा देवी के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत कर शव को कब्जे में ले लिया।

ऑक्सीजन के नाम पर खाली सिलेंडर, मरीज की मौत

गोरखपुर. गोरखपुर में मरीज को ऑक्सीजन के नाम पर खाली सिलेंडर लगा दिया गया, इससे उनकी मौत हो गई। अस्पताल प्रबंध पर गंभीर आरोप लगाते हुए स्वजन ने मामले की शिकायत सीएमओ से की है। कूड़ाघाट निवासी प्रिंस सिंह ने कहा कि मेरे बाबा इंद्रजीत सिंह की तबीयत गुरुवार को खराब हुई। सीने में दर्द की शिकायत लेकर एक निजी अस्पताल में पहुंचा। उन्होंने कोविड अस्पताल होने की वजह से भर्ती करने से मना कर दिया। इस बीच एक और डॉक्टर से संपर्क किया गया तो उन्होंने बेतियाहाता स्थित आस्था हॉस्पिटल में जाने की सलाह दी। इस बीच बाबा को ऑक्सीजन सपोर्ट पर लेकर हॉस्पिटल पहुंचे। उन्हें आक्सीजन लगाया गया था लेकिन तबीयत बिगड़ने लगी। डॉक्टर से देखने का अनुरोध किया गया तो वह उल्टा-सीधा बोलने लगा। एंबुलेंस के साथ आए टेक्नीशियन को बुला कर दिखाया तो पता चला कि अस्पताल की ओर से लगाया गया आक्सीजन सिलेंडर खाली है। इस बीच बाबा की मौत हो गई। मौत के बाद भी तीन हजार रुपये जमा कराए गए।

तालाब में डूब रहे साथी को बचाने के लिए डूब गए पांच लोग

गोरखपुर. पड़ोसी जनपद गोंडा के खोडारे थाना क्षेत्र के रसूलपुर खान मिश्रौली गांव में तालाब में डूबने से पांच बच्चों की मौत हो गई। डीएम गोंडा मारकंडेय शाही ने मौके पर पहुंच घटना की जानकारी ली। गुरुवार को गांव निवासी अरविंद कुमार पांडेय का पुत्र आठ वर्षीय चंचल उर्फ आदित्य, छह वर्षीय शिवाकांत पांडेय, अरविंद के भाई विरेंद्र की 12 वर्षीय पुत्री मुस्कान व चचेरे भाई सुरेंद्र पांडेय की दो पुत्रियां आठ वर्षीय रागिनी व 10 वर्षीय प्रकाशिनी घर से करीब 400 मीटर दूर स्थित तालाब से मिट्टी निकालने गई थी। इसी बीच किसी एक बच्चे का पैर फिसल गया और वह तालाब में डूबने लगा। तालाब में डूबते बच्चे को देख अन्य बच्चे भी उसे बचाने में तालाब में कूद गए। जिससे एक एक कर सभी डूब गए। तालाब में डूब रहे बच्चों को देख तालाब किनारे खेल रहे अन्य बच्चे इसकी जानकारी गांव वालों को दी। मौके पर पहुंचे एक व्यक्ति ने तत्काल तालाब में कूदकर बच्चों को बचाने का प्रयास किया, पर कामयाब नहीं हो पाया।

ये भी पढ़ें: Quick Read: कोरोना के कारण वंचित छात्रों को मिलेगी मुफ्त शिक्षा

ये भी पढ़ें: Quick Read: मंदिर में घुसकर महंत की बेरहमी से पिटाई, नकदी और मोबाइल लेकर भागे चोर

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned