लड़की के पिता ने भाई के साथ मिलकर किया मोहन लाल का कत्ल, छोटी बेटी से था संबंध

लड़की के पिता ने भाई के साथ मिलकर किया मोहन लाल का कत्ल, छोटी बेटी से था संबंध

Rafatuddin Faridi | Publish: Sep, 02 2018 07:44:28 PM (IST) Maharajganj, Uttar Pradesh, India

पुलिस ने किया मोहन लाल मौर्य हत्याकांड का खुलासा।

महराजगंज. जिले के नौतनवां थाना क्षेत्र के गांव धोतियहवा के टोला चखनी में बीते तीन जुलाई की रात मोहनलाल मौर्य की हत्या का खुलासा पुलिस ने रविवार को कर दिया। पुलिस की जांच पड़ताल में अवैध संबंध के चलते मोहनलाल मौर्य की हत्या का मामला पुलिस के सामने आयी। पुलिस ने हत्या में शामिल दो आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

 

बताया कि नौतनवां थाना क्षेत्र के गांव धोतिअहवा टोला चखनी के मोहनलाल मौर्य की चौराहे पर चाय की दुकान थी। बीते तीन जुलाई की रात वह गायब हो गया । परिजन खोजबीन किए लेकिन पता नहीं चला। पांच जुलाई को भठवा गांव के पास रोहिन नदी में उतराती एक लाश मिली। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गला घोंटकर मृत्यु का होना पाया गया था। पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा पंजीकृत कर जांच में जुटी थी। रविवार को पुलिस ने घटना का खुलासा कर दो लोगों को हिरासत में लेकर जेल भेज दिया।

 

थानाध्यक्ष केपी यादव ने बताया कि अपनी टीम के इंस्पेक्टर यदुनंदन यादव, कांस्टेबल रोहित शर्मा तथा मनीष पटेल के साथ हत्या के आरोपी थाना क्षेत्र के गांव धोतिअहवा टोला चखनी के राधेश्याम यादव तथा इन्द्राशन यादव को अड्डा बाजार स्थित पूर्वांचल बैंक की शाखा के पास से रविवार की सुबह लगभग पांच बजे गिरफ्तार कर लिया गया। कड़ाई से पूछताछ करने के बाद दोनों ने जुर्म कबूल कर लिया। आरोपी ने बताया कि मोहन लाल के चाय की दुकान के बगल में राधेश्याम यादव का घर है जिसमें परिवार के साथ रहते हैं।


राधेश्याम की छोटी लड़की से मृतक मोहनलाल मौर्य का छः माह पूर्व से अवैध संबंध हो गया था। दुकान के पीछे स्थित कमरे में लड़की का मोहन लाल के पास आना जाना था। जिससे समाज में बदनामी हो रही थी इससे लड़की की शादी का रिश्ता भी टूट गया था। काफी समझाने के बाद भी मोहन लाल नहीं मान रहा था। घटना की रात राधेश्याम यादव ने लड़की को मोहनलाल के कमरे से निकलते हुए देख लिया तो क्रोध में आकर अपने भाई इन्द्राशन यादव के साथ मोहन लाल के कमरे में गया और भैंस बांधने वाली रस्सी से गला कस कर हत्या कर दिया। तथा रात में ही लाश को तथा मृतक मोहन लाल के मोबाइल को रोहिन नदी में फेंक दिया। दोनों आरोपी को 302 तथा 201 आई पीसी के तहत मुकदमा पंजीकृत कर जेल भेज दिया गया।

By Yashoda Srivastava

Ad Block is Banned