script अपने ही घर में हारे मंत्री डंग तो गरोठ में पहली बार कांग्रेस ने जीत हासिल की | mandasur election result news | Patrika News

अपने ही घर में हारे मंत्री डंग तो गरोठ में पहली बार कांग्रेस ने जीत हासिल की

locationमंदसौरPublished: Dec 09, 2023 10:24:55 am

Submitted by:

Nilesh Trivedi

अपने ही घर में हारे मंत्री डंग तो गरोठ में पहली बार कांग्रेस ने जीत हासिल की

bjp_-_congress.jpg
मंदसौर.
विधानसभा चुनाव के नतीजे 3 दिसंबर को आए। इसके बाद से अब तक समीक्षाओं का दौर चल रहा है। चार विधानसभा वाले जिले में कांग्रेस ने मंदसौर में तो भाजपा ने गरोठ, सुवासरा व मल्हारगढ़ सीट में जीत हासिल की। लेकिन चुनाव परिणाम चौकानें वाले रहे। अब तक के इतिहास में पहली बार कांग्रेस ने गरोठ जीता तो कैबिनेट मंत्री हरदीपसिंह डंग भले ही चुनाव जीतने में सफल रहे लेकिन वह अपने गृहनगर सुवासरा से ही हार गए। तो भानपुरा में भाजपा ने तो मंदसौर में कांग्रेस ने अपना प्रदर्शन सुधारा और बढ़त का अंतर काफी कम किया। हालांकि जिले के 11 निकायों में देखे तो कांग्रेस को 3 व बाकी 8 निकायों में कांग्रेस को बढ़त मिली। शहरीय क्षेत्र में मतदाताओं ने भाजपा पर भरोसा जताया तो वही गरोठ, भानपुरा व सुवासरा कांग्रेस के पक्ष में गया। भाजपा व कांग्रेस दोनों प्रमुख राजनीतिक दल पोलिंग बूथ के हिसाब से शहर व गांव में मिले वोटों का गणित जुटाकर समीक्षा करने में जुटे है।

मंदसौर में अधिकांश वार्डो में घटी बढ़त तो कई पोलिंगों पर पहली बार मिली हार
मंदसौर विधानसभा में हार की समीक्षा के दौरान हर कोई मंदसौर शहर में भाजपा की बढ़त अत्यधिक कम होना ही कारण बता रहा है। मंदसौर शहर में भाजपा के सभापतियों से लेकर अधिकांश पार्षदों के वार्डो में बढ़त पिछले चुनावों से कम हो गई। यहां तक की नगर पालिका के चुनावों में पार्षद जीतने वोटों से मिले उससे आधे वोट ही इस बार भाजपा को मिले तो वहीं कई ऐसे पोलिंग बूथ भी है यहां बढ़त का अंतर आधे से कम हो गया तो कई पोलिंग बीजेपी पहली बार हार भी गई। भाजपा की समीक्षा में जहां अंतर कम होना चिंता बढ़ा रहा है तो मंदसौर शहर में अपने प्रदर्शन से कांग्रेस खुश नजर आ रही है।

सुवासरा, गरोठ, भानपुरा में जीती कांग्रेस
कैबिनेट मंत्री हरदीपसिंह डंग ने चुनाव भले ही बड़े अंतर से जीता लेकिन वह अपने ही गृहनगर सुवासरा में ही हार गए। सुवासरा में भाजपा को 3681 मत मिले तो यहां कांग्रेस को 4606 वोट मिलें। इस तरह सुवासरा में भाजपा 925 वोटों से हार गई। वहीं गरोठ नगर में पहली बार कांग्रेस ने अब तक के चुनाव इतिहास में जीत हासिल की। गरोठ में कांग्रेस के सुभाष सोजतिया को 6036 वोट मिलें तो वहीं भाजपा के चंदरसिंह सिसौदिया को 6036 वोट मिलें। गरोठ पहली बार कांग्रेस 448 वोटों से जीतने में सफल रही तो वहीं भानपुरा नगर में कांग्रेस को 6694 वोट मिलें और भाजपा को 5766 वोट मिलें। यहां पर 928 वोटों से कांग्रेस ने जीत हासिल की। लेकिन भानपुरा में कांग्रेस को हर चुनाव में मिलने वाली बढ़त का अंतर इस बार कम हुआ और भाजपा ने प्रदर्शन सुधारा।

मंदसौर में कांग्रेस को बड़ा फायदा, नगरी में भाजपा रही आगे
जिले की चार विधानसभा सीटों में कांग्रेस को सिर्फ मंदसौर में ही जीत हासिल हुई। इसमें सबसे बड़ा कारण मंदसौर शहरीय क्षेत्र में कांग्रेस के प्रदर्शन को है। शहर में इस बार कांग्रेस ने जबदस्त प्रदर्शन सुधारा और बढ़त का अंतर काफी कम किया। मंदसौर शहर में बीजेपी को 39635 तो कांग्रेस को 35895 वोट मिलें। वर्ष 2018 के चुनाव में भाजपा को मंदसौर शहर से 11 हजार से अधिक की बढ़त थी। वहीं पिछले साल हुए नगर पालिका चुनाव में पूरे शहर में भाजपा को बढ़ी बढ़त मिली थी। ऐसे में इस बार कांग्रेस ने बड़ा अंतर कम किया। वहीं नगरी में भाजपा ने 425 वोटों से जीत हासिल की।

ट्रेंडिंग वीडियो