पांचवी बार शिवना ने किया भगवान पशुपतिनाथ का जलाभिषेक

पांचवी बार शिवना ने किया भगवान पशुपतिनाथ का जलाभिषेक
mandsaur news

Vikas Tiwari | Updated: 13 Sep 2019, 12:12:27 PM (IST) Mandsaur, Mandsaur, Madhya Pradesh, India

पांचवी बार शिवना ने किया भगवान पशुपतिनाथ का जलाभिषेक

मंदसौर.
जिले में बारिश का दौर लगातार जारी है। लगातार हो रही बारिश से जिले के स भी बांध और नदियां उफान पर है। इस बारिश में पांचवी बार शिवना ने भगवान पशुपतिनाथ का जलाभिषेक किया है।
अब तक जिले में औसत बारिश ६३.१५ इंच हो गई है। गांधीसागर के लगातार पांचवे दिन भी गेट खुले रहे। गत दिवस १० गेट खुले रहे। तो रेतम बैराज के ६ गेट खुले रहे। वहीं शिवना सहित जिले के अन्य नदी-नाले उफान पर रहा तो पुल-पुलियाओं पर पानी होने के कारण जिले में कई जगहों पर आवागमन बंद रहा। इस बार की बारिश ने जिले में पिछले ५ दशकों का रिकॉर्ड तोड़ दिया। औसत से दोगुना से भी अधिक बारिश हो गई तो इसी बारिश में शिवना नदी कई बार उफान पर आई। इसके अलावा कई अन्य नदी-नाले भी गुरुवार को उफान पर रही। भानपुरा में तहसील के समीप बिजली गिरने से तहसील के कम्प्यूटर सहित पूरा नेटवर्क खराब हो गया। जिले के जानकार बता रहे है कि इस बार जितना पानी गिरा उतना पिछले ५० सालों में नहीं गिया। वहीं गांधीसागर से भी इस बार जितना पानी छोड़ा जा रहा है, उतना पहले कभी नहीं छोड़ा गया।
शिवना भी दिनभर रही उफान पर
लगातार बारिश के बीच शिवना नदी पर उफान पर गुरुवार को दिनभर रही। बुधवार को बारिश से जिलेवासियेंा को राहत मिली थी लेकिन बुधवार-गुरुवार की मध्य रात से शुरु हुई तेज बारिश का दौर शुरु हुआ जो गुरुवार दोपहर तक जारी रहा। इसके चलते शिवना नदी भी उफान पर रही। दिनभर शिवना में बाढ़ के हालात बने रहे। शिवना की पशुपतिनाथ क्षेत्र में छोटी पुलिया व मुक्तिधाम क्षेत्र में छोटी पुलिया के ऊपर से दिनभर पानी बहता रहा। ऐसे में सीतामऊ मार्ग बंद रहा। यहां पुलिस बल दोनों और तैनात रहा। वहीं नाहरगढ़-बिल्लोद मार्ग की पुलिया पर पानी होने के कारण भी सुबह से ही आवागमन बंद रहा।
कलेक्टर ने डीईओ को दिए निर्देश
बारिश के बीच कलेक्टर मनोज पुष्प ने डीईओ आरएल कारपेंटर को निर्देश जारी किए। इसमें बारिश के दौर में जिले की तहसीलों में परिस्थिति के अनुसार निर्णय लेकर अवकाश घोषित करने के निर्देश दिए। साथ ही कहा कि बारिश के दौर में जर्जर स्कूल भवन में कक्षाएं संचालित नहीं हो तो नदी-नालों की पुल-पुलियाओं पर पानी होने की स्थितियों में वाहन नहीं निकालें जाए। बावजूद स्कूल संचालक कलेक्टर के नियमों को मानने को तैयार नहीं। शामगढ़ क्षेत्र के सगोरिया नाले की पुलिया पर पानी होने के बाद भी स्कूली विद्यार्थियों को लेकर सुबह वाहन गुजरा। वहीं दलोदा-निंबादे रोड की पुलिया पर भी पानी होने के बाद वाहन चालक निकलते रहे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned