शेयर बाजार पर बना रह सकता है कोरोना का कहर, घरेलू कारकों का भी रहेगा असर

  • ऑटो सेक्टर और मार्किट मैन्युफैक्चरिंग पीएमआई के जारी होंगे आंकड़े
  • विदेशी संकेतों की वजह से घरेजू बाजार को मिल सकती है एक नई दिशा

By: Saurabh Sharma

Updated: 01 Mar 2020, 06:18 PM IST

नई दिल्ली। भारतीय शेयर बाजार में बीते सप्ताह आई भारी गिरावट के बाद भले ही थोड़ी रिकवरी देखने को मिले, लेकिन कोरोना का कहर बरकरार रह सकता है। इसके अलावा, प्रमुख आर्थिक आंकड़ों और देश के ताजा घटनाक्रमों का भी घरेलू शेयर बाजार पर असर देखने को मिलेगा। जानकारों की माने तो विदेशी संकेतों से घरेलू बाजार को दिशा मिलेगी। चीन के बाद दक्षिण कोरिया व अन्य देशों में कोरोना वायरस के कहर बरपाने के कारण वैश्विक बाजार में भारी गिरावट दर्ज की गई जोकि 2008 के वित्तीय संकट के बाद की सबसे बड़ी गिरावट है जिसके प्रभाव में भारतीय शेयर बाजार में बिकवाली का भारी दबाव रहा और प्रमुख संवेदी सूचकांकों में करीब सात फीसदी की साप्ताहिक गिरावट दर्ज की गई।

ऑटो सेक्टर में जारी होंगे आंकड़े
वहीं, पिछले सप्ताह के आखिर में देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के आंकड़े जारी किए गए जिसके अनुसार, चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में जीडीपी विकास दर 4.7 फीसदी रहने का अनुमान लगाया गया है जोकि बीते छह साल में सबसे निचला स्तर है। इस सप्ताह कुछ प्रमुख आर्थिक आंकड़ों के साथ-साथ ऑटो कंपनियों की बिक्री के आंकड़े भी जारी होंगे जिस पर बाजार की नजर होगी। साथ ही, देश की राजधानी दिल्ली में बीते सप्ताह हुई हिंसा की घटनाओं को लेकर संसद का सत्र हंगामेदार रह सकता है। संसद के बजट सत्र का दूसरा चरण जो सोमवार से आरंभ हो रहा है, तीन अप्रैल 2020 तक चलेगा।

यह भी पढ़ेंः- Petrol Diesel Price Today : पेट्रोल और डीजल के दाम में बड़ी गिरावट, जानिए कितने हो गए हैं दाम

विदेशी कारणों का भी रहेगा असर
उधर, एसबीआई कार्डस एंड पेमेंट सर्विसेज का आईपीओ सोमवार को खुलने जा रहा है और आईपीओ की बिक्री पांच मार्च को बंद होगी। सप्ताह के आरंभ में सोमवार को देश के मार्किट मैन्युफैक्चरिंग पीएमआई के फरवरी महीने के आंकड़े जारी होंगे जबकि मार्किट सर्विसेज पीएमआई के फरवरी महीने के आंकड़े बुधवार को जारी होने हो सकते हैं। उधर, चीन में फरवरी महीने के कैक्सिन मैन्युफैक्चरिंग पीएमआई के आंकड़े सोमवार को जारी होंगे और इसी दिन अमरीका और यूरोप में भी मार्किट मैन्यूफैक्चरिंग पीएमआई के फरवरी महीने के आंकड़े जारी होंगे। इन आंकड़ों से भी बाजार को दिशा मिलेगी, लेकिन जानकार बताते हैं कि कोरोना वायरस के प्रकोप का असर फिलहाल बना रहेगा। बता दें कि चीन के बाद दक्षिण कोरिया में कोरोना वायरस ने कहर बरपाया है जबकि दुनिया के करीब 56 देशों में इससे पीडि़त मरीज पाए गए हैं।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned