कोरोना वायरस वैक्सीन की पॉजिटिव खबरों से 47 हजार के पार जा सकता है शेयर बाजार

  • पहले दो बार 47 हजार का आंकड़ा पार करने के बाद भी टिक नहीं सेंसेक्स
  • कोरोना वायरस वैक्सीन की उम्मीदों से शेयर बाजार में मिल सकती है तेजी

By: Saurabh Sharma

Published: 27 Dec 2020, 03:16 PM IST

नई दिल्ली। कोविड-19 महामारी का टीका देश में आने की उम्मीद बढऩे के साथ ही घरेलू शेयर बाजार लगातार नये कीर्तिमान बनाता जा रहा है और आने वाले सप्ताह में सेंसेक्स पहली बार 47 हजार अंक के पार बंद हो सकता है। बीते सप्ताह पहले दिन सोमवार को तीन प्रतिशत की जोरदार गिरावट के बावजूद बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सप्ताहांत पर 12.85 अंक की बढ़त में 46,973.54 अंक के रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुआ। बीच कारोबार में दो दिन यह 47 हजार अंक के पार पहुंचा, लेकिन वहाँ टिक नहीं सका। कोविड-19 टीके की उम्मीद में आने वाले सप्ताह में इसके 47 हजार अंक से ऊपर बंद होने की पूरी उम्मीद है।

यह भी पढ़ेंः- 20 दिन से पेट्रोल और डीजल की कीमत में नहीं हुआ इजाफा, जानिए आज कितने चुकाने होंगे दाम

वैक्सीन से उम्मीदें
ब्रिटेन में कोविड-19 के एक नये स्ट्रेन का संक्रमण तेजी से फैलने की खबर आने के बाद सोमवार को दुनिया के दूसरे शेयर बाजारों के साथ ही घरेलू स्तर पर भी बिकवाली काफी बढ़ गई। हालांकि अगले तीन दिन बाजार में तेजी रही। क्रिसमस के अवकाश के कारण शुक्रवार को बाजार बंद रहा। आने वाले सप्ताह में निवेशकों की नजर वैश्विक कारकों के साथ इस बात पर भी रहेगी कि देश में कोविड-19 के टीकाकरण की दिशा में प्रगति किस रफ्तार से होती है। बुनियादी उद्योगों के उत्पादन के आँकड़े भी निवेश धारणा को प्रभावित करेंगे।

यह भी पढ़ेंः- कैट ने वित्त मंत्री से जीएसटी में 'नियम 86-बी' के कार्यान्वयन को रोकने का किया अनुरोध

पिछले सप्ताह कुछ ऐसा रहा बाजार
आलोच्य सप्ताह में निफ्टी 11.30 अंक यानी 0.08 प्रतिशत की गिरावट में 13,749.25 अंक पर बंद हुआ। बड़े सूचकांकों की तरह मझौली और छोटी कंपनियों का सूचकांक वापसी नहीं कर सका। बीएसई का मिडकैप 124.48 अंक यानी 0.70 प्रतिशत लुढ़ककर 17,676.70 अंक पर और स्मॉलकैप 93.57 अंक यानी 0.53 फीसदी टूटकर सप्ताहांत पर 17,675.53 अंक पर रहा।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned