क्या 2020 में 2020 डॉलर प्रति औंस पर आएगा Gold, जानिए किस स्तर पर आ गए हैं दाम?

  • Global Market में Gold Price के 2020 प्रति ओंस पर पहुंचने का है सभी को इंतजार
  • Fed Reserve द्वारा ब्याज दरों को फ्लैट रखने के डिसिजन के बाद कोई खास फर्क नहीं
  • बुधवार को भारतीय वायदा बाजारों में Gold Price ने 53 हजार के स्तर को पार किया

By: Saurabh Sharma

Published: 30 Jul 2020, 08:00 AM IST

नई दिल्ली। घरेलू बाजारों से लेकर वैश्विक बाजारों तक सोने की कीमत Gold Price Today ) में जबरदस्त तेजी देखने को मिल रही है। ग्लोबल बाजारों के बंद होने तक सोना 1986 डॉलर प्रति ओंस तक यानी 2000 डॉलर प्रति ओंस के बेहद करीब पहुंच गया हैै। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के कारण भी सोना निवेशकों की पहली पसंद बना हुआ है। ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि इस साल यानी 2020 में सोना ग्लोबल मार्केट में 2020 प्रति ओंस के ऐतिहासिक स्तर पर पहुंच सकता है। वहीं दूसरी ओर इंटरनेशनल मार्केट में सोने के दाम ( Gold Price in International Market ) में तेजी की वजह से भारतीय वायदा बाजार में भी सोना रोजाना रिकॉर्ड बना रहा है। बुधवार को सोने की कीमत ( Gold Rate Today ) में लगातार 9 वें दिन तेजी देखने को मिली। जिसकी वजह से दाम 53 हजार रुपए के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गए हैं।

रच सकता है इतिहास
एंजेल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसीडेंट ( कमोडिटी एंड रिसर्च ) अनुज गुप्ता कहते हैं कि अमरीकी करेंसी डॉलर में कमजोरी को देखते हुए सोना वैश्विक बाजार में 2000 डॉलर प्रति औंस के मनोवैज्ञानिक स्तर को तोड़कर इतिहास रच सकता है। वहीं दूसरी ओर कोरोना वायरस के कारण के कारण निवेशकों का रुझान सोने की ओर ज्यादा देखने को मिल रहा है। जिसका असर भी देखने को मिल सकता है। वहीं उन्होंने घरेलू बाजारों के लिए कहा कि दिवाली तक एमसीएक्स पर सोना 55,000 रुपए प्रति 10 ग्राम के करीब रह सकता है।

सोना और चांदी दोनों बनाएंगे रिकॉर्ड
केडिया एडवाइजरी के डायरेक्टर अजय केडिया के अनुसार सभी की नजरें फेड रिजर्व की मीटिंग की ओर थी। जिसमें ब्याज दरों को फ्लैट रखा गया है। वहीं इकोनॉमी के सुधरने के संकेत दिए हैं, लेकिन कोरोना वायरस के केसों में किसी तरह का कोई बदलाव देखने को नहीं मिला है। गोल्ड और सिल्वर माइंस में काम शुरू नहीं हुआ है। डिमांड बढ़ती जा रही है। ऐसे में गोल्ड के वर्ष 2020 में 2020 डॉलर प्रति ओंस तक पहुंचने में कोई शक नहीं है। उन्होंने कहा कि सिर्फ गोल्ड ही नहीं बल्कि सिल्वर भी इस साल रिकॉर्ड ब्रेकिंग साबित हो सकता है। जिस तरह से इंडस्ट्रीयल डिमांड देखने को मिल रही है। ऐसे में वैश्विक और घरेलू स्तर पर दाम बढऩा तय है।

विदेशी बाजारों में कहां पहुंचे सोने और चांदी के दाम
अंतर्राष्ट्रीय वायदा बाजार कॉमेक्स पर सोने के अगस्त वायदा अनुबंध में बुधवार को 8 डॉलर प्रति ओंस के साथ 1986.10 डॉलर प्रति औंस पर था। जोकि एक नया रिकॉर्ड है। इससे पहले सोने का भाव 1974.40 डॉलर प्रति औंस तक उछला था। वहीं चांदी थोड़ी ठंडी दिखाई दे रही है। कॉमेक्स पर चांदी 24.30 डॉलर प्रति ओंस पर फ्लैट दिखाई दे रही है। आपको बता दें कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में चांदी की कीमत 18 मार्च को 12 डॉलर प्रति औंस से भी नीचे गिर गई थी जोकि 24 डॉलर प्रति औंस से उपर तक चुकी है। आप देख सकते है कि चार महीनों में चांदी दोगुना रिटर्न दे चुकी है।

घरेलू बाजार में सोने बनाया नया रिकॉर्ड
वहीं बात घरेलू वायदा बाजार की करें तो लगातार 9 वें दिन सोने की कीमत में तेजी देखने को मिली। जिसकी वजह से दाम 53 हजार रुपए के स्तर को पार कर गए। बुधवार को सोना 731 रुपए प्रति दस ग्राम की तेजी के साथ 53332 रुपए प्रति 10 ग्राम की तेजी पर बंद हुआ। जबकि कारोबार के दाम 53399 रुपए प्रति 10 ग्राम के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा था। वहीं बात चांदी की बात करें तो 319 रुपए प्रति किलोग्राम की तेजी के साथ 65323 रुपए प्रति किलोग्राम पर बंद हुई थी। बता दें कि चांदी का भाव एमसीएक्स पर 25 अप्रैल 2011 को रिकॉर्ड 73,600 रुपए प्रति किलो तक उछला था जबकि हाजिर बाजार में चांदी का भाव 2011 में 77,000 रुपए प्रति किलो तक उछला था।

Show More
Saurabh Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned