ट्रंप की हार से भारतीय निवेशकों की बल्ले-बल्ले, 5.50 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का मुनाफा

  • 20 जनवरी के बाद सेंसेक्स में देखने को मिला उच्चतम स्तर, 550 अंकों की बढ़त के साथ बंद
  • निफ्टी 50 में नवंबर के महीने में देखने को मिली 621.15 अंकों की बढ़त, 12,263.55 अंकों पर

By: Saurabh Sharma

Updated: 06 Nov 2020, 08:01 PM IST

नई दिल्ली। अमरीकी चुनाव में डोनाल्ड ट्रंप की हार साफ दिखाई दे रही है। जो बाइडन अमरीका के नए राष्ट्रपति बनने में कुछ इंच दूरी पर खड़े हैं। वहीं इस चुनाव ने जहां अमरीकी निवेशकों को फायदा पहुंचाया है। उतना ही फायदा भारतीय को भी पहुंचा है। बीते 6 दिनों में निवेशकों को बड़ा फायदा हुआ है। बीएसई से मिले आंकड़ों के अनुसार अमरीकी चुनाव में ट्रंप की संभावित हार से उछले बाजार के कारण निवेशकों को 5.50 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का फायदा हुआ है। अगर बात सेंसेक्स की करें तो आज 552.90 अंकों की तेजी के साथ 41893.06 अंकों पर बंद हुआ है। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के प्रमुख सूचकांक निफ्टी 50 143.25 अंकों की बढ़त के साथ 12263.55 अंकों पर बंद हुआ है। दूसरी ओर रिलायंस इंस्ट्रीज के शेयरों में लगातार दूसरे दिन अच्छी तेजी देखने को मिली है। जिसकी वजह से कंपनी का शेयर एक बार फिर स2000 रुपए को पार गया है।

20 जनवरी के बाद बाजार का उच्चतम स्तर
आज शेयर बाजार 10 महीने से ज्यादा की उंचाई पर पहुंच गया है। सेंसेक्स और निफ्टी दोनों 20 जनवरी के बाद उच्चतम स्तर पर पहुंच गए हैं। 20 जनवरी को सेंसेक्स 41,528.91 अंकों पर था और निफ्टी 50 12,224.55 अंकों पर कारोबार कर रहा था। वहीं दूसरी नवंबर के महीने में इक्विटी बाजार में काफी अच्छी देखने को मिली है। जिसका पूरा श्रेय अमरीकी बाजार की तेजी को जाता है। नवंबर के महीने में निफ्टी 50 में 621.15 अंकों की तेजी देखने को मिल चुकी है। वहीं बात सेंसेक्स की करें तो नवंबर के महीने में 2279 अंकों की बढ़त देखने को मिली है। एक कारोबारी सप्ताह में इतनी बड़ी तेजी कम ही देखने को मिलती है।

बैंकिंग और एफएमसीजी में तेजी
अगर बात आज के सेक्टोरल इंडेक्स की बात करें तो बैंक और निफ्टी में अच्छी तेजी देखने को मिली है। बैंक एक्सचेंज 557.35 और बैंक निफ्टी 485.90 अंकों की अच्छी बढ़त के साथ बंद हुए हैं। कंज्यूमर ड्यूरेबल्स 209.32 अंकों की बढ़त के साथ बंद हुआ। बीएसई आईटी में 150.82 अंकों की तेजी देखने को मिली। तेल और गैस 88.53, सीएनएक्स मिडकैप 125.90, बीएसई स्मॉल कैप 81.54, बीएसई मिड-कैप 55.73, बीएसई मेटल 40.15, बीएसई टेक 51.80, बीएसई पीएसयू 4.39, बीएसई ऑटो 8.66 और कैपिटल गुड्स 15.21 अंकों की तेजी देखने को मिली है। बीएसई एफएमसीजी 17.36 और बीएसई हेल्थकेयर 121.07 अंकों की गिरावट देखने को मिली है।

बढ़त और गिरावट वाले शेयर
रिलायंस के शेयरों में आज लगातार दूसरे दिन तेजी देखने को मिली है। आज आरआईएल का शेयर और बजाज फाइनसर्व का शेयर करीब 4 फीसदी की बढ़त के साथ बंद हुआ है। इंडसइंड बैंक और एचडीएफसी बैंक के शेयरों में करीब तीन फीसदी की बढ़त देखने को मिली हैै। वहीं कोटक महिन्द्रा बैंक करीब 2.5 फीसदी की बढ़त के साथ बंद हुआ है। गिरावट वाले शेयरों की बात करें तो मारुति सुजुकी इंडिया का शेयर 2.61 फीसदी की गिरावट के साथ बंद हुआ। गेल इंडिया 1.89 फीसदी, भारती एयरटेल 1.62 फीसदी, अल्ट्रा टेक सीमेंट 1.34 फीसदी और एशियन पेंट्स 1.31 फीसदी की गिरावट के साथ बंद हुए हैं।

नवंबर के महीने में 5.50 लाख करोड़ का मुनाफा
वहीं दूसरी ओर भारतीय निवेशकों को नवंबर के महीने में बड़ा मुनाफा हुआ है। नवंबर के महीने में अभी बाजार में अच्छी तेजी देखने को मिली है। बीते पांच कारोबारी दिनों में निवेशकों को 5.50 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का मुनाफा देखने को मिला है। निवेशकों का मुनाफा बीएसई के मार्केट कैप से जुुड़ा होता है। 30 अक्टूबर को मार्केट कैप 1,57,92,249.91 करोड़ रुपए था। जबकि आज यानी 6 अक्टूबर को मार्केट कैप 1,63,60,699.17 करोड़ रुपए पर पहुंच गया है। अगर दोनों दिनों के मार्केट कैप के अंतर को देखें तो 5,68,450.26 करोड़ रुपए हो जाएगा। यही निवेशकों का मुनाफा है।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned