अमरीकी एयर स्ट्राइक ने बढ़ाई कच्चे तेल में महंगाई, 3 महीनों में 17 फीसदी का उछाल

  • ब्रेंट क्रूड ऑयल के दाम में 3 फीसदी से ज्यादा का इजाफा
  • डब्ल्यूटीआई क्रूड ऑयल 63 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंचा
  • स्थानीय स्तर पर पेट्रोल और डीजल के दाम में होगा इजाफा

By: Saurabh Sharma

Updated: 03 Jan 2020, 01:53 PM IST

नई दिल्ली। इराक में अमरीकी एयर स्ट्राइक ( US air strike in Iraq ) होने के बाद मिडिल ईस्ट में टेंशन बढ़ गई है। जिसकी वजह से कच्चे तेल की आवाजाही बाधित हो गई है। जिसका असर कच्चे तेल के दाम ( crude oil price ) में देखने को मिल रहा है। इस घटना के बाद से कच्चे तेल के दाम में 3 फीसदी से ज्यादा का इजाफा हो गया है। इस इजाफे के बाद ब्रेंट क्रूड ऑयल के दाम ( Brent crude oil prices ) 68 डॉलर के पार चले गए हैं। वहीं डब्ल्यूटीआई क्रूड के दाम ( WTI Crude Price ) 63 डॉलर पर पहुंच गए हैं। जानकारों की मानें तो आने वाले दिनों में ब्रेंट क्रूड ऑयल के दाम 70 पार भी पहुंच सकते हैं। आपको बता दें कि कच्चे तेल के दाम में इजाफे से भारत में पेट्रोल और डीजल के दाम ( petrol diesel prices ) में महंगाई देखने को मिलती है।

यह भी पढ़ेंः- वैश्विक कारणाें से शेयर बाजार गिरावट, सेंसेक्स 100 अंकों से ज्यादा लुढ़का, निफ्टी 12250 से नीचे

ब्रेंट क्रूड ऑयल 68 डॉलर के पार
ब्रेंट क्रूड ऑयल के दाम में आज तेजी देखने को मिल रही है। अक्टूबर से अब तक ब्रेंट क्रूट ऑयल के दाम 10 डॉलर प्रति बैरल तक बढ़ गए हैं। आज ही की बात करें तो 3.17 फीसदी के इजाफे के बाद ब्रेंट क्रूड ऑयल के दाम 68.35 डॉलर प्रति बैरल हो गए हैं। एक दिन पहले के हिसाब से ब्रेंट क्रूड ऑयल के दाम में करीब 2 डॉलर का इजाफा हुआ है। अगर एक अक्टूबर से तुलना करें तो उस दिन ब्रेंट क्रूड ऑयल का भाव करीब 58 डॉलर प्रति बैरल के आसपास था। यानी तीन महीनों में ब्रेंट क्रूड ऑयल के भाव में 17 फीसदी तक का इजाफा हो चुका है। जानकारों की मानें तो ब्रेंट क्रूड ऑयल भाव 72 से 75 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच सकता है।

यह भी पढ़ेंः- आयात शुल्क में कटौती के बाद भी खाद्य तेलों के दाम में तेजी जारी

डब्ल्यूटीआई क्रूड के दाम में भी इजाफा
डब्ल्यूटीआई क्रूड की बात करें तो अमरीकी हमले के बाद आज कीमतों में करीब 3 फीसदी का इजाफा हुआ है। यानी दाम 1.82 डॉलर के इजाफे के साथ 63 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच चुके हैं। आंकड़ों की मानें तो अक्टूबर से अब तक तीन महीनों में डब्ल्यूटीआई क्रूड में 17 फीसदी तक इजाफा आ चुका है। 7 अक्टूबर को डब्ल्यूटीआई क्रूड के दाम 52.63 डॉलर प्रति बैरल थे। जानकारों की मानें तो डब्ल्यूटीआई क्रूड के दाम 65 डॉलर से 68 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच सकते हैं।

यह भी पढ़ेंः- Petrol Diesel Price Today : पेट्रोल और डीजल के दाम में इजाफा जारी, आज इतने हो गए हैं दाम

पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ेंगे
भारत दुनिया में सबसे ज्यादा कच्चे तेल के आयातक देशों में से एक है। ऐसे में इंटरनेशनल मार्केट में कच्चे तेल के दाम में इजाफा होगा तो भारत में पेट्रोल और डीजल के दाम में इजाफा देखने को मिलेगा। मतलब साफ है कि जनवरी के महीने में पेट्रोल और डीजल के दाम नए स्तर पर पहुंच सकते हैं। देश की राजधानी दिल्ली की बात करें तो मौजूदा समय में पेट्रोल के दाम 75 रुपए लीटर के आसपास हैं, जो 78 रुपए से 80 रुपए तक जा सकते हैं। वहीं डीजल के दाम 68 रुपए के आसपास दिखाई दे रहे हैं जो अगले एक महीने में 70 से 72 रुपए तक पहुंच सकते हैं।

यह भी पढ़ेंः- कृपया ध्यान दें भारतीय रेलवे में इंक्वायरी और कंप्लेन के लिए सिर्फ 139 नंबर पर डायल करें

भारत में बढ़ेगी महंगाई
कच्चे तेल की कीमत बढऩे से भारत में महंगाई भी बढ़ जाती है। पेट्रोल और डीजल महंगा होने के साथ घरेलू गैस सिलेंडर के अलावा हवाई तेल भी महंगा होता है। जिससे घर चलाना और हवाई सफर करना दोनों महंगे हो जाते हैं। वहीं देश में आज भी ट्रांसपोर्ट में डीजल का इस्तेमाल हो रहा है। डीजल महंगा होगा तो सामान को एक जगह से दूसरी जगह ले जाने के लिए ट्रांसपोर्टेशन भी महंगा होगा। जिससे सामान के दाम भी बढ़ेंगे। ऐसे में देश में खुदरा और थोक महंगाई दर में इजाफा होगा।

क्या कहते हैं एक्सपर्ट
एंजेल ब्रोकिंग डिप्टी वाइस प्रेसीडेंट (एनर्जी व करेंसी रिसर्च) अनुज गुप्ता के अनुसार खाड़ी क्षेत्र में फौजी तनाव अगर और बढ़ता है तो कच्चे तेल के दाम में आने वाले दिनों में जबरदस्त तेजी देखने को मिल सकती है और ब्रेंट क्रूड का दाम 72-75 डॉलर तक जा सकता है जबकि डब्ल्यूटीआई 65-68 डॉलर प्रति बैरल तक का स्तर छू सकता है।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned