रेप पीड़िता प्रमुख सचिव से बोली, साहब दो माह हो गए FIR तक दर्ज नहीं हुई, मुझे रास्ते से उठाकर ले गए थे...

रेप पीड़िता प्रमुख सचिव से बोली, साहब दो माह हो गए FIR तक दर्ज नहीं हुई, मुझे रास्ते से उठाकर ले गए थे...
रेप पीड़िता

Mohd Rafatuddin Faridi | Publish: Jun, 15 2019 10:05:26 PM (IST) Mau, Mau, Uttar Pradesh, India

  • दो महीने से FIR दर्ज कराने के लिये भटक रही रेप पीड़िता ने प्रमुख सचिव से की शिकायत।
  • कहा सिलायी सीखने जा रही थी, रास्ते से ही जबरन अगवाकर, कई दिनों तक करते रहे रेप।
  • मऊ जिले में रेप पीड़िता ने पुलिस पर लगाया कार्रवाई में हीला-हवाली करने का आरोप।

मऊ. यूपी के प्रमुख सचिव जितेन्द्र कुमार मऊ पहुंचे वहां विकास कार्यों की गति देखने और यह जांचने कि सरकारी मशीनरी अपना दायित्व निभाते हुए सही काम कर रही है या नहीं। इसी दौरान एक रेप पीड़िता उनके सामने आयी और न्याय की गुहार लगाने लगी। उसका दावा था कि दो माह पहले उसे रास्ते से अगवाकर कई दिनों तक उसका रेप किया गया और आरोपी अब तक खुले घूम रहे हैं। उसने पुलिस पर भी आरोप लगाया कि दो माह से केवल हीला-हवाली की जा रही है, कार्रवाई तो दूर की बात, दो महीने बाद भी एफआईआर तक दर्ज नहीं किया गया है। यह सुनकर प्रमुख सचिव भी हैरान रह गए।

 

 

प्रमुख सचिव से शिकायत करने पहुंची खुद को रेप पीड़िता बता रही लड़की का दावा है कि वह दो माह पहले सिलाई प्रशिक्षण केन्द्र पर सिलाई सीखने जा रही थी। इसी दौरान गांव के ही रहने वाला युवक उसे अगवा कर ले गया और कई दिनों तक उसके साथ दुराचार करता रहा। उसका कहना था कि आरोपी के दो साथियों ने उसके इस कुकर्म में आरोपी की मदद की। किसी तरह कई दिन बाद वह आरोपी युवक के चंगुल से भागकर घर पहुंची और परिजनों को आपबीती सुनायी।

 

Mau Thana Madhuban Chowki

 

पिता ने स्थानीय पुलिस चौकी पहुंचकर इसकी शिकायत की और मुकदमा दर्ज करने की मांग किया, लेकिन आरोप है कि चौकी का दरोगा कार्रवाई के बजाय हीला-हवाली करता रहा। पीड़िता और उसके पिता का दावा है कि पहले तो चुनाव का बहाना बनाकर कोई कार्रवाई नहीं की गयी। चुनाव खत्म हो जाने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गयी। हारकर आलाधिकारियों को पत्र भेजकर न्याय की गुहार लगाई, लेकिन कहीं से कोई सुनवायी नहीं हुई। आरोपी राजकुमार गांव का दबंग किस्म का है और घटना के बाद से फरार चल रहा है।

 

Chief Secratory Jitendra Kumar

 

पीड़ित लड़की से पूरी घटना और उसकी फरियाद सुनने के बाद मामले की गंभीरता को देखते हुए तत्काल जिलाधिकारी ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी को मामले की जांच कराकर प्रकरण सही होने पर एफआईआर दर्ज करा आरोपियों की गिरफ्तारी कराने का निर्देश दिया। प्रमुख सचिव जितेन्द्र कुमार ने बताया कि पीड़िता और उसके पिता से प्रकरण की जानकारी मिलने के बाद जांच के निर्देश दिये गए हैं। सही पाए जाने पर एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

By Vijay Mishra

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned