scriptA constable UP Police post in Meerut, help the Lawrence Bishnoi gang | लारेंस बिश्नाई गैंग का मददगार निकला यूपी पुलिस का ये सिपाही, उपलब्ध कराता था मोबाइल सिम | Patrika News

लारेंस बिश्नाई गैंग का मददगार निकला यूपी पुलिस का ये सिपाही, उपलब्ध कराता था मोबाइल सिम

पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड के बाद से सुर्खियों में आए लारेंस बिश्नोई गैंग के तार अब यूपी पुलिस से भी जुड़ गए हैं। मेरठ में तैनात यूपी पुलिस का सिपाही लारेंस बिश्नोई गैंग के शूटरों का मददगार निकला। मेरठ के कंकरखेड़ा थाने में तैनात ये सिपाही दिल्ली की जेल में बंद लारेंस बिश्नोई के शूटरों को मोबाइल और सिम खरीदकर उपलब्ध कराता था। इसका खुलासा होने के बाद दिल्ली पुलिस ने इस सिपाही से पूछताछ की और उसको दिल्ली आने का नोटिस दिया है।

मेरठ

Published: June 13, 2022 10:25:15 am

यूपी पुलिस और लारेंस बिश्नोई गैंग की सांठगांठ का मामला सामने आया हैं। जिसमें लारेंस बिश्नोई गैंग के शूटरों की मदद यूपी पुलिस का सिपाही कर रहा था। यूपी पुलिस का सिपाही लारेंस बिश्नोई गैंग के शूटरों को मोबाइल और सिम उपलब्ध कराता था। ये सिपाही कंकरखेड़ा थाने की योगीपुरम पुलिस चौकी पर तैनात सिपाही दीपक मलिक है। इसी सिपाही ने नई दिल्ली की मंडोली जेल में बंद लारेंस बिश्नोई के शार्प शूटर अक्षय अंटिल को मोबाइल और सिम मुहैया कराया था। जेल में मिला मोबाइल फोन और सिम इसी सिपाही द्वारा खरीदे गए थे। दिल्ली की स्पेशल सेल ने सिपाही से करीब दो घंटे पूछताछ की। उसके बाद नोटिस देकर उसे दिल्ली बुलाया है।
लारेंस बिश्नाई गैंग का मददगार निकला यूपी पुलिस का ये सिपाही, उपलब्ध कराता था मोबाइल सिम
लारेंस बिश्नाई गैंग का मददगार निकला यूपी पुलिस का ये सिपाही, उपलब्ध कराता था मोबाइल सिम

बता दें कि करोल बाग के गारमेंट्स व्यापारी हर्ष महाजन से दिल्ली मंडोली जेल से पांच करोड़ की रंगदारी मांगी गई थी। दिल्ली पुलिस की जांच में सामने आया कि रंगदारी मांगने वाला लारेंस बिश्नोई और काला जठेड़ी का शार्प शूटर अक्षय अंटिल उर्फ अक्षय पलड़ा है। पुलिस ने जेल में बंद अक्षय के पास से एप्पल का मोबाइल के अलावा दो सिम बरामद किए थे। पूछताछ में सामने आया कि अक्षय ने काला जठेड़ी के गुर्गे नरेश सेठी के साथ मिलकर रंगदारी मांगी थी। नरेश भी जेल में बंद है। पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड की साजिश में अक्षय का नाम सामने आया है। उससे बरामद सिम कार्ड मेरठ के कंकरखेड़ा थाने की योगीपुरम चौकी पर तैनात सिपाही दीपक मलिक ने खरीदवाए थे।
यह भी पढ़े : loot in Meerut : पुलिस उपमुख्यमंत्री की सुरक्षा में व्यस्त, बदमाशों ने बंधक बनाकर लूट लिया 25 तोले सोना और नकदी

सिपाही ने सिम एक सीएनजी मैकेनिक के नाम पर खरीदे। इन्हें काला जठेड़ी गैंग के राकेश उर्फ राका को दिया था। राकेश और सिपाही दीपक मलिक सोनीपत निवासी हैं। ये सिम राकेश ने अक्षय अंटिल और नरेश के पास पहुंचाए। सिम से मोबाइल में ऐप डाउनलोड कर इंटरनेशनल काल कर रंगदारी मांगी गई थी। सिपाही दीपक मलिक से पूछताछ की गई। दिल्ली की स्पेशल सेल ने सिम बेचने वाले दुकानदार और सीएनजी मिस्त्री को भी हिरासत में लिया है। एसपी क्राइम अनित कुमार ने बताया कि दिल्ली पुलिस ने सिपाही को पूछताछ के लिए बुलाने का नोटिस जारी किया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

राजस्थान में इंटरनेट कर्फ्यू खत्म, 12 जिलों में नेट चालू, पांच जिलों में सुबह खत्म होगी नेटबंदीनूपुर शर्मा पर डबल बेंच की टिप्पणियों को वापस लिया जाए, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के समक्ष दाखिल की गई Letter PettitionENG vs IND Edgbaston Test Day 1 Live: ऋषभ पंत के शतक की बदौलत भारतीय टीम मजबूत स्थिति मेंMaharashtra Politics: महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने देवेंद्र फडणवीस के डिप्टी सीएम बनने की बताई असली वजह, कही यह बातजंगल में सर्चिंग कर रहे जवानों पर नक्सलियों ने की फायरिंगपंचायत चुनाव: दो पुलिस थानों ने की कार्रवाई, प्रत्याशी का चुनाव चिन्ह छाता तो उसने ट्राली भर छाता बंटवाने भेजे, पुलिस ने किए जब्तMonsoon/ शहर में साढ़े आठ इंच बारिश से सडक़ों पर सैलाब जैसा नजारा, जन जीवन प्रभावित2 जुलाई को छ.ग. बंद: उदयपुर की घटना का असर छत्तीसगढ़ में, कई दलों ने खोला मोर्चा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.