सीएम के आदेश के बाद डीएम ने तेल माफियाओं के खिलाफ लिया बड़ा एक्शन, देखें वीडियो

Sanjay Kumar Sharma | Updated: 13 Sep 2019, 12:46:41 PM (IST) Meerut, Meerut, Uttar Pradesh, India

Highlights

  • डीएम ने निलंबित किया थोक विक्रेता लाइसेंस
  • तेल माफिया संजय कुमार के यहां पुलिस का छापा
  • तेल कंपनी के जवाब से अधिकारी असंतुष्ट

 

मेरठ। मिलावटी पेट्र्रोल-डीजल के खेल में सीएम योगी आदित्यनाथ के आदेश के बाद डीएम अनिल ढींगरा ने अपने अधिकारों का चाबुक चलाते हुए रतिराम खूबचंद के मिट्टी के तेल का थोक विक्रेता का लाइसेंस निलंबित कर दिया है। बता दें कि मेसर्स रतिराम खूबचंद के स्टॉक में 71,888 लीटर अवैध केरोसिन तेल मिला था। डीएम ने निलंबित लाइसेंस के बाद नोटिस देकर जवाब भी मांगा है। जवाब के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ेंः मुस्लिम धर्म गुरुओं ने देश में दोस्ताना और एकता को लेकर कही ये बड़ी बात

उधर, देर रात परतापुर और टीपीनगर पुलिस की संयुक्त टीम ने संजय कुमार के शंभू नगर स्थित घर पर दबिश दी। संजय के नहीं मिलने पर टीम वापस लौट गई। उसके अलावा आईओसीएल के अधिकारियों द्वारा जांच में सहयोग न दिए जाने से प्रशासनिक अधिकारी असंतुष्ट हैं।

यह भी पढ़ेंः इन जनपदों में होने जा रही बिजली की भारी किल्लत, अफसरों ने भी हाथ खड़े किए

बता दें कि बीते सात सितंबर को मिट्टी तेल के थोक विक्रेता मैसर्स रतीराम खूबचंद के कुंडा स्थित डिपो में छापेमारी के दौरान 71,888 लीटर बेहिसाब केरोसिन स्टॉक में मिला था। डिपो मालिक संजय कुमार के खिलाफ परतापुर थाने में पूर्ति निरीक्षक की ओर से मुकदमा दर्ज किया। गुरुवार की रात 12 बजे टीपीनगर और परतापुर पुलिस की संयुक्त टीम बनाकर संजय की धरपकड़ को दबिश दी गई। संजय के नहीं मिलने पर टीम बैरंग लौट गई। इंस्पेक्टर आनंद मिश्र ने बताया कि जानकारी मिली है कि तीन दिन से संजय घर पर नहीं है।

यह भी पढ़ेंः सीबीआई ने सीजीएसटी के कार्यालय अधीक्षक को तीन लाख रुपये की रिश्वत लेते दबोचा

इंडियन ऑयल कारपोरेशन लिमिटेड के चीफ मैनेजर पंकज भाटी और सेल्स अफसर मोहित कुमार एडीएम सिटी अजय तिवारी के कार्यालय पर अपने बयान दर्ज कराने पहुंचे थे। एडीएम सिटी ने कंपनी अधिकारियों से मिलावटी तेल के खेल से संबंधित मजिस्ट्रेटी जांच और कुंडा के डिपो में मिले मिट्टी तेल के अवैध स्टॉक के संबंध में कंपनी की जिम्मेदारियों को लेकर तमाम जानकारियां मांगी थी। एडीएम सिटी ने बताया कि कंपनी अधिकारी सभी प्रश्नों का जवाब नहीं दे सके।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned