VIDEO: 'घर की सुंदरता है बेटी, फिर कोख में क्यों मरती बेटी' के माध्यम से लोगों को जागरूक किया

बढ़ती भ्रूण हत्या को लेकर आरजी कालेज में कार्यक्रम का आयोजन

 

By: sanjay sharma

Updated: 19 Jan 2019, 02:45 PM IST

Meerut, Meerut, Uttar Pradesh, India

मेरठ। बेटी-बचाओ, बेटी-पढ़ाओ अभियान के तहत मेरठ के आरजी कालेज में एक बड़ा ही अनोखा कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में उन बेटियों को श्रद्धांजलि दी गई, जिन बेटियों को इस संसार में जन्म लेने से पहले ही मार दिया गया। सिर्फ इस वजह से उनका कत्ल कोख में कर दिया गया कि वे कन्या हैं और उनका जन्म से उनके परिजन खुश नहीं थे। इस कार्यक्रम में एसपी सिटी रणविजय सिंह के अलावा शहर के अन्य गणमान्य लोगों ने हिस्सा लिया। 'घर की सुंदरता है बेटी फिर क्यों कोख में मरती बेटी' इन पंक्तियों के माध्यम से कवियत्री शुभम त्यागी ने कन्या भ्रूण हत्या को लेकर अपने विचार प्रकट किए। महानगर के प्रतिष्ठित आरजीपीजी कॉलेज में 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' अभियान के तहत छात्राओं और शिक्षिकाओं का शपथ ग्रहण समारोह और उन बेटियों के लिए श्रद्धांजलि सभा का आयोजित किया गया था। कार्यक्रम में सभी ने शपथ लेते हुए बेटियों को सुरक्षित रखने का संकल्प लिया। इस दौरान सुरभि परिवार के दिनेश तलवार ने अपने भाषण से कार्यक्रम स्थल में मौजूद सभी के दिलों में जोश भर दिया। दिनेश तलवार के आहवान पर सभी ने अपने स्थान पर खड़े होकर बेटियों के सम्मान में शपथ ली कि वे बेटियों को बचाने के लिए समाज में आगे आएंगे। कॉलेज की असिस्टेंट प्रोफेसर कवियत्री शुभम त्यागी ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में बेटियों के साथ होने वाले अत्याचारों को लेकर 22 जनवरी 2015 को ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान’ की शुरुआत की थी। दिनेश तलवार ने कहा कि आज के समय में बेटियों के साथ होने वाले अत्याचार एक ज्वलंत मुद्दा हैं। इन्हें रोकने के लिए समाज के हर वर्ग को आगे आना होगा। उन्होंने कहा कि इस काम के लिए जब तक समाज में महिलाएं आगे नहीं आएंगे। यह भू्रण हत्याएं नहीं रूकेगी। उन्होंने कहा कि मां को समझना होगा कि बेटा और बेटी दोनों में कोइ अंतर नहीं है। उन्हाेंने कहा कि जब गर्भ धारण करने वाली महिला ही यह समझ लेगी कि उसको बेटी हो या बेटा जन्म देना ही है तो फिर समाज से भ्रूण हत्या ही बंद हो जाएगी।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned