पहले दलित युवती पर बनाया धर्म परिवर्तन का दबाव, नहीं मानी तो 7 दिनों तक किया गैंगरेप

एक दलित लड़की को जबरन धर्म परिवर्तन कराने की कोशिश की गई। नहीं मानी तो उसके साथ गैंगरेप किया गया।

By: Kaushlendra Pathak

Updated: 05 Jan 2018, 06:33 PM IST

मेरठ। यहां एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसने पूरे इलाके में सनसनी मचा दी है। दरअसल, मोहल्ला कल्याण सिंह एरिया की रहनेवाली एक दलित लड़की ने आरोप लगाया है कि एक मुस्लिम लड़का जबरन उसका धर्म परिवर्तन करा कर उससे शादी करना चाहता था। लेकिन, जब वो तैयार नहीं हुई तो लड़के ने कुछ लोगों के साथ मिलकर उसे अगवा कर लिया और करीब सात दिन तक बंधक बनाकर उसके साथ गैंगरेप किया गया।

एक हफ्ते तक हुआ गैंगरेप

पीड़ित युवती ने बताया कि उसी के मोहल्ले का रहनेवाला बिट्टू पुत्र इकबाल उसके साथ अक्सर छेड़छाड़ करता था। इतना ही नहीं बिट्टी काफी समय से उससे धर्म परिवर्तन कर शादी करने का दबाव भी बना रहा था। पीड़िता ने बताया कि बीते 18 तारीख को दोपहर करीब तीन बजे बिट्टू उसे डरा-धमका कर अपने साथ ले गया। युवती के गायब होते ही परिजन ने थाने में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई। लेकिन, पुलिस ने कोई ठोस कार्रवाई नहीं की। 25 दिसंबर को पीड़ित युवती मेरठ-मवाना रोड पर बदहवास घूमती मिली। पीड़ित के परिजन को जब इस बात की जानकारी मिली तो उसे लेने के लिए मौके पर पहुंच गए और कुछ देर बाद घर लेकर पहुंच गए। घर आने पर युवती ने बताया कि बिट्टू, उसका भाई काले, जीजा महताब व उसका चचेरा भाई शाबाज मेरठ में कहीं जंगल में बने कमरे में उसे किडनैप करके ले गए। जहां पर उसे एक सप्ताह तक बंधक बनाकर रखा गया और उसके साथ बारी-बारी से सभी ने रेप किया। गैंगरेप के दौरान आरोपियों ने उसकी वीडियो भी बनाई और धमकी दी कि अगर उसने अपना धर्म परिवर्तन नहीं किया तो वह वीडियो वायरल कर देंगे।

शिकायत पर भी नहीं हुई कार्रवाई

पीड़ित युवती के परिजन का आरोप है कि 21 दिसंबर 2017 को लड़की की गुमशुदगी की तहरीर मवाना थाने में दी गई। लेकिन, दलित होने के कारण थाने में
उनकी किसी ने नहीं सुनी। यह बात जब हिन्दूवादी संगठन के लोगों के पता चली और गैंगरेप के आरोपी दूसरे धर्म के निकले तो हिन्दू संगठन के लोग युवती
को लेकर एसएसपी के पास पहुंच गए। वहीं, एसएसपी मंजिल सैनी ने एसपी देहाद राजेश कुमार को कार्रवाई करने के लिए आदेश दे दिए हैं। एसपी देहात राजेश कुमार ने बताया कि मामले की जांच शुरू कर दी गई हैं और जल्द ही कार्रवाई की जाएगी। साथ ही इसकी भी जांच कराई जाएगी कि अभी तक मवाना थाने में इसकी रिपार्ट दर्ज क्यों नहीं की गई।

Kaushlendra Pathak Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned