Meerut news: रिटायर्ड इंस्पेक्टर का बेटा चला रहा था नकली Cosco कंपनी, गिरफ्तार

  • छापेमारी के बाद पुलिस ने किया गिरफ्तार
  • मेरठ से उड़ीसा बेचा जाता था नकली सामान
  • मुख्य आरोपी का मास्टरमाइंड साथी फरार

By: shivmani tyagi

Updated: 26 Jul 2020, 08:41 AM IST

मेरठ ( Meerut News in Hindi ) रिटायर्ड पुलिस इंस्पेक्टर के बेटे को ब्रांडेड कंपनी का नकली खेल सामान बनाने के जुर्म में पुलिस ने गिरफ्तार किया है। गुरुग्राम की ब्रांड प्रोटेक्टर्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड ने शहर में इस फर्जीवाड़े का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने छापेमारी में करीब चार लाख रुपये कीमत का कॉस्को समेत कई कंपनियों के नाम पर तैयार की गई नकली फुटबाल, वॉलीबाल, बैडमिंटन रैकेट बरामद किए गए हैं। यह माल उड़ीसा भेजा जा रहा था। मुख्य आरोपी का साथी फरार है।

यह भी पढ़ें: गाजियाबाद: मां को माैत के घाट उतारकर बेटा बाेला, निपटा दिया किस्सा

गुरुग्राम की कंपनी के निदेशक धीरेंद्र सिंह ने बताया कि उनको काफी समय से एबी इंटरप्राइजेज और केके इंटरप्राइजेज द्वारा नकली माल बनाने और सप्लाई करने की जानकारी मिल रही थी। चार दिन से उनकी टीम मेरठ में थी। शुक्रवार को पता चला कि केके इंटरप्राइजेज से लाखों रुपये का माल सप्लाई होने वाला है। वह टीपीनगर थाने पहुंचे और मामले की जानकारी दी।

यह भी पढ़ें: यूपी में बड़ा प्रशानिक उलटफेर, 15 आईपीएस अफसरों का हुआ तबादला, देखें पूरी लिस्ट

पुलिस ( Meerut Police ) के साथ टीम ट्रांसपोर्टनगर पहुंच गई। शाम को माल पहुंच गया। इसे टीम ने पकड़ लिया। एक युवक को भी पकड़ा, जो केके इंटरप्राइजेज का मालिक इशांत कनौजिया निवासी जेल चुंगी है। उसके पिता रिटायर्ड इंस्पेक्टर हैं। माल उड़ीसा के भुवनेश्वर भेजा जा रहा था। बरामद माल की कीमत करीब चार लाख रुपये है। इसमें कॉस्को, निविया की बॉल और योनेक्स के रैकेट हैं। पुलिस का कहना है कि एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। अन्य की तलाश की जा रही है।

यह भी पढ़ें: गिरफ्तार अभियुक्त निकला कोरोना संक्रमित तो पुलिस में मचा हड़कंप

दो साल पहले उनको एबी इंटरप्राइजेज के बारे में जानकारी मिली थी। उसका मालिक सर्वोदय विहार निवासी भानू दास है, जो मूलरूप से कोलकाता का रहने वाला है। वह अपनी फैक्ट्री में माल बनाकर उनको देश के हर राज्य में सप्लाई करता है। अब उसके साथ इशांत कनौजिया भी मिला हुआ है। अब दोनों माल बाहर दूसरी फैक्ट्रियों में अधिक बनवाते हैं। इससे मुनाफा अधिक होता है।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned