वेस्ट यूपी के अब तक के सबसे बड़े कार्यक्रम में मंच तक लिफ्ट से पहुंचेंगे मोहन भागवत

sanjay sharma | Publish: Feb, 15 2018 06:00:16 AM (IST) Meerut, Uttar Pradesh, India

35 फुट ऊंचा होगा 25 फरवरी को मेरठ में होने वाले राष्ट्रोदय कार्यक्रम का मंच, पांच लाख आरएसएस कार्यकर्ता होंगे शामिल

 

मेरठ। 25 फरवरी को होने वाले राष्ट्रोदय कार्यक्रम की तैयारी जोरों पर है। राष्टीय स्वयसेवक संघ का पश्चिम उप्र में होने वाला अब तक यह सबसे बड़ा कार्यक्रम है। इस कार्यक्रम में करीब 5 लाख आरएसएस स्वयंसेवकों के जुटने का अनुमान है। कार्यक्रम की भव्यता का अंदाजा इसके मंच की विशालता को ही देखकर लगाया जा सकता है। तैयारी की समीक्षा खुद मंडलायुक्त डा. प्रभात कुमार कर चुके हैं।

कार्यक्रम प्रभारी अजय मित्तल ने बताया कि अभी तक साढ़े तीन लाख रजिस्ट्रेशन हो चुके हैं। एक दिन के इस कार्यक्रम में पश्चिम उप्र के सभी 21 जिलों से आरएसएस कार्यकर्ताओं के आने की उम्मीद है। रजिस्ट्रेशन का काम अभी चल रहा है। उन्होंने बताया कि मंच बनाने का काम चल रहा है। इसके अलावा अन्य सभी तैयारियां जोरों पर है। कार्यकर्ताओं के रुकने की व्यवस्था की जा रही है। कई जिलों से एक दिन पहले भी कार्यकर्ता कार्यक्रम में पहुंच जाएंगे। जिनके रुकने का इंतजाम कार्यक्रम स्थल पर ही किया गया है। जागृति विहार एक्सटेंशन में होने वाले इस कार्यक्रम स्थल में प्रमुख चौराहे का नाम भी राष्टोदय चौक रखा गया है।

यह भी पढ़ेंः छोटी सी बात पर अपने साथी को फावड़े से काट डाला

देखें वीडियोः Gas company smugglers robbed one lakh rupees

देखें वीडियोः 13 feb 2018 News Bulletin

मंच तक लिफ्ट से पहुंचेंगे

राष्टोदय कार्यक्रम में बने मंच की भव्यता देखते ही बनती है। मंच निर्माण का काम जोरों पर है। 35 फुट ऊंचे इस मंच पर सरसंघ चालक मोहन भागवत लिफ्ट के माध्यम से पहुंचेंगे। इसके लिए कार्यक्रम स्थल पर लिफ्ट की व्यवस्था भी की गई है। मंच पर संघ का कोई दूसरा पदाधिकारी नहीं बैठेगा। सरसंघ चालक के ही बैठने की व्यवस्था की गई है।

हैलीकाप्टर से होगी निगरानी

राष्ट्रोदय कार्यक्रम स्थल की सुरक्षा के लिए हालांकि अभी से ही 24 घंटे पुलिस की तैनाती की गई है, लेकिन कार्यक्रम शुरू होने से करीब 24 घंटे पहले पूरे कार्यक्रम स्थल की सुरक्षा की जिम्मेदारी आरएसएस के कार्यकर्ताओं के हाथ में होगी। बाहरी सुरक्षा व्यवस्था का जिम्मा स्थानीय पुलिस का होगा। जबकि कार्यक्रम के भीतर की सुरक्षा का जिम्मा आरएसएस कार्यकर्ता खुद उठाएंगे। 25 फरवरी को कार्यक्रम शुरू होने से पहले सुरक्षा के लिहाज से हैलीकाप्टर से निगरानी होगी। पूरे इलाके में स्थानीय पुलिस और खुफिया एजेंसियां ड्रोन से सुरक्षा व्यवस्था पर नजर रखेंगे।

अन्य जनपद से भी पुलिस बल

राष्ट्रोदय कार्यक्रम में दूसरे जनपद से भी पुलिस बल को मंगवाया जा रहा है। इसके अतिरिक्त स्थानीय अभिसूचना इकाई और इटेंलीजेंस ब्यूरो भी अपने स्तर से सुरक्षा व्यवस्था पर नजर रखे हुए है।

यह भी पढ़ेंः यहां पुलिस का काम कर रही जनता, लुटेरे पकड़ने पर किया सम्मानित

यह भी पढ़ेंः स्कूलों की खत्म होगी मनमानी, यहां नए सत्र में पढ़ार्इ की नर्इ शुरुआत

यह भी पढ़ेंः मुस्लिम महिलाओं ने तीन तलाक बिल पर प्रधानमंत्री मोदी को दे दी यह नसीहत

 

 

 

 

 

 

 

 

Ad Block is Banned