कोरोना मरीजों के लिए बड़ी राहत, अब 600 रुपये में डी, 250 रुपये में मिलेगा बी क्लास Oxygen Cylinder

होम आइसोलेशन वाले गंभीर मरीज यहां से प्राप्त करें Oxygen Cylinder। नगर निगम क्षेत्र में तीन स्थानों पर किए जाएंगे सेंटर स्थापित। सेंटरों पर आक्सीजन सिलेंडर और उनके संग्रह के लिए होगी व्यवस्था।

By: Rahul Chauhan

Published: 08 May 2021, 02:57 PM IST

मेरठ। आक्सीजन (oxygen cylinder) की किल्लत और कालाबाजारी की आ रही खबरों के लिए बीच कोरोना मरीजों के लिए अब राहत की खबर है। महानगर में अब नगर निगम क्षेत्र में आक्सीजन गैस सिलेंडरों की आपूर्ति के लिए तीन स्थानों पर सेंटर खोले जाएंगे। इन सेंटरों पर डी टाइप के बड़े सिंलेडर 600 रुपये और बी टाइप के छोटे सिलेंडर 250 रुपये में आक्सीजन भरे हुए मिलेंगे। ये सेंटर नवभारत विद्यापीठ इंटर कालेज दिल्ली रोड, सामुदायिक केंद्र डिफेंस एन्क्लेव कंकरखेड़ा और सामुदायिक केंद्र शास्त्रीनगर बी ब्लाक में होगा।

यह भी पढ़ें: कोरोना की तबाही से कब मिलेगी राहत? कोई बता रहा पीक, कोई कह रहा आने वाला दिन ज्यादा खतरनाक

दरअसल, जिलाधिकारी के बालाजी ने निगम क्षेत्रों में आक्सीजन आपूर्ति के लिए निगम को यह निर्देश दिए हैं कि वे कोविड-19 संक्रमण से प्रभावित होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों की सुविधा के लिए अपने-अपने क्षेत्र में आक्सीजन गैस सिलेंडरों की आपूर्ति के लिए सेंटर स्थापित करें। इसके अलावा जहां पर सेंटर स्थापित किए गए रहे हैं। उस स्थल का नाम, उसका गुगल मैप लोकेशन और फान नंबर भी लोगों की सुविधा के लिए प्रदर्शित किया जाए। सेंटरों पर पर्याप्त संख्या में अधिकारियों और कर्मचारियों की डयूटी भी लगाई जाए। डीएम की ओर से जारी आदेश में यह भी कहा गया है कि जमा करराने के 24-48 घंटे के भीतर आक्सीजन सिलेंडर आपूर्ति की व्यवस्था की जाए। इन सेंटरों पर अग्रवाल गैसेज परतापुर, महेश्वरी गैसेज मोहिउद्दीनपुर से सिलेंडरों की रिफलिंग होगी।

यह भी पढ़ें: रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वाले तस्करों पर रासुका की फाइल तैयार, पुलिस को जमानत अर्जी का इंतजार

आक्सीजन सिलेंडर के समय दिखाने होंगे ये दस्तावेज

आक्सीजन सिलेंडर प्राप्त करने के लिए कोरोना टेस्ट रिपोर्ट, आधार कार्ड, डाक्टर का पर्चा और आक्सीजन सेचुरेशन लेबल रिपोर्ट दिखानी होगी। उसके बाद ही आक्सीजन सिलेंडर मिल सकेगा। इन तीनों सेंटरों से उन मरीजों को राहत मिलेगी जो कि होम आइसोलेशन में हैं और उनको आक्सीजन उपलब्ध नहीं हो पा रही है। ऐसे मरीजों के लिए यह राहत की बात है।

सेंटर खोले जाने के बारे में जिलाधिकारी के बालाजी ने बताया कि निगम क्षेत्र के अंतगर्त तीन सेंटर खोलने की अनुमति दी गई है। जहां पर होम आइसोलेशन में इलाज करा रहे जरूरतमंदों को आक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी। आक्सीजन की जिले में अब कोई किल्लत नहीं है। मरीजों को बेहतर सुविधा अस्पतालों में मिल रही है।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned