अधीर रंजन ने किया फैसले का स्वागत, कहा - कांग्रेस ने EC से शांतिपूर्ण चुनाव कराने की अपील की थी

  • ममता बनर्जी ने 8 चरणों में चुनाव पर उठाए थे सवाल।
  • कांग्रेस ने सुरक्षित माहौल में चुनाव कराने की मांग की थी।

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल सहित 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है। बंगाल में 27 मार्च से 29 अप्रैल के बीच 8 चरणों में चुनाव होंगे। तारीखों के ऐलान के बाद ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग के फैसले पर सवाल उठाए हैं तो कांग्रेस ने चुनाव आयोग के फैसले का स्वागत किया है।

सुरक्षा के होंगे सख्त इंतजाम

लोकसभा में कांग्रेस के नेता और पश्चिम बंगाल कांग्रेस अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने कहा है कि हमने चुनाव आयोग से अनुरोध किया था कि पश्चिम बंगाल में चुनाव के दौरान सुरक्षा का इंतजाम ऐसा हो कि लोग बिना डरे चुनाव में भाग ले सकें। इसलिए चुनाव आयोग ने निर्णय लिया है कि बंगाल में 8 चरणों में चुनाव होंगे।

टीएमसी ने उठाए सवाल

तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग पर बीजेपी को फायदा पहुंचाने के लिए 8 चरणों में चुनाव कराने का आरोप लगाया है। तारीखों पर ममता ने पूछा है कि केरल, तमिलनाडु और पुडुचेरी में एक चरण में चुनाव हो रहा है। केवल बंगाल में 8 चरणों में चुनाव क्यों? बंगाल के किसी एक ही जिले में दो, तो किसी में तीन चरणों में चुनाव क्यों कराए जा रहे हैं? चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल को फुटबॉल ग्राउंड बना दिया है।

8 चरणों में चुनाव के लिए ममता जिम्मेदार

वहीं ममता के सवालों पर केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल ने कहा है कि अगर 8 चरणों में चुनाव करवाए जा रहे हैं तो इस इसकी जिम्मेदारी खुद ममता बनर्जी की बनती है। बंगाल में ममता सरकार ने डर का माहौल बनाया है। इसलिए उनकी जिम्मेदारी है कि मतदान शांतिपूर्ण संपन्न कराएं।

BJP
Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned