India-China विवाद पर बोले Amit Shah और Rajnath Singh, भारत के आत्म सम्मान पर कोई नहीं कर सकता चोट

  • India-China विवाद पर गृह मंत्री ( Home Minister ) और रक्षा मंत्री ( Defence Minister ) की दो टूक
  • देश की गरिमा और संप्रभुता को कोई चोट नहीं पहुंचा सकता- Rajnath Singh
  • देश की सीमाओं ( India Border ) को रक्षा करने में हम सक्षम- Amit Shah

नई दिल्ली। एक ओर पूरी दुनिया में कोरोना वायरस ( coronavirus ) का कहर जारी है। वहीं, दूसरी तरफ भारत-चीन ( India-China ) के बीच लद्दाख ( Ladakh ) में सीमा को लेकर विवाद जारी है। हालांकि, इस मसले को लेकर दोनों देशों के बीच कई स्तर की बातचीत भी हुई है। वहीं, इस विवाद को लेकर दो केन्द्रीय मंत्रियों ( Central Ministers ) ने चीन को दो टूट जवाब दिया है। गृह मंत्री ( Home Minister ) अमित शाह ( Amit Shah ) और रक्षा मंत्री ( Defence Minister ) राजनाथ सिंह ( Rajnath Singh ) ने कहा कि भारत के आत्म सम्मान पर कोई चोट नहीं कर सकता है।

शाह-राजनाथ ने चीन को दिया दो टूक जवाब

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ( Defence Minister Rajnath Singh ) और गृह मंत्री अमित शाह ( Home Minsiter Amit Shah ) ने कहा कि लद्दाख ( Ladakh Border ) क्षेत्र में चीन को भारतीय जमीन को हड़पने नहीं दिया जाएगा। दोनों मंत्रियों ने कहा कि भारत अपने राष्ट्रीय हित और राष्ट्रीय गौरव से किसी कीमत पर समझौता नहीं करेगा। गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah On China ) ने कहा कि भारत, अमेरिका ( America ) और इजरायल ( Israel ) की तरह अपने क्षेत्र की रक्षा करने में सक्षम है। उन्होंने कहा कि हमने आतंकवादी हमले भी देखे हैं। पहले भी हुआ करता था, लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ( PM Narendra Modi ) पिछले पीएम की तरह चुप नहीं बैठे। अमित शाह ने कहा कि उन्होंने पाकिस्तान में घुसकर हमला किया और आतंकी वारदात देने वालों को मुंहतोड़ जवाब दिया गया। शाह ने कहा कि इससे पूरी दुनिया को पता चला कि भारत किसी को भी अपनी सीमाओं का अतिक्रमण नहीं करने देगा। गृह मंत्री ने ये बात ओडिशा में बीजेपी के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा।

भारत की गरिमा को कोई ठेस नहीं पहुंचा सकता- Rajnath Singh

वहीं, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ( Rajnath Singh on China ) ने कहा कि देश की गरिमा और संप्रभुता को कोई चोट नहीं पहुंचा सकता है। क्योंकि, भारत कभी भी दूसरे देशों के साथ ऐसा करने का इरादा नहीं रखता है। 'वर्चुअल रैली' महाराष्ट्र के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि चीन के साथ भारत की बातचीत सैन्य और राजनयिक स्तरों पर चल रही थी। उन्होंने कहा कि 6 जून को सैन्य स्तर पर जो बातचीत हुई थी, वह काफी हद तक सकारात्मक थी और दोनों देशों ने जारी तनाव को सुलझाने के लिए बातचीत जारी रखने पर सहमति व्यक्त की है।

देश का नेतृत्व मजबूत हाथों में- रक्षा मंत्री

रक्षा मंत्री ने आगे कहा कि हम किसी भी देश की गरिमा और आत्मसम्मान को ठेस नहीं पहुंचाते हैं और अपने देश के लिए भी इस तरह की कोई भी बोली बर्दाश्त नहीं करेंगे। राजनाथ सिंह ने कहा कि मैं लोगों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि देश का नेतृत्व मजबूत हाथों में है। उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि भारत-चीन के मसले पर जो कहना है वह संसद में कहूंगा। सिंह ने कहा कि हमारी सरकार किसी को गुमराह नहीं कर रही है। गौरतलब है कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भारत-चीन विवाद को लेकर सरकार से स्पष्टिकरण देने की मांग की थी।

Amit Shah
Show More
Kaushlendra Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned