गैंगस्टर के साथ मिलकर ASI ने रची साजिश, पैसे न देने पर जान से मारने की दी थी धमकी

Highlights

  • दिल्ली पुलिस ने जबरन वसूली के मामले में सब इंस्पेक्टर को किया गिरफ्तार।
  • सब इंस्पेक्टर ने आनाकानी करने पर गैंगस्टर से बिल्डर के बेटे की कार पर फायरिंग कराने को कहा था।

नई दिल्ली। किसी अपराध में अगर कानून के रखवाले ही शामिल हों तो आम जनता को
न्याय मिलना उतना ही कठिन हो जाता है। ऐसे ही एक मामले में दिल्ली पुलिस ने करोड़ों रुपये की जबरन वसूली के मामले में अपने ही विभाग के सब इंस्पेक्टर को गिरफ्तार किया है।

इसकी गिरफ्तारी डीसीपी साउथ की टीम ने की है। उसके खिलाफ पूरे सबूत एकत्र किए गए और मौका देखकर गिरफ्तारी को अंजाम दिया गया। दिल्ली पुलिस के असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर पर एक बिल्डर से 2 करोड़ रुपए देने की मांग का आरोप था।

पैसा न देने पर बिल्डर को पुलिस केस में फंसाने की धमकी दी गई थी। दिल्ली के हौज खास थाने की पुलिस ने राजबीर सिंह को गिरफ्तार कर लिया है। उन्हें फिलहाल जेल भेज दिया गया है। इससे पहले इस मामले में चार और लोगों की गिरफ्तारी की गई थी।

साउथ दिल्ली में तैनात एक सहायक सब इंस्पेक्टर के साथ उसके चार सहयोगी को नामी बिल्डर से रिश्वत मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया है। कोर्ट ने उसे जेल भेज दिया।

ग्रॉसरी शॉप की आड़ में चल रहा था ड्रग्स का कारोबार, 2KG चरस बरामद

गौरतलब है कि इसी साल जून माह में दक्षिण दिल्ली के हौज खास पुलिस स्टेशन पर शिकायत दर्ज की गई थी। इसके मुताबिक, बिल्डर के पिता के पास एक फोन काल आया था। इसमें फोन करने वाले ने अपना नाम गैंगस्टर काला बताकर 2 करोड़ रुपये की रिश्वत की मांग की थी। धमकी दी गई थी कि अगर पुलिस में शिकायत दी और उसकी मांग को नहीं माना तो जान से मार दिया जाएगा।

मिल चुका है गैलेंट्री अवार्ड

एएसआई राजबीर सिंह दिल्ली पुलिस में बेहतरीन काम को लेकर गैलेंट्री अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है। वहीं दिल्ली पुलिस ने एएसआई समेत इस गैंग से जुड़े 5 लोगों को गिरफ्तार किया है। राजबीर सिंह की फिलहाल साउथ वेस्ट की पीसीआर यूनिट में तैनाती थी। इससे पहले वो स्पेशल सेल और क्राइम ब्रांच में तैनात हो चुका है।

जांच में आया एएसआई का नाम

जांच में पाया गया कि राजबीर सिंह बिल्डर से घूस मांगने की धमकी देने वाले प्रमोद उर्फ काले के संपर्क में बना हुआ था। एएसआई पर आरोप है कि उसने अपने एक सहयोगी की मदद से प्रमोद उर्फ काले का सहयोग किया था। मामले का खुलासा होने के बाद एएसआई राजबीर सिंह को तुरंत गिरफ्तार कर लिया गया।

NCB ने भारती सिंह के पति हर्ष को भी किया गिरफ्तार, आज कोर्ट में होगी पेशी

पूरी प्लानिंग राजबीर की थी

ऐसा बताया जा रहा है कि दो करोड़ की मांग का मास्टरमाइंट राजबीर सिंह है। 14 जुलाई को राजबीर सिंह ने शिकायतकर्ता को बुलाकर इस मामले में बात की थी। जांच में साफ हुआ कि गैंगस्टर प्रमोद को शिकायतकर्ता का मोबाइल नंबर राजबीर सिंह ने ही उपलब्ध कराया था। उससे कहा गया था कि अगर बिल्डर 2 करोड़ रुपये देने में आनाकानी करे तो बिल्डर के बेटे की कार पर फायरिंग करा दी जाए।

Show More
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned