19 दिन में इन चर्चित मामलों पर चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा सुनाएंगे फैसला, 2 अक्टूबर को होंगे रिटायर

रिटायरमेंट से पहले सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा इन अहम मालमों पर फैसला सुनाएंगे।

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा का कार्यकाल पूरा होने वाला है। दीपक मिश्रा दो अक्टूबर को अपने पदभार से मुक्त होंगे। उनके बाद जस्टिस रंजन गोगोर्इ देश के अगले चीफ जस्टिस होंगे। लेकिन अपने रिटायरमेंट से पहले दीपक मिश्रा कई बड़े मामलों पर फैसला सुनाएंगे। वहीं, आखिरी के एक महीने में वह एक दर्जन भर चर्चित मामलों की सुनवाई भी करेंगे। इनमें अयोध्या,समलैंगिकता, एडल्टरी, दागी नेताओं के चुनाव लड़ने पर बैन का मामला, दहेज प्रताड़ना, आधार सहित कई मामसे शामिल हैं।

फैसले पर पूरे देश की रहेगी नजर

आपको बता दें कि इसमें से कई मामलों की सुनवाई पूरी हो चुकी है और फैसला सुरक्षित कर रखा गया है। ये सभी मामले देश के लिए काफी महत्वपूर्ण हैं। यहीं वजह है कि रिटायरमेंट से पहले के 19 कार्यदिवस के दौरान आने वाले उनके फैसलों पर पूरे देश की नजर रहेगी। इनमें सबसे अहम है अयोध्या विवाद,समलैंगिकता,दागी नेताओं के चुनाव लड़ने पर बैन का मामला, आधार सहित मामले हैं।

इन पांच अहम मामलों पर आएगा फैसला

1. आपको बता दें कि अयोध्या का राममंदिर-बाबरी मस्जिद केस की सुनवाई सर्वोच्च न्यायालय में चल रहा है। इस पर कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रखा हुआ है।

2. समलैंगिकता के मामले पर भी फैसला सुरक्षित रखा हुआ है। इस मामले में दो बालिगों के बीच सहमति से बनाए गए अप्राकृतिक संबंध को अपराध के दायरे में रखा जाए या नहीं, इस पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी हो चुकी है। अब बस फैसला आना है।

3. दागी नेताओं क चुनाव लड़ने पर रोक के मामले में भी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हो चुकी है। इस मामले में फैसला आना बाकी है।

4. आधार को मौलिक अधिकार बताने के फैसले पर कोर्ट ने पहले ही फैसला सुना दिया है। अब आधार के लिए लिया जाने वाला डेटा निजता का उल्लंघन है या नहीं? इस पर फैसला आना है।

5. वहीं, दहेज प्रताड़ना के आरोप वाले मामले में सेफ गार्ड की जरूरत है या नहीं? इस पर इन 19 दिनों में फैसला आएगा।

 

Shivani Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned