चुनाव से पहले पीएम मोदी ने की असम के लिए सौगातों की बरसात, पिछड़ेपन के लिए कांग्रेस पर साधा निशाना

  • एक ही दिन में कई परियोजनाओं का किया उद्घाटन।
  • धेमाजी में इंजीनियरिंग कॉलेज में छात्र कर पाएंगे इंजीनियरिंग की पढ़ाई।

नई दिल्ली। सोमवार को असम पहुंचने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंडियन ऑयल की बोंगाईगांव रिफाइनरी में इंडमैक्स इकाई, डिब्रूगढ़ के मधुबन में ऑयल इंडिया लिमिटेड के सेकेंडरी टैंक फार्म और तिनसुकिया मकुम के हेबड़ा गांव में एक गैस कंप्रेशर स्टेशन राष्ट्र को समर्पित किया। इसके अलावा उन्होंने धेमाजी इंजीनियरिंग कॉलेज का उद्घाटन और सुआलकुची इंजीनियरिंग कॉलेज का शिलान्यास किया।

इसके साथ ही उन्होंने असम को 3 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा के ऊर्जा और शिक्षा इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट का एक नया उपहार भी प्रदेश के लोगों को दिया।

पहले की सरकार ने विकास पर ध्यान नहीं दिया

इसके बाद उन्होंने लोगों को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि उत्तरी भारतीय राज्यों में भरपूर सामर्थ्य होने के बावजूद पहले की सरकारों ने इस क्षेत्र के साथ सौतेला व्यवहार किया। यहां कनेक्टिविटी, अस्पताल, शिक्षा के संस्थान, उद्योग व अन्य क्षेत्रों में पहले की सरकारों ने ध्यान नहीं दिया।

अब दिल्ली दूर नहीं

जिन लोगों ने दशकों तक देश में राज किया उन्होंने दिसपुर को दिल्ली से बहुत दूर मान लिया। इस सोच की वजह से असम सहित पूर्वोत्तर भारतीय राज्यों का बहुत नुकसान हुआ। लेकिन अब दिल्ली दूर नहीं है। दिल्ली आपके दरवाजे पर खड़ी है। अब केंद्रीय मंत्रियों के साथ मैं भी कई बार असम का दौरा कर चुका हूं।

मछली पालन पर जोर

पीएम मोदी ने असम में मछली पालन पर विशेष जोर देते हुए कहा कि हमारी सरकार मछली पालन से जुड़ा एक अलग मंत्रालय काफी पहले बना चुकी है। मछली पालन कोरोबार पर अभी तक ध्यान नहीं दिया गया। न ही सरकार ने जरूरी बजट आवंटित किए। हमारी सरकार ने इस पर ध्यान दिया और पहले से ज्यादा पैसा इस मछली पालन पर खर्च किया जा रहा है।

pm modi
Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned