Bengaluru Violence: इस एक FB पोस्ट से भड़की हिंसा, पूरे शहर में मच गई तबाही

बेंगलुरु ( Bengaluru Violence ) में कांग्रेस विधायक श्रीनिवास मूर्ति ( Srinivas Murthy ) के भतीजे ने पैगंबर मोहम्मद ( Pegamber Mohammed ) को लेकर आपत्तिजनक पोस्ट कर दिया। जिसके बाद पूरे शहर में बवाल मच गया। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। लेकिन, उसका कहना है कि उसका फेसबुक अकाउंट ( FB Account ) हैक हो गया था।

नई दिल्ली। कर्नाटक (Karnataka) के बेंगलुरु ( Bengaluru Violence ) शहर में मंगलवार रात अचानक बवाल मच गया। एक फेसबुक पोस्ट ( Facebook Post ) के कारण शहर में इस तरह हिंसा (Violence) भड़की की तीन लोगों की मौत हो गई। वहीं, काफी संख्या में लोग घायल हुए हैं। विधायक का घर जला, पुलिस स्टेशन (Police Station) को जला दिया गया, गाड़ियां जली। वहीं, कई जगहों पर तोड़फोड़ भी की गई। तस्वीर देखकर ऐसा लग रहा है कि एक ओर जहां पूरा देश रात में गहरी नींद में सो रहा था। वहीं, दूसरी ओर बेंगलुरु शहर उबल रहा था। इन सबके पीछे एक पेसबुक पोस्ट जिम्मेदार है? क्योंकि, कांग्रेस विधायक श्रीनिवास मूर्ति ( Srinivas Murthy Congress MLA ) के भतीजे ने धर्म विशेष को लेकर कुछ ऐसा लिख दिया, जिससे देखते ही देखते पूरे शहर में हड़कंप मच गया और इतना बड़ा हंगामा हो गया।

एक पोस्ट के कारण मच गया बवाल

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कांग्रेस विधायक श्रीनिवास मूर्ति ( Srinivas Murthy ) के भतीजे नवीन ने पैगंबर मोहम्मद ( Pegamber Mohammed ) को लेकर सोशल मीडिया ( Social Media ) फेसबुक (FB Post Viral) पर अपमान जनक पोस्ट कर दिया था। वहीं, जैसे ही यह पोस्ट वायरल हुआ अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों में हड़कंप मच गया और देखते ही देखते लोग एक जगह जमा हुए और फिर बवाल शुरू हो गया। हालांकि, माहौल बिगड़ने के बाद उस पोस्ट को डिलीट कर दिया गया। रिपोर्ट्स के अनुसार, पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार भी कर लिया है। लेकिन, विधायक के रिश्तेदार का कहना है कि उसने यह पोस्ट नहीं किया है। आरोपी का कहना है कि उसका फेसबुक अकाउंट हैक हो गया था, जिसमें कथिर तौर पर पैंगबर के अपमान की बात कही जा रही है। फिलहाल, इस पूरे मामले की छानबीन की जा रही है। लेकिन, इस पोस्ट के कारण पूरे शहर में बवाल मच गया।

'देखते ही देखते पूरा शहर उबल उठा'

इस पोस्ट के खिलाफ अल्पसंख्यक समुदाय के लोग विधायक श्रीनिवास मूर्ति ( Srinivas Murthy ) के घर पहुंचे और पत्थरबाजी शुरू कर दी। काफी संख्या में लोगों ने वहां जमकर बवाल काटा और बाद में घर को आग के हवाले कर दिया। वहीं, पुलिस पर आरोप लगा कि इस मामले में शिकायत दर्ज नहीं की गई और आपस में मामले को सुलझाने के लिए कहा गया। इसके बाद आक्रोशित लोगों ने पुलिस स्टेशन ( Police Station ) पर भी बवाल काटा और थाने को आग के हवाले कर दिया। दर्जनभर गाड़ियों में तोड़फोड़ की गई और आग लगा दी गई। आक्रोशित लोगों ने कई जगहों पर तोड़फोड़ की। रिपोर्ट के अनुसार, इस हिंसा में 60 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। कुछ पुलिसकर्मियों को गंभीर चोटें आई हैं। वहीं, 100 से ज्यादा लोगों को इस हिंसा के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। पूरे बेंगलुरु में धारा 144 ( Section 144 ) लगा दिया गया है। वहीं, घटनास्थल पर कर्फ्यू ( Curfew ) लगाया गया है। इधर, विधायक ने लोगों ने शांति बनाए रखने की अपील की है। पूरे शहर में अलर्ट जारी किया गया है और मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ( B S Yediyurappa ) पूरे मामले पर नजर बनाए हए हैं।

Kaushlendra Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned