ममता की सुरक्षा में चूक को लेकर चुनाव आयोग की बड़ी कार्रवाई, सुरक्षा निदेशक समेत इन पर गिरी गाज

Highlights

  • डीएम विभू गोएल के साथ एसपी प्रवीण प्रकाश को भी पद से हटा दिया है।
  • चुनाव आयोग ने डीएम विभू गोयल की जगह स्मिता पाटिल को ये जिम्मेदारी दे।

नई दिल्ली। नंदीग्राम मामले को लेकर चुनाव आयोग ने बड़ी कार्रवाई कर सीएम ममता बनर्जी के सुरक्षा निदेशक को पद से हटा डाला है। चुनाव आयोग के अनुसार ममता की z+ सुरक्षा को लेकर सुरक्षा निदेशक विवेक सहाय प्राथमिक कर्तव्य के निर्वहन में विफल रहने पर एक सप्ताह के अंदर उनके खिलाफ आरोप तय होने चाहिए।

वहीं इसके अलावा चुनाव आयोग ने ईस्ट मिदनापुर के डीएम विभू गोएल के साथ एसपी प्रवीण प्रकाश को भी पद से हटा दिया है। इन पर आरोप है कि इन्होंने अपने कर्तव्य में लापरवाही बरती है।

ये भी पढ़ें: घायल होने के बाद पहली बार सियासी मैदान में उतरीं ममता बनर्जी, व्हीलचेयर से रोड शो में हुईं शामिल

चुनाव आयोग ने डीएम विभू गोयल की जगह स्मिता पाटिल को ये जिम्मेदारी दे डाली है। चुनाव आयोग ने पंजाब के पूर्व डीजीपी इंटेलिजेंस अनिल कुमार शर्मा को पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए विशेष पुलिस पर्यवेक्षक नियुक्त करा है।

वहीं विवेक दुबे के अतिरिक्त एके शर्मा दूसरे विशेष पुलिस पर्यवेक्षक होंगे। यही नहीं चुनाव आयोग ने मामले की जांच अगले 15 दिनों में पूरी करने के साथ 31 मार्च तक चुनाव आयोग को रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है।

गौरतलब है कि नंदीग्राम में अपने चुनाव अभियान के दौरान सीएम ममता बनर्जी के पैरों में चोट लगी थी। ममता ने आरोप लगाया कि उनके पैर को कुचलने की कोशिश हुई। हालांकि चुनाव आयोग ने अब साफ करा है कि यह कोई हमला नहीं था बल्कि एक दुर्घटना थी।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned