बिहार: JDU और RLSP के बीच बढ़ी तकरार, प्रदर्शन कर रहे कुशवाहा समर्थकों पर पुलिस ने बरसाई लाठियां

बिहार: JDU और RLSP के बीच बढ़ी तकरार, प्रदर्शन कर रहे कुशवाहा समर्थकों पर पुलिस ने बरसाई लाठियां

Anil Kumar | Publish: Nov, 10 2018 05:56:06 PM (IST) इंडिया की अन्‍य खबरें

आरएलएसपी कार्यक्रताओं और अखिल भारतीय कुशवाहा महासंघ ने पटना में राजभवन तक मार्च निकाला।

पटना। बिहार की राजनीति एक बार फिर से गरमा गई है और एनडीए के लिए यह शुभ संकेत नहीं है। दरअसल एनडीए में शामिल जदयू और आरएलएसपी के बीच विवाद बढ़ गया है। बीते दिन बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कथित तौर पर अप्रत्यक्ष रुप से आरएलएसपी प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा को 'नीच' कह दिया था। जिसको लेकर अब बलाव बढ़ता जा रहा है। शनिवार को इसके विरोध में आरएलएसपी कार्यक्रताओं और अखिल भारतीय कुशवाहा महासंघ ने पटना में राजभवन तक मार्च निकाला। प्रदर्शनकारी जब गांधी मैदान होते हुए जेपी गोलंबर से डाक बंगला चौराहा पहुंचे और वहां यातायात जाम किया तो पुलिस ने उनपर जमकर लाठियां भांजी। पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच इस झड़प में एक दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए।

भाजपा के नीतीश प्रेम से नाराज उपेंद्र कुशवाहा ने कार्यकर्ताओं से कहा- अधिकारियों की पकड़ लो गर्दन

आरएलएसपी ने नीतीश कुमार से स्पष्टीकरण की मांग की

आपको बता दें कि एक निजी टीवी चैनल के कार्यक्रम में बोलते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उपेंद्र कुशवाहा के बारे में अप्रत्यक्ष तौर पर कहा था कि बातचीत के स्तर को नीचे नहीं ले जाना चाहिए। इसके बाद से उपेंद्र कुशवाहा ने आरोप लगाया कि नीतीश कुमार ने उसे नीच कहा है। उन्होंने आगे कहा कि मैं नीतीश कुमार को अपना बड़ा भाई मानता हूं, लेकिन उन्होंने मुझे नीच क्यों कहा? उपेंद्र कुशवाहा ने कहा हम दोनों एक ही समाज 'लवकुश' से आते हैं, इसलिए अब जबतक वे सार्वजनिक तौर पर अपने बात का स्पष्टीकरण नहीं देंगे तबतक हमारा प्रदर्शन जारी रहेगा।

बिहार: CM नीतीश कुमार ने खोला राज, महिलाएं उन्हें क्यों कहती हैं 'क्विंटलवा बाबा'

पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प

आपको बता दें कि शनिवार को अखिल भारतीय कुशवाहा महासंघ ने पटना में इसे लेकर प्रदर्शन किया। इस दौरान नीतीश कुमार के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे भी लगाए गए। प्रदर्शनकारियों को तितर-वितर करने के लिए पुलिस ने जमकर लाठियां भांजी। इसमें एक दर्जन से भी अधिक लोग घायल हो गए। घायलों में कई महलाएं भी शामिल हैं। महिला प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर दुर्व्यवाहर करने का भी आरोप लगाया। इस बीच उपेंद्र कुशवाहा ने कहा है कि यदि नीतीश कुमार अपनी बात का स्पष्टीकरण दे देते, सार्वजनिक तौर पर यह समझा देते कि उसके कहने का क्या अर्थ था तो शायद लोगों का गुस्सा शांत हो जाता। बता दें कि इससे पहले गुजरात चुनाव के दौरान कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने पीएम मोदी को नीच कहा था, जिसके बाद चुनाव को मूड ही बदल गया था।

Ad Block is Banned