कोरोना से बिगड़े हालात, पटना के शवदाहगृह में अधिकतर शव कोरोना संक्रमितों के आए

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने कहा कि अगले दो से तीन दिन में पटना के IGIMS हॉस्पिटल में 50 नए बेड्स तथा कैंसर इंस्टीट्यूट में लगभग 100 नए बेड्स की व्यवस्था की जाएगी।

 

नई दिल्ली। कोरोना की दूसरी लहर के चलते पूरे देश में हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। कोविड 19 संक्रमण से हुई मौतों का आंकड़ा नित नई ऊंचाई छू रहा है। एक तरफ जहां लगातार शवों को जलाने के कारण सूरत में विद्युत भट्टी ही जल गई वहीं दूसरी ओर पटना में भी शवदाहगृह तथा कब्रिस्तानों में शवों का अंतिम संस्कार करने के लिए कर्मचारियों को लगातार चौबीस घंटे काम करना पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें : निजामुद्दीन मरकज मस्जिद में नमाज को लेकर दिल्ली हाईकोर्ट का बड़ा फैसला

एएनआई की सूचना के अनुसार पटना नगर निगम दाहगृह के प्रमुख राजकुमार ने बताया कि गुरुवार को यहां लगभग 10 से 12 शव लाए गए थे जिनमें से छह से सात शव कोरोना संक्रमितों के थे हालांकि यह संख्या दूसरे दिनों के मुकाबले कम है।

यह भी पढ़ें : उद्धव ठाकरे ने पीएम मोदी को पत्र लिख कर कोविड-19 से निपटने के लिए सहायता मांगी

कोरोना के लगातार बढ़ते केसेज के चलते बिहार सरकार ने भी एनएमसीएच हॉस्पिटल पटना तथा गया के अनुग्रह नारायण हॉस्पिटल को फुल-टाइम कोविड़-19 फेसिलिटी के रुप में बदलने की घोषणा की है। बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने कहा कि अगले दो से तीन दिन में पटना के IGIMS हॉस्पिटल में 50 नए बेड्स तथा कैंसर इंस्टीट्यूट में लगभग 100 नए बेड्स की व्यवस्था की जाएगी।

Corona virus
सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned