दावा 100 फीसदी, हकीकत 50 फीसदी से भी कम घरों में शौचालय

Highlights.
- झूठे आंकड़े- केंद्र सरकार के सौ फीसदी ओडीएफ दावे को नेशनल फैमली हेल्थ सर्वे ने झुठलाया
- गुजरात के ग्रामीण इलाकों में 37 फीसदी दूर, जबकि 100 फीसदी शौचालय का दावा
- 2018 की नेशनल सेंपल सर्वे की रिपोर्ट ने भी झुठलाया था स्वच्छ भारत मिशन का दावा

नई दिल्ली.

हकीकत की जमीन पर सरकारी दावों की पोल खुल गई। स्वच्छता को लेकर मोदी सरकार के दावे की कुछ इस तरह पोल खुली है। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार बिहार में शत-प्रतिशत खुले शौचालय से मुक्ति का दावा किया गया है। जबकि हाल ही जारी नेशनल फैमिली हैल्थ सर्वे रिपोर्ट में आधे से अधिक घरों में शौचालय नहीं मिला। गुजरात के ग्रामीण क्षेत्रों में 37 फीसदी घरों में शौचालय नहीं है। इससे पहले 2018 में नेशनल सैंपल सर्वे की रिपोर्ट में भी हकीकत से कई गुना अधिक आंकड़ों की कहानी सामने आ चुकी है।

स्वच्छ भारत मिशन के दावे
स्वच्छ भारत मिशन के प्रशासनिक आंकड़ों में करीब 100 फीसदी शौचालय का दावा किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत मिशन का उद्देश्य खुले में शौच को खत्म करना है।

- 2014 में मोदी की पहली बड़ी योजना स्वच्छ भारत मिशन
- 99 फीसदी गांवों में शौचालय की सुविधा का 2020 में दावा
- 100 प्रतिशत शहरी क्षेत्रों में शौचालय बनाने का लक्ष्य पूरा
- 53 फीसदी घरों में शौचालय नहीं थे 2011 की जनगणना में

नेशनल सैंपल सर्वे में खुली पोल
- 30 फीसदी ग्रामीण घरों में शौचालय नहीं, नेशनल सैंपल सर्वे की 2018 रिपोर्ट के अनुसार
- 30 फीसदी के करीब घरों में शौचालय नहीं होने की बात नेशनल फैमिली हैल्थ सर्वे की रिपोर्ट में
- 50 फीसदी से अधिक लोग बिहार में खुले शौच में जाते हैं, नेशनल फैमिली हैल्थ सर्वे की रिपोर्ट के अनुसार

नेशनल फैमिली हैल्थ सर्वे-5 (एनएफएचएस) व इससे पहले जुलाई-दिसंबर 2018 में नेशनल सैंपल सर्वे (एनएसएस) व 31 दिसंबर 2020 तक स्वच्छ भारत मिशन (एसबीएम) का घरों में शौचालय के आंकड़े की हकीकत बयां कर रहे हैं।

राज्य एनएफएचएस एनएसएस एसबीएम
लद्दाख 35 00 100
बिहार 46 56 100
पश्चिम बंगाल 65 56 100
आंध्र प्रदेश 72 66 100
कर्नाटक 69 69 100
तेलंगना 73 70 100
गुजरात 63 71 100
गोवा 86 72 100
महाराष्ट्र 69 73 100
जम्मू-कश्मीर 72 77 100
त्रिपुरा 72 84 100
हिमाचल प्रदेश 81 89 100
नगालैंड 90 89 100
अंडमान एंड निकोबार 88 89 100
मणिपुर 68 91 100
असम 68 95 100
मेघालय 83 96 100
सिक्किम 89 97 100
केरल 99 97 100
मिजोरम 93 100 100
लक्षद्वीप 100 100 100
नोट : आंकड़े प्रतिशत घरों में शौचालय

Ashutosh Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned