सीएम अरविंद केजरीवाल आज लेंगे कोरोना वैक्सीन की पहली डोज, जानिए कहां लगेगा टीका और किस कंपनी की है वैक्सीन

Highlights.

- केजरीवाल सुबह करीब साढ़े नौ बजे एलएनजेपी में कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लेंगे
- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गत एक मार्च को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगवाई थी
- प्रधानमंत्री मोदी ने भारत बायोटेक की कोवैक्सीन का डोज लिया था

 

नई दिल्ली।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आज यानी गुरुवार को कोरोना का टीका लगवाएंगे। केजरीवाल सुबह करीब साढ़े नौ बजे दिल्ली के लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल में कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लेंगे। बता दें कि इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गत एक मार्च को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगवाई थी। उन्होंने ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज यानी एम्स में कोरोना का टीका लगवाया था। प्रधानमंत्री ने भारत बायोटेक की कोवैक्सीन का डोज लिया था।

सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड वैक्सीन लगवा सकते हैं
वहीं, माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड वैक्सीन लगवा सकते हैं। यह संभावना इसलिए जताई जा रही, क्योंकि दिल्ली सरकार के सभी अस्पतालों में टीकाकरण अभियान के पहले चरण से ही कोविशील्ड वैक्सीन लगाई जा रही है। दूसरी ओर, दिल्ली में केंद्र सरकार के अंतर्गत आने वाले एम्स और सफदरजंग समेत 6 टीकाकरण केंद्रों पर कोवैक्सीन लगाई जा रही है।

मुफ्त कोरोना वैक्सीन लगाए जाने की मांग
गौरतलब है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल देशभर के लोगों के मुफ्त कोरोना वैक्सीन लगाए जाने की मांग कर चुके हैं। वहीं, आप की सरकार बनने पर मुफ्त वैक्सीन का वादा भी कर चुके हैं। बहरहाल, केंद्र सरकार वैक्सीन के दाम तय कर चुकी है। निजी अस्पतालों में 250 रुपए में कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगाई जाएगी।

लाखों लोगों की इस बीमारी से मौत हो गई

पिछले साल कोरोना महामारी ने भारत ही नहीं बल्कि, पूरी दुनिया में अपना कहर ढा रखा था। लाखों लोगों की इस बीमारी से मौत हो गई। इसके बाद नवंबर से कुछ देशों ने वैक्सीनेशन प्रोग्राम शुरू कर दिया। हालांकि, डब्ल्यूएचओ (WHO) से वैक्सीन को मंजूरी मिलने के बाद भारत में भी गत 16 जनवरी से वैक्सीन प्रोग्राम शुरू हो चुका है। वहीं, अब दूसरा चरण बीते सोमवार यानी 1 मार्च से शुरू हो चुका है। बता दें कि पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मचारियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन दी गई। अब दूसरे चरण में 60 साल से अधिक उम्र के बुजुर्गों को वैक्सीन दी जा रही है। इसके अलावा, 45 साल से अधिक उम्र के वे लोग, जिन्हें कोई गंभीर बीमारी है, उन्हें भी कोरोना का टीका लगाया जा रहा है। हालांकि, इसके लिए उन्हें बीमारी का प्रमाण पत्र ले जाना होगा।

वैक्सीन के लिए दिशा-निर्देश जारी
केंद्र सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने आम लोगों के लिए कोविड वैक्सीन लगाए जाने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। इसके तहत 60 वर्ष की आयु से अधिक के लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी। वहीं हृदय, कैंसर, अस्थमा, डायबिटीज, किडनी जैसे रोगों से पीडि़त 45 से 59 आयु वर्ग के लोगों को भी तय दिशा-निर्देशों के साथ वैक्सीन लगवाने की सुविधा दी गई है। इसके लिए इन्हें चिकित्सकीय दस्तावेज पेश करने होंगे।

नाम-पता सहित पूरी जानकारी देनी होगी
रजिस्ट्रेशन के बाद पेज पर दिखाए गए शेड्यूल अपॉइंटमेंट पर क्लिक करना होगा। फिर बुक अपॉइंटमेंट फॉर वैक्सिनेशन दिखेगा। इसमें नाम-पता जैसी जानकारी भरने के बाद पेज पर वैक्सीन लगाए जाने वाले केंद्रों की जानकारी मिलेगी। केंद्र का चुनाव करने के बाद वै सीन लगने की तारीख और स्लॉट प्रदर्शित होगा। भरी गई तारीख पर यदि नंबर (स्लॉट) नहीं मिलता है तो आगामी तारीखों का विकल्प मिलेगा। तारीख बुक करने के बाद अपॉइंटमेंट कन्फर्मेशन पेज पर कन्फर्म को क्लिक करना है। क्लिक करने के बाद अपॉइंटमेंट सक्सेसफुल दिखेगा।

पहचान पत्र ले जाना जरूरी
दोनों आयु वर्ग के लोग cowin.gov.in पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। लॉग इन करने के बाद अपना मोबाइल नंबर डालना होगा। इस पर ओटीपी (OTP) मिलेगा। उसे वेबसाइट पर डालने के बाद पेज खुलेगा। इस पेज पर पहचान पत्र (वोटर आइडी, आधार कार्ड, राशन कार्ड) का नंबर और पूर्व में किसी तरह की बीमारी की जानकारी भरनी होगी। जिस पहचान पत्र की जानकारी भरी गई है, वही टीका लगवाने के दौरान सेंटर पर ले जाना होगा। इस प्रक्रिया के बाद रजिस्ट्रेशन पूरा हो जाएगा। उसके बाद एक मैसेज मिलेगा कि अगर चाहें तो तीन और लोगों (45-59 और 60 के ऊपर) को टीका लगवाने का रजिस्ट्रेशन भी कराया जा सकता है। इनके बारे में भी ऊपर दी गई जानकारी भरनी होगी।

टीकाकरण केंद्र पर भी रजिस्ट्रेशन
निर्धारित आयु वर्ग के लोग किसी भी नजदीकी टीकाकरण केंद्र पर अपना रजिस्ट्रेशन करा कर टीका लगवाने की तारीख प्राप्त कर सकते हैं। उन्हें अपने साथ बताए गए फोटो पहचान पत्रों में से कोई एक साथ ले जाना होगा।

दूसरी डोज 29 से 42 दिनों में
पंजीकृत लोगों को टीके की पहली डोज लगने के बाद उसी केंद्र से दूसरी डोज लगाने की तारीख मिलेगी। पहली डोज लगवाने के बाद यदि कोई दूसरी डोज किसी दूसरे सेंटर, शहर या राज्य में लगवाना चाहता है तो किसी भी नजदीकी सेंटर पर इसकी जानकारी देकर नया सेंटर अलॉट कराया जा सकता है।

Ashutosh Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned